बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Tuesday, June 13, 2017

कार्य


   सोशल मीडिया बहुत सी बातों के लिए उपयोगी है, परन्तु संतुष्टि उन बातों में से एक नहीं है; कम से कम मेरे लिए तो नहीं। चाहे मेरे उद्देश्य भले हों, परन्तु फिर भी मैं मुझे निरंतर स्मरण कराने वाली उन बातों से निराश हो जाती हूँ कि मेरे निर्धारित उद्देश्यों को कोई और मुझसे पहले पूरा कर ले रहा है, या मुझसे बेहतर परिणामों के साथ पूरा कर ले रहा है। क्योंकि इस प्रकार की निराशा में पड़ना मेरी प्रवृत्ति है, इसलिए मैं अपने आप को बारंबार यह स्मरण दिलाती रहती हूँ कि जो कार्य परमेश्वर मुझसे करवाना चाहता है उसके लिए जो कुछ भी आवश्यक है वह सब उसने मुझे उपलब्ध करवा रखा है।

   इसका तात्पर्य है कि उस कार्य के लिए मुझे अधिक धन की आवश्यकता नहीं है, और न ही उसके सफल हो जाने के लिए किसी के आश्वासन की। न ही मुझे उस कार्य के लिए किसी नई नौकरी की और न ही वर्तमान से बेहतर कार्य स्थिति की आवश्यकता है। मुझे अन्य लोगों का अनुमोदन अथवा अनुमति भी नहीं चाहिए, न ही अधिक समय या बेहतर स्वास्थ्य चाहिए। संभव है कि उसके द्वारा सौंपे गए कार्य को करते हुए परमेश्वर इन में से कुछ बातें मुझे प्रदान कर दे, परन्तु अभी जो कुछ मुझे चाहिए वह सब उसने मेरे लिए उपलब्ध कर दिया है, क्योंकि जब वह कोई कार्य सौंपता है, तो उसके लिए आवश्यक संसाधन भी जुटा देता है। यह अब मेरा दायित्व है कि जो कार्य उसने मुझे सौंपा है उसे उन संसाधनों के उचित उपयोग द्वारा उसकी महिमा तथा दूसरों को आशीषित करने के लिए पूरा करूँ।

   परमेश्वर के वचन बाइबल में हम पाते हैं कि प्रभु यीशु और उनके शिष्य पतरस के मध्य इसी विषय से संबंधित एक वार्तालाप हुआ। मृतकों में से अपने पुनरुत्थान के बाद के दिनों में, एक प्रातः, गलील की झील के किनारे प्रभु यीशु ने चेलों को भोजन कराया और पतरस को आने वाले समय में उससे अपेक्षित सेवकाई के बारे में बताया तथा यह भी कि उसके जीवन के अन्त समय में क्या होगा। तब, वहाँ एकत्रित शिष्यों में से एक अन्य शिष्य की ओर संकेत करके पतरस ने प्रभु से पूछा, "उसका क्या होगा?" प्रभु यीशु ने उत्तर दिया, "तुझे इससे क्या?"

   यही प्रश्न मुझे अपने आप से पूछना होता है जब मैं अपनी तुलना किसी अन्य से करने लगती हूँ। प्रभु का तात्पर्य उस समय पतरस से, और अब मुझ से स्पष्ट है, "यह सोचना तेरा कार्य नहीं है; तू वह कर जो तुझे सौंपा गया है, और उसे वह करने दे जो उसे सौंपा गया है।" मेरा दायित्व, मेरा कार्य है कि मैं प्रभु यीशु का अनुसरण करूँ और उसके प्रति आज्ञाकारी तथा वफादार बनी रहूँ। - जूली ऐकैरमैन लिंक


दूसरों की ओर देखने से रोष आता है, 
प्रभु की ओर देखने से संतुष्टि और आशीष आती है।

यीशु ने उन्हें उत्तर दिया; परमेश्वर का कार्य यह है, कि तुम उस पर, जिसे उसने भेजा है, विश्वास करो। - यूहन्ना 6:29

बाइबल पाठ: यूहन्ना 21:12-22
John 21:12 यीशु ने उन से कहा, कि आओ, भोजन करो और चेलों में से किसी को हियाव न हुआ, कि उस से पूछे, कि तू कौन है? क्योंकि वे जानते थे, कि हो न हो यह प्रभु ही है। 
John 21:13 यीशु आया, और रोटी ले कर उन्हें दी, और वैसे ही मछली भी। 
John 21:14 यह तीसरी बार है, कि यीशु ने मरे हुओं में से जी उठने के बाद चेलों को दर्शन दिए।
John 21:15 भोजन करने के बाद यीशु ने शमौन पतरस से कहा, हे शमौन, यूहन्ना के पुत्र, क्या तू इन से बढ़कर मुझ से प्रेम रखता है? उसने उस से कहा, हां प्रभु तू तो जानता है, कि मैं तुझ से प्रीति रखता हूं: उसने उस से कहा, मेरे मेमनों को चरा। 
John 21:16 उसने फिर दूसरी बार उस से कहा, हे शमौन यूहन्ना के पुत्र, क्या तू मुझ से प्रेम रखता है? उसने उन से कहा, हां, प्रभु तू जानता है, कि मैं तुझ से प्रीति रखता हूं: उसने उस से कहा, मेरी भेड़ों की रखवाली कर। 
John 21:17 उसने तीसरी बार उस से कहा, हे शमौन, यूहन्ना के पुत्र, क्या तू मुझ से प्रीति रखता है? पतरस उदास हुआ, कि उसने उसे तीसरी बार ऐसा कहा; कि क्या तू मुझ से प्रीति रखता है? और उस से कहा, हे प्रभु, तू तो सब कुछ जानता है: तू यह जानता है कि मैं तुझ से प्रीति रखता हूं: यीशु ने उस से कहा, मेरी भेड़ों को चरा। 
John 21:18 मैं तुझ से सच सच कहता हूं, जब तू जवान था, तो अपनी कमर बान्‍धकर जहां चाहता था, वहां फिरता था; परन्तु जब तू बूढ़ा होगा, तो अपने हाथ लम्बे करेगा, और दूसरा तेरी कमर बान्‍धकर जहां तू न चाहेगा वहां तुझे ले जाएगा। 
John 21:19 उसने इन बातों से पता दिया कि पतरस कैसी मृत्यु से परमेश्वर की महिमा करेगा; और यह कहकर, उस से कहा, मेरे पीछे हो ले। 
John 21:20 पतरस ने फिरकर उस चेले को पीछे आते देखा, जिस से यीशु प्रेम रखता था, और जिसने भोजन के समय उस की छाती की और झुककर पूछा हे प्रभु, तेरा पकड़वाने वाला कौन है? 
John 21:21 उसे देखकर पतरस ने यीशु से कहा, हे प्रभु, इस का क्या हाल होगा? 
John 21:22 यीशु ने उस से कहा, यदि मैं चाहूं कि वह मेरे आने तक ठहरा रहे, तो तुझे क्या? तू मेरे पीछे हो ले।

एक साल में बाइबल: 
  • एज़्रा 6-8
  • यूहन्ना 21