बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Saturday, August 1, 2015

विचार


   बहुत साल पहले की बात है मैं अपने पिताजी के साथ टैक्सास प्रांत के एक बीहड़ इलाके में पैदल यात्रा के लिए गया। आज तो वह इलाका एक राष्ट्रीय उद्द्यान है परन्तु उन दिनों वह एक कठिन इलाका था। एक संध्या जब हम अपने सोने का इंतिज़ाम कर रहे थे तो एक अन्य दंपति भी, जो अपना पालतु कुत्ता साथ लाए थे, हमारे पास आया और उन्होंने हमसे पूछा कि क्या वे भी हमारे निकट ही अपने तंबु लगा लें? हमने उनका वहाँ स्वागत किया; उन्होंने अपना तंबू लगाया, एक खूँटा गाड़ा और कुत्ते को उससे बांध दिया, फिर हम और वे, दोनों ही सोने के लिए लेट गए। कुछ घंटों के बाद मेरे पिता ने मुझे जगाया और अपनी टॉर्च की रौशनी अन्धेरे की ओर चमकाई। उस रौशनी में हमें कुछ चमकती पीली आँखें दिखाई दीं - कुछ छोटे भेड़िये उस कुत्ते को अपना शिकार बनाने के लिए उसे घेर रहे थे। हम सब ने मिलकर उन्हें भगा तो दिया, और उस दंपत्ति ने कुत्ते को अपने तंबू के अन्दर भी ले लिया, लेकिन शेष रात हम ठीक से सो नहीं पाए।

   जब भी मैं परमेश्वर के वचन बाइबल में भजन 59 और उसमें दाऊद द्वारा दो बार कही गई बात "वे लोग सांझ को लौटकर कुत्ते की नाईं गुर्राते हैं, और नगर के चारों ओर घूमते हैं" (पद 6, 14) पढ़ता हूँ तो मुझे वह रात स्मरण हो आती है। इस भजन को लिखते समय दाऊद उस समय राजा शाऊल की सेना के बारे में सोच रहा था जो उसे घेर रही थी; लेकिन आज मेरा ध्यान उन विचारों की ओर जाता है जो रात के पहरों में मुझे घेर कर मुझे बेचैन और हताश करना चाहते हैं: "तू मूर्ख है"; "तू जीवन में असफल है"; "तू निकम्मा है"; "तू तो नाकारा है, तेरी आवश्यकता किसे होगी?" इत्यादि - ऐसे ही निराशावादी विचारों द्वारा शैतान मुझे परमेश्वर और मेरे प्रति उसके अनन्त प्रेम से भटकाना चाहता है।

   जब भी हम ऐसे निराशात्मक विचारों से ग्रसित हों, कोई हीन भावना हमारे अन्दर जन्म लेने लगें, हम मसीही विश्वासी इस बात को स्मरण कर के अपनी सुरक्षा के विषय आश्वस्त हो सकते हैं कि हम प्रभु यीशु में लाए गए विश्वास द्वारा अनन्त काल के लिए परमेश्वर की सन्तान हैं, उसके परिवार के सदस्य हैं जहाँ से कोई हमें कभी भी हटा नहीं सकता। दाऊद के समान ही हम भी परमेश्वर के कभी ना बदलने, कभी ना टलने वाले प्रेम में आश्वस्त और आनन्दित रह सकते हैं। दाऊद के समान अपने भरोसे को बनाए रखने के द्वारा (पद 16) हम भय, सन्देह और तिरिस्कार की भावनाओं पर जयवन्त हो सकते हैं। - डेविड रोपर


परमेश्वर के प्रेम पर विश्वास सभी सन्देहों को भगा देता है।

मेरा चट्टानरूपी परमेश्वर है, जिसका मैं शरणागत हूँ, मेरी ढाल, मेरा बचाने वाला सींग, मेरा ऊंचा गढ़, और मेरा शरण स्थान है, हे मेरे उद्धार कर्त्ता, तू उपद्रव से मेरा उद्धार किया करता है। - 2 शमूएल 22:3 

बाइबल पाठ: भजन 59
Psalms 59:1 हे मेरे परमेश्वर, मुझ को शत्रुओं से बचा, मुझे ऊंचे स्थान पर रखकर मेरे विरोधियों से बचा, 
Psalms 59:2 मुझ को बुराई करने वालों के हाथ से बचा, और हत्यारों से मेरा उद्धार कर।
Psalms 59:3 क्योंकि देख, वे मेरी घात में लगे हैं; हे यहोवा, मेरा कोई दोष वा पाप नहीं है, तौभी बलवन्त लोग मेरे विरुद्ध इकट्ठे होते हैं। 
Psalms 59:4 वह मुझ निर्दोष पर दौड़ें, दौड़कर लड़ने को तैयार हो जाते हैं। मुझ से मिलने के लिये जाग उठ, और यह देख! 
Psalms 59:5 हे सेनाओं के परमेश्वर यहोवा, हे इस्राएल के परमेश्वर सब अन्यजाति वालों को दण्ड देने के लिये जाग; किसी विश्वासघाती अत्याचारी पर अनुग्रह न कर।
Psalms 59:6 वे लोग सांझ को लौटकर कुत्ते की नाईं गुर्राते हैं, और नगर के चारों ओर घूमते हैं। देख वे डकारते हैं, 
Psalms 59:7 उनके मुंह के भीतर तलवारें हैं, क्योंकि वे कहते हैं, कौन सुनता है? 
Psalms 59:8 परन्तु हे यहोवा, तू उन पर हंसेगा; तू सब अन्य जातियों को ठट्ठों में उड़ाएगा। 
Psalms 59:9 हे मेरे बल, मुझे तेरी ही आस होगी; क्योंकि परमेश्वर मेरा ऊंचा गढ़ है।
Psalms 59:10 परमेश्वर करूणा करता हुआ मुझ से मिलेगा; परमेश्वर मेरे द्रोहियों के विषय मेरी इच्छा पूरी कर देगा।
Psalms 59:11 उन्हें घात न कर, न हो कि मेरी प्रजा भूल जाए; हे प्रभु, हे हमारी ढाल! अपनी शक्ति से उन्हें तितर बितर कर, उन्हें दबा दे। 
Psalms 59:12 वह अपने मुंह के पाप, और ओठों के वचन, और शाप देने, और झूठ बोलने के कारण, अभिमान में फंसे हुए पकड़े जाएं। 
Psalms 59:13 जलजलाहट में आकर उनका अन्त कर, उनका अन्त कर दे ताकि वे नष्ट हो जाएं तब लोग जानेंगे कि परमेश्वर याकूब पर, वरन पृथ्वी की छोर तक प्रभुता करता है।
Psalms 59:14 वे सांझ को लौटकर कुत्ते की नाईं गुर्राएं, और नगर के चारों ओर घूमें। 
Psalms 59:15 वे टुकड़े के लिये मारे मारे फिरें, और तृप्त न होने पर रात भर वहीं ठहरे रहें।
Psalms 59:16 परन्तु मैं तेरी सामर्थ्य का यश गाऊंगा, और भोर को तेरी करूणा का जयजयकार करूंगा। क्योंकि तू मेरा ऊंचा गढ़ है, और संकट के समय मेरा शरणस्थान ठहरा है। 
Psalms 59:17 हे मेरे बल, मैं तेरा भजन गाऊंगा, क्योंकि हे परमेश्वर, तू मेरा ऊंचा गढ़ और मेरा करूणामय परमेश्वर है।

एक साल में बाइबल: 
  • भजन 57-59
  • रोमियों 4