बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Wednesday, April 5, 2017

स्वर्ग


   मेरे मित्र गस का कुछ महीने पहले देहाँत हो गया; उसे मछली पकड़ना बहुत पसन्द था। अकसर स्पताहांत में वह निकट की एक झील में अपनी छोटी नाव में जाकर मछली पकड़ा करता था। कुछ दिन पहले मुझे उसकी बेटी हेडी का पत्र मिला; हेडी ने बताया कि उसके नाती-पोतों के साथ स्वर्ग के बारे में उसकी चर्चा चल रही है। उसके छः वर्षीय पोते ने, जिसे अपने परदादा गस के समान मछली पकड़ना पसन्द है, स्वर्ग की कल्पना करते हुए कहा, "वह बहुत सुन्दर है, और वहाँ पर यीशु परदादा गस को मछली पकड़ने के उत्तम स्थान दिखा रहे हैं।"

   परमेश्वर के वचन बाइबल में जब प्रेरित पौलुस ने उसे परमेश्वर से मिले स्वर्ग के दर्शन के बारे में बताया, तो उसका वर्णन करने के लिए उसके पास पर्याप्त शब्द नहीं थे। पौलुस ने लिखा, "कि स्वर्ग लोक पर उठा लिया गया, और एसी बातें सुनीं जो कहने की नहीं; और जिन का मुंह पर लाना मनुष्य को उचित नहीं" (2 कुरिन्थियों 12:4)। स्वर्ग के तथ्यों का वर्णन हमारे शब्दों से बाहर है - शायद इसलिए क्योंकि हम मनुष्यों के पास उन तथ्यों को समझ पाने की बौद्धिक क्षमता नहीं है।

   चाहे स्वर्ग के बारे में कुछ और वर्णन जान लेने से हम कुछ दिलासा पा लें; परन्तु हम मसीही विश्वासियों के लिए आश्वसन तथा विश्वास का कारण स्वर्ग से संबंधित ज्ञान नहीं है। हमारे विश्वास और आश्वासन का आधार तो हमारे प्रभु परमेश्वर के संबंध में हमारा ज्ञान है, क्योंकि उस ज्ञान में ही जीवन और भक्ति से संबंधित सभी बातें हमें उपलब्ध करवाई गई हैं (2 पतरस 1:2-3)। क्योंकि मसीही विश्वासी हो जाने पर अब मेरा व्यक्तिगत संबंध प्रभु परमेश्वर के साथ हो गया है, मैं उसे जान जान गया हूँ, और यह भी जान गया हूँ कि वह कितना भला है, कितना विश्वासयोग्य है, इसलिए मैं इस जीवन और यहाँ की प्रत्येक बात को निःसंकोच इस भरोसे के साथ छोड़ सकता हूँ कि स्वर्ग बहुत सुन्दर और उत्तम स्थान होगा, जहाँ मेरा उद्धारकर्ता प्रभु परमेश्वर यीशु मसीह होगा, जिसके साथ मैं संगति करूँगा और आनन्दित हूँगा; क्योंकि वह ऐसा करने वाला उद्धारकर्ता परमेश्वर है। - डेविड रोपर


स्वर्ग में मसीह के साथ होने के समान पृथ्वी की कोई बात नहीं है।

परमेश्वर के और हमारे प्रभु यीशु की पहचान के द्वारा अनुग्रह और शान्‍ति तुम में बहुतायत से बढ़ती जाए। क्योंकि उसके ईश्वरीय सामर्थ ने सब कुछ जो जीवन और भक्ति से संबंध रखता है, हमें उसी की पहचान के द्वारा दिया है, जिसने हमें अपनी ही महिमा और सद्गुण के अनुसार बुलाया है। - 2 पतरस 1:2-3

बाइबल पाठ: प्रकाशितवाक्य 22:1-7
Revelation 22:1 फिर उसने मुझे बिल्लौर की सी झलकती हुई, जीवन के जल की एक नदी दिखाई, जो परमेश्वर और मेंम्ने के सिंहासन से निकल कर उस नगर की सड़क के बीचों बीच बहती थी। 
Revelation 22:2 और नदी के इस पार; और उस पार, जीवन का पेड़ था: उस में बारह प्रकार के फल लगते थे, और वह हर महीने फलता था; और उस पेड़ के पत्तों से जाति जाति के लोग चंगे होते थे। 
Revelation 22:3 और फिर श्राप न होगा और परमेश्वर और मेम्ने का सिंहासन उस नगर में होगा, और उसके दास उस की सेवा करेंगे। 
Revelation 22:4 और उसका मुंह देखेंगे, और उसका नाम उन के माथों पर लिखा हुआ होगा। 
Revelation 22:5 और फिर रात न होगी, और उन्हें दीपक और सूर्य के उजियाले का प्रयोजन न होगा, क्योंकि प्रभु परमेश्वर उन्हें उजियाला देगा: और वे युगानुयुग राज्य करेंगे।
Revelation 22:6 फिर उसने मुझ से कहा, ये बातें विश्वास के योग्य, और सत्य हैं, और प्रभु ने जो भविष्यद्वक्ताओं की आत्माओं का परमेश्वर है, अपने स्वर्गदूत को इसलिये भेजा, कि अपने दासों को वे बातें जिन का शीघ्र पूरा होना अवश्य है दिखाए। 
Revelation 22:7 देख, मैं शीघ्र आने वाला हूं; धन्य है वह, जो इस पुस्‍तक की भविष्यद्वाणी की बातें मानता है। 

एक साल में बाइबल: 
  • 1 शमूएल 1-3
  • लूका 8:26-56