बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Saturday, April 2, 2011

घातक दोष

व्यक्ति यदि अनुशासित न हो तो उसका नाश हो जाता है। मैं एक ऐसी लड़की को जानता हूँ जो कम उम्र में ही मर जाएगी यदि उसने खाने की अपनी आदतें नहीं बदलीं। मैं एक ऐसे जवान को भी जानता हूँ जो अपने आप को बरबाद करे जा रहा है, क्योंकि उसने कभी अनुशासन नहीं सीखा; वह एक धनाड्य परिवार में पैदा और बड़ा हुआ, लेकिन अपनी जुआ खेलने और शराब पीने की आदत के कारण वह अब आर्थिक बरबादी के कगार पर है।

बाइबल के एक पात्र शिमशोन ने भी अपनी अनुशसनहीनता के कारण कुछ ऐसे निर्णय लिए जिनके कारण वह फिलिस्तियों का कैदी बन गया और उन्होंने उसे अपना बन्दी सेवक बना कर उसकी आँखें निकाल डालीं। उसका पतन आरंभ हुआ जब उसने एक अन्यजाति स्त्री से शादी करने की ज़िद करी। अपने माँ-बाप से उसकी माँग थी "...उसी से मेरा ब्याह करा दे; क्योंकि मुझे वही अच्छी लगती है।" (न्यायियों १४:३) उसके स्वार्थ और भोग विलास की लालसा ने उसे विनाश के मार्ग पर डाल दिया।

बिना आत्म सयंम और अनुशासन के हम अपने बड़े गुणों को व्यर्थ कर सकते हैं और उन्नत्ति के अवसरों को गंवा सकते हैं। कुछ विशेष भोजन वस्तुओं के लिए हमारी लालसाएं, मनोरंजन के साधनों में समय की बरबादी, वासना तृप्ति का अनियंत्रित जीवन, किसी भी कीमत पर सफलता की सीढ़ी चढ़ने की उत्कण्ठा, आदि उदाहरण हैं उन बातों के जो नियंत्रित और उचित रीति से प्रयोग करने से तो लाभकारी किंतु अनुचित और असंयमित प्रयोग से बरबादी का कारण बन जाती हैं।

जो खिलाड़ी खेल-कूद में कीर्तिमान स्थपित करते हैं, वे ऐसा इसलिए कर पाते हैं क्योंकि वे अपने भोजन, जीवन शैली, व्यायाम और अभ्यास में संयम और अनुशासन बरतते हैं। इसी प्रकार वे लोग जो परमेश्वर के साथ नियमित रूप से चलते रहते हैं वे परमेश्वर के अनुशासन का भी पालन करते हैं। उनके जीवन में परमेश्वर के वचन बाइबल को नियमित पढ़ना, नियमित प्रार्थना में समय बिताना और परमेश्वर के आज्ञाकारी रहना प्रमुख होता है।

अनुशासनहीनता बरबादी की गारन्टी है; अनुशासित तथा अत्म संयमित जीवन, जयवन्त जीवन होने की। - हर्ब वैनडर लुग्ट


खुद को अनुशासित रखिए, फिर औरों को आपके लिए यह करने की आवश्यक्ता नहीं होगी।

उसके माता पिता ने उस से कहा, क्या तेरे धाइयों की बेटियों में, वा हमारे सब लोगों में कोई स्त्री नहीं है, कि तू खतनाहीन पलिश्तियों में से स्त्री ब्याहने चाहता है? शिमशोन ने अपने पिता से कहा, उसी से मेरा ब्याह करा दे; क्योंकि मुझे वही अच्छी लगती है। - न्यायियों १४:३

बाइबल पाठ: न्यायियों १६:२१-३०
Jdg 16:21 तब पलिश्तियों ने उसको पकड़कर उसकी आंखें फोड़ डालीं, और उसे अज्जा को ले जा के पीतल की बेडिय़ों से जकड़ दिया; और वह बन्दीगृह में चक्की पीसने लगा।
Jdg 16:22 उसके सिर के बाल मुण्ड जाने के बाद फिर बढ़ने लगे।
Jdg 16:23 तब पलिश्तियों के सरदार अपने दागोन नाम देवता के लिये बड़ा यज्ञ, और आनन्द करने को यह कह कर इकट्ठे हुए, कि हमारे देवता ने हमारे शत्रु शिमशोन को हमारे हाथ में कर दिया है।
Jdg 16:24 और जब लोगों ने उसे देखा, तब यह कह कर अपने देवता की स्तुति की, कि हमारे देवता ने हमारे शत्रु और हमारे देश के नाश करने वाले को, जिस ने हम में से बहुतों को मार भी डाला, हमारे हाथ में कर दिया है।
Jdg 16:25 जब उनका मन मगन हो गया, तब उन्होंने कहा, शिमशोन को बुलवा लो, कि वह हमारे लिये तमाशा करे। इसलिये शिमशोन बन्दीगृह में से बुलवाया गया, और उनके लिये तमाशा करने लगा, और खम्भों के बीच खड़ा कर दिया गया।
Jdg 16:26 तब शिमशोन ने उस लड़के से जो उसका हाथ पकड़े था कहा, मुझे उन खम्भों को जिन से घर सम्भला हुआ है छूने दे, कि मैं उस पर टेक लगाऊं।
Jdg 16:27 वह घर तो स्त्री पुरूषों से भरा हुआ था, पलिश्तियों के सब सरदार भी वहां थे, और छत पर कोई तीन हजार सत्री पुरूष थे, जो शिमशोन को तमाशा करते हुए देख रहे थे।
Jdg 16:28 तब शिमशोन ने यह कह कर यहोवा की दोहाई दी, कि हे प्रभु यहोवा, मेरी सुधि ले; हे परमेश्वर, अब की बार मुझे बल दे, कि मैं पलिश्तियों से अपनी दोनों आंखों का एक ही पलटा लूं।
Jdg 16:29 तब शिमशोन ने उन दोनों बीच वाले खम्भों को जिन से घर सम्भला हुआ था पकड़कर एक पर तो दाहिने हाथ से और दूसरे पर बाएं हाथ से बल लगा दिया।
Jdg 16:30 और शिमशोन ने कहा, पलिश्तियों के संग मेरा प्राण भी जाए। और वह अपना सारा बल लगाकर झुका; तब वह घर सब सरदारों और उस में से सारे लोगों पर गिर पड़ा। सो जिनको उस ने मरते समय मार डाला वे उन से भी अधिक थे जिन्हें उस ने अपने जीवन में मार डाला था।

एक साल में बाइबल:
  • न्यायियों १६-१८
  • लूका ७:१-३०