बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Saturday, December 9, 2017

अनुग्रह


   एक पुलिस अफ़सर ने चालान काटने के लिए एक महिला की कार को रोका क्योंकि उस महिला ने अपनी छोटी बेटी को कार में बैठाने की बच्चों के लिए उचित सीट नहीं लगा रखी थी। लेकिन चालान काटने के स्थान पर उस पुलिस अफ़सर ने उस महिला से निकट के एक स्टोर पर आने के लिए कहा, जहाँ पर उस अफ़सर ने उस महिला की बेटी के लिए वह सीट उसे खरीद कर दी। वह माँ कुछ कठिन समयों से निकल रही थी, और सीट खरीदने के लायक पैसे नहीं जुटा पा रही थी। आज्ञा उल्लंघन के लिए वह महिला दण्ड की भागी थी, परन्तु उस पुलिस अफ़सर के अनुग्रह से उसे एक उपहार मिल गया। 

   जिसने भी प्रभु यीशु मसीह के साथ अपना व्यक्तिगत संबंध बना लिया है, उसने ऐसा ही कुछ अनुभव किया है। हम में से प्रत्येक, परमेश्वर की अनाज्ञाकारिता करने के कारण, उससे दण्ड का भागी है (सभोपदेशक 7:20)। परन्तु फिर भी, प्रभु यीशु के कारण, हमें परमेश्वर से अनुग्रह, पापों की क्षमा और अनन्त जीवन का वरदान मिलता है: "हम को उस में उसके लोहू के द्वारा छुटकारा, अर्थात अपराधों की क्षमा, उसके उस अनुग्रह के धन के अनुसार मिला है" (इफिसियों 1:7)। प्रभु परमेश्वर के इस अनुग्रह के कारण हम अपने पापों के अन्तिम परिणाम, अर्थात मृत्यु तथा परमेश्वर से अनन्त काल के लिए दूरी, के स्थान पर क्षमा और स्वर्ग में उसके साथ अनन्तकाल तक रहने का जीवन दान पाते हैं (रोमियों 6:23)।

   कुछ अनुग्रह को "व्यवहार में प्रेम" कहते हैं। पुलिस अफ़सर द्वारा दिखाया गया यह अनुग्रह जब उस माँ ने अनुभव किया, तो बाद में इसके बारे में उसने कहा, "मैं सदा उनकी कृतज्ञ रहूँगी! और जैसे ही मैं ऐसा कर पाऊँगी, मैं किसी अन्य के लिए भी ऐसा ही व्यवहार करूँगी।" उस पुलिस अफ़सर द्वारा दिखाए गए अनुग्रह के प्रति उसका यह कृतज्ञता से भरा उदार प्रत्युत्तर हमें प्रोत्साहित करता है कि हम प्रभु यीशु के अनुग्रह के प्रति भी कुछ ऐसा ही महान और कृतज्ञतापूर्ण प्रत्युत्तर दें; उसे अपने जीवनों में सर्वोपरि स्थान प्रदान करें, अपने जीवन उसे समर्पित कर दें। - जेनिफर बेन्सन शुल्ट


अनुग्रह परमेश्वर का उपहार है।

क्योंकि पाप की मजदूरी तो मृत्यु है, परन्तु परमेश्वर का वरदान हमारे प्रभु मसीह यीशु में अनन्त जीवन है। - रोमियों 6:23

बाइबल पाठ: इफिसियों 1:1-10
Ephesians 1:1 पौलुस की ओर से जो परमेश्वर की इच्छा से यीशु मसीह का प्रेरित है, उन पवित्र और मसीह यीशु में विश्वासी लोगों के नाम जो इफिसुस में हैं।
Ephesians 1:2 हमारे पिता परमेश्वर और प्रभु यीशु मसीह की ओर से तुम्हें अनुग्रह और शान्‍ति मिलती रहे।
Ephesians 1:3 हमारे प्रभु यीशु मसीह के परमेश्वर और पिता का धन्यवाद हो, कि उसने हमें मसीह में स्‍वर्गीय स्थानों में सब प्रकार की आशीष दी है। 
Ephesians 1:4 जैसा उसने हमें जगत की उत्‍पति से पहिले उस में चुन लिया, कि हम उसके निकट प्रेम में पवित्र और निर्दोष हों। 
Ephesians 1:5 और अपनी इच्छा की सुमति के अनुसार हमें अपने लिये पहिले से ठहराया, कि यीशु मसीह के द्वारा हम उसके लेपालक पुत्र हों, 
Ephesians 1:6 कि उसके उस अनुग्रह की महिमा की स्‍तुति हो, जिसे उसने हमें उस प्यारे में सेंत मेंत दिया। 
Ephesians 1:7 हम को उस में उसके लोहू के द्वारा छुटकारा, अर्थात अपराधों की क्षमा, उसके उस अनुग्रह के धन के अनुसार मिला है। 
Ephesians 1:8 जिसे उसने सारे ज्ञान और समझ सहित हम पर बहुतायत से किया। 
Ephesians 1:9 कि उसने अपनी इच्छा का भेद उस सुमति के अनुसार हमें बताया जिसे उसने अपने आप में ठान लिया था। 
Ephesians 1:10 कि समयों के पूरे होने का ऐसा प्रबन्‍ध हो कि जो कुछ स्वर्ग में है, और जो कुछ पृथ्वी पर है, सब कुछ वह मसीह में एकत्र करे।

एक साल में बाइबल: 
  • दानिय्येल 11-12
  • यहूदा