बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Saturday, November 15, 2014

वर्णन


   बच्चों की प्रार्थनाएं हमें दिखाती हैं कि वे परमेश्वर के बारे में क्या विचार रखते हैं। हाल ही में मैंने दो प्रार्थनाएं पढ़ीं:
   - "प्रीय परमेश्वर, इसका क्या अर्थ हुआ कि आप ’जलन रखने वाले’ परमेश्वर हैं? मैंने तो सोचा था कि आप ही के पास तो सब कुछ है।"

   - "मैंने यह कभी नहीं सोचा था कि नारंगी रंग बैंगनी रंग के साथ मेल खाएगा, जब तक कि आपके द्वारा मंगलवार शाम को बनाया गया सूर्यास्त का दृश्य मैंने नहीं देख लिया - वह बहुत अच्छा था।"

   पहले बच्चे की समझ है कि क्योंकि परमेश्वर हर चीज़ का सृष्टिकर्ता और स्वामी है इसलिए उसे किसी बात की कोई घटी नहीं हो सकती; और दूसरे की सोच है कि परमेश्वर हमें बहुत सुन्दर दृश्य बना और दिखा सकता है। ये दोनों बच्चे अपनी अपनी सोच में सही हैं, लेकिन परमेश्वर अपने बारे में हमें क्या वर्णन देता है?

   जब परमेश्वर ने उसे इस्त्राएल को मिस्त्र के दासत्व से निकाल कर वाचा किए हुए देश कनान में ले जाने के लिए चुना तब मूसा के सामने भी यही प्रश्न था और उसे इस बात का उत्तर चाहिए था। वह अपने साथ परमेश्वर की उपस्थिति और अगुवाई के लिए सुनिश्चित हो जाना चाहता था, इसलिए मूसा ने परमेश्वर से विनती करी कि अपने आप को प्रगट करे (निर्गमन 33:13, 18)। प्रत्युत्तर में परमेश्वर बादल में होकर उतर आया और अपने आप को मूसा पर यह कहते हुए प्रगट किया: "तब यहोवा ने बादल में उतर के उसके संग वहां खड़ा हो कर यहोवा नाम का प्रचार किया। और यहोवा उसके साम्हने हो कर यों प्रचार करता हुआ चला, कि यहोवा, यहोवा, ईश्वर दयालु और अनुग्रहकारी, कोप करने में धीरजवन्त, और अति करूणामय और सत्य, हजारों पीढिय़ों तक निरन्तर करूणा करने वाला, अधर्म और अपराध और पाप का क्षमा करने वाला है, परन्तु दोषी को वह किसी प्रकार निर्दोष न ठहराएगा, वह पितरों के अधर्म का दण्ड उनके बेटों वरन पोतों और परपोतों को भी देने वाला है" (निर्गमन 34:5-7)।

   इस महान और अद्वितीय परमेश्वर के बारे में आज हम भी जान सकते हैं और हमारे साथ उसके संबंध के विषय में आश्वस्त हो सकते हैं, क्योंकि उसने अपने आप को अपने पुत्र, प्रभु यीशु मसीह के रूप में प्रकट किया है, अपने वचन बाइबल में अपना वर्णन दिया है। जैसे जैसे हम प्रभु यीशु और परमेश्वर के वचन बाइबल की निकटता में बढ़ते जाएंगे, हम परमेश्वर को, हमारे प्रति उसके प्रेम को, सदा हमारी भलाई करते रहने की उसकी लालसा को और अधिक सफाई से समझते जाएंगे। - ऐनी सेटास


परमेश्वर पिता के समान और तुल्य और कोई नहीं है।

क्योंकि उस[मसीह यीशु] में ईश्वरत्‍व की सारी परिपूर्णता सदेह वास करती है। - कुलुस्सियों 2:9

बाइबल पाठ: निर्गमन 34:1-8, इब्रानियों 1:1-3
Exodus 34:1 फिर यहोवा ने मूसा से कहा, पहिली तख्तियों के समान पत्थर की दो और तख्तियां गढ़ ले; तब जो वचन उन पहिली तख्तियों पर लिखे थे, जिन्हें तू ने तोड़ डाला, वे ही वचन मैं उन तख्तियों पर भी लिखूंगा। 
Exodus 34:2 और बिहान को तैयार रहना, और भोर को सीनै पर्वत पर चढ़कर उसकी चोटी पर मेरे साम्हने खड़ा होना। 
Exodus 34:3 और तेरे संग कोई न चढ़ पाए, वरन पर्वत भर पर कोई मनुष्य कहीं दिखाई न दे; और न भेड़-बकरी और गाय-बैल भी पर्वत के आगे चरते पाएं। 
Exodus 34:4 तब मूसा ने पहिली तख्तियों के समान दो और तख्तियां गढ़ी; और बिहान को सवेरे उठ कर अपने हाथ में पत्थर की वे दोनों तख्तियां ले कर यहोवा की आज्ञा के अनुसार पर्वत पर चढ़ गया। 
Exodus 34:5 तब यहोवा ने बादल में उतर के उसके संग वहां खड़ा हो कर यहोवा नाम का प्रचार किया। 
Exodus 34:6 और यहोवा उसके साम्हने हो कर यों प्रचार करता हुआ चला, कि यहोवा, यहोवा, ईश्वर दयालु और अनुग्रहकारी, कोप करने में धीरजवन्त, और अति करूणामय और सत्य, 
Exodus 34:7 हजारों पीढिय़ों तक निरन्तर करूणा करने वाला, अधर्म और अपराध और पाप का क्षमा करने वाला है, परन्तु दोषी को वह किसी प्रकार निर्दोष न ठहराएगा, वह पितरों के अधर्म का दण्ड उनके बेटों वरन पोतों और परपोतों को भी देने वाला है। 
Exodus 34:8 तब मूसा ने फुर्ती कर पृथ्वी की ओर झुककर दण्डवत की।

Hebrews 1:1 पूर्व युग में परमेश्वर ने बाप दादों से थोड़ा थोड़ा कर के और भांति भांति से भविष्यद्वक्ताओं के द्वारा बातें कर के। 
Hebrews 1:2 इन दिनों के अन्‍त में हम से पुत्र के द्वारा बातें की, जिसे उसने सारी वस्‍तुओं का वारिस ठहराया और उसी के द्वारा उसने सारी सृष्‍टि रची है। 
Hebrews 1:3 वह उस की महिमा का प्रकाश, और उसके तत्‍व की छाप है, और सब वस्‍तुओं को अपनी सामर्थ के वचन से संभालता है: वह पापों को धोकर ऊंचे स्थानों पर महामहिमन के दाहिने जा बैठा।

एक साल में बाइबल: 
  • प्रेरितों 19-21