बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Thursday, February 18, 2016

सहायक


   कुछ लोगों के लिए ’सहायक’ कहा जाना एक निम्न दर्जे को दिखाता है और उन्हें यह शब्द पसन्द नहीं आता। प्रशिक्षित अध्यापकों की सहायता के लिए कक्षा में सहायक होते हैं; इसी प्रकार प्रशिक्षित विद्युत कर्मियों, नलसाज़ों, वकीलों आदि की सहायाता के लिए भी उनके सहायक होते हैं। चाहे वे सहायक उन प्रशिक्षित लोगों के समान प्रशिक्षण पाए हुए नहीं होते, किंतु उन सहायकों की सहायता के बिना उन प्रशिक्षित लोगों को कार्य सुचारू रीति से करना पाना बहुत कठिन हो जाता है; उन सहायकों की आवश्यकता भी प्रशिक्षित कार्यकर्ताओं के जितनी ही होती है।

   प्रेरित पौलुस के साथ उसकी मसीही सेवकाई में अनेक सहायक होते थे। पौलुस ने रोम के मसीही विश्वासियों को लिखी अपनी पत्री के अन्त में अपने सहायकों का उल्लेख और धन्यवाद किया, उनके कार्यों और सहायता को सराहा और स्मरण किया (रोमियों 16)। पौलुस ने फीबे के लिए लिखा "...वह भी बहुतों की वरन मेरी भी उपकारिणी हुई है" (रोमियों 16:2); और प्रिसका तथा अक्विला के लिए लिखा, "उन्होंने मेरे प्राण के लिये अपना ही सिर दे रखा था और केवल मैं ही नहीं, वरन अन्यजातियों की सारी कलीसियाएं भी उन का धन्यवाद करती हैं" (रोमियों 16:4); मरियम के लिए लिखा, "...जिसने तुम्हारे लिये बहुत परिश्रम किया" (रोमियों 16:6)।

   परमेश्वर का वचन बाइबल बताती है कि सहायता करना एक आत्मिक वरदान है; पौलुस ने इसे पवित्र आत्मा के वरदानों की सूची में, जो मसीही मण्डली और मसीही विश्वासियों के उत्थान के लिए दिए गए हैं, ’उपकार’ कहकर सम्मिलित किया है "और परमेश्वर ने कलीसिया में अलग अलग व्यक्ति नियुक्त किए हैं; प्रथम प्रेरित, दूसरे भविष्यद्वक्ता, तीसरे शिक्षक, फिर सामर्थ के काम करने वाले, फिर चंगा करने वाले, और उपकार करने वाले, और प्रधान, और नाना प्रकार की भाषा बोलने वाले" (1 कुरिन्थियों 12:28)। जैसे अन्य वरदान मसीही मण्डली और विश्वासियों की बढ़ोतरी के लिए अनिवार्य हैं, सहायता या उपकार करना भी उतना ही आवश्यक है।

   बाइबल ने परमेश्वर पवित्र आत्मा को भी ’सहायक कहा है। प्रभु यीशु ने अपने चेलों को समझाया कि उनके जाने के बाद परमेश्वर के ओर से उन्हें एक सहायक अर्थात पवित्र आत्मा मिलेगा जो उनका मार्गदर्शन करेगा, उन्हें सब बातें सिखाएगा (यूहन्ना 14:26)।

   यदि सहायता करना परमेश्वर के वरदानों में से एक, और सहायक होना परमेश्वर पवित्र-आत्मा की एक संज्ञा है तो फिर इसे निम्न दर्जे का समझना तो भूल ही होगा। जिस किसी सहायाता के योग्य परमेश्वर ने आपको बनाया है, जिस भी सहायता का वरदान उसने आपको दिया है, उसे बेझिझक होकर भरपूरी के साथ परमेश्वर की महिमा के लिए प्रयोग करें। - ऐनी सेटास


आप संपूर्ण का एक महत्वपूर्ण भाग हैं; आपके बिना संपूर्ण अधूरा है।

परन्तु सहायक अर्थात पवित्र आत्मा जिसे पिता मेरे नाम से भेजेगा, वह तुम्हें सब बातें सिखाएगा, और जो कुछ मैं ने तुम से कहा है, वह सब तुम्हें स्मरण कराएगा। - यूहन्ना 14:26

बाइबल पाठ: रोमियों 16:1-16
Romans 16:1 मैं तुम से फीबे की, जो हमारी बहिन और किंख्रिया की कलीसिया की सेविका है, बिनती करता हूं।
Romans 16:2 कि तुम जैसा कि पवित्र लोगों को चाहिए, उसे प्रभु में ग्रहण करो; और जिस किसी बात में उसको तुम से प्रयोजन हो, उस की सहायता करो; क्योंकि वह भी बहुतों की वरन मेरी भी उपकारिणी हुई है। 
Romans 16:3 प्रिसका और अक्विला को जो मसीह यीशु में मेरे सहकर्मी हैं, नमस्कार। 
Romans 16:4 उन्होंने मेरे प्राण के लिये अपना ही सिर दे रखा था और केवल मैं ही नहीं, वरन अन्यजातियों की सारी कलीसियाएं भी उन का धन्यवाद करती हैं। 
Romans 16:5 और उस कलीसिया को भी नमस्कार जो उन के घर में है। मेरे प्रिय इपैनितुस को जो मसीह के लिये आसिया का पहिला फल है, नमस्कार। 
Romans 16:6 मरियम को जिसने तुम्हारे लिये बहुत परिश्रम किया, नमस्कार। 
Romans 16:7 अन्द्रुनीकुस और यूनियास को जो मेरे कुटम्बी हैं, और मेरे साथ कैद हुए थे, और प्रेरितों में नामी हैं, और मुझ से पहिले मसीह में हुए थे, नमस्कार। 
Romans 16:8 अम्पलियातुस को, जो प्रभु में मेरा प्रिय है, नमस्कार। 
Romans 16:9 उरबानुस को, जो मसीह में हमारा सहकर्मी है, और मेरे प्रिय इस्तखुस को नमस्कार। 
Romans 16:10 अपिल्लेस को जो मसीह में खरा निकला, नमस्कार। अरिस्तुबुलुस के घराने को नमस्कार। 
Romans 16:11 मेरे कुटुम्बी हेरोदियोन को नमस्कार। नरकिस्सुस के घराने के जो लोग प्रभु में हैं, उन को नमस्कार। 
Romans 16:12 त्रूफैना और त्रूफोसा को जो प्रभु में परिश्रम करती हैं, नमस्कार। प्रिया परसिस को जिसने प्रभु में बहुत परिश्रम किया, नमस्कार। 
Romans 16:13 रूफुस को जो प्रभु में चुना हुआ है, और उस की माता को जो मेरी भी है, दोनों को नमस्कार। 
Romans 16:14 असुंक्रितुस और फिलगोन और हिर्मास ओर पत्रुबास और हर्मेस और उन के साथ के भाइयों को नमस्कार। 
Romans 16:15 फिलुलुगुस और यूलिया और नेर्युस और उस की बहिन, और उलुम्पास और उन के साथ के सब पवित्र लोगों को नमस्कार।
Romans 16:16 आपस में पवित्र चुम्बन से नमस्कार करो तुम को मसीह की सारी कलीसियाओं की ओर से नमस्कार।

एक साल में बाइबल: 
  • लैव्यवस्था 23-24
  • मरकुस 1:1-22