बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Saturday, December 17, 2011

हमारी समानता में

   एक दिन एक मसीही विश्वासी ने मार्ग पर गिरा हुआ गेहूँ की बालियों का पूला देखा। भूखी गौरयिओं के एक झुण्ड ने उस पुले को अपनी आकस्मिक दावत के लिए अपना लिया था तथा उसमें से मज़े से गेहूँ खा रहीं थीं। वह व्यक्ति रुका और उस पूले की ओर एक कदम बढ़ाया, वे गौरियाँ सचेत हो गईं; उस ने उन की ओर एक कदम और बढ़ाया, और सभी चिड़ियाँ विचलित दिखनी लगीं; उस के एक और कदम बढ़ाते ही वे सभी भय से वशीभूत हो अपनी मुफ्त की दावत ऐसे ही छोड़ कर उड़ गईं।

   वह व्यक्ति वहाँ खड़ा हो कर, जो हुआ था उस पर विचार करने लगा कि जबकि उस ने उन्हें डराने या धमकाने के लिए कुछ भी नहीं किया तो फिर वे चिड़ियाँ क्यों उड़ गईं? तभी उस के मन में उत्तर कौंधा, वे उस के आकार से डर कर उड़ गईं थीं, क्योंकि उन छोटे से पक्षियों के लिए उसका आकार बहुत विशाल था और इसलिए उन्हें उस से भय लगता था। उसने फिर सोचा, क्या कोई तरीका है कि वह उन तक, उन्हें बिना डराए जा सके? मन में उत्तर आया, यदि वह स्वयं उनकी समानता में आ कर, एक गौरैया बन कर उनके पास आए तो वे उस से नहीं डरेंगी और वह उन के निकट संपर्क में आ सकता है।

   उसी समय उस व्यक्ति को इस घटना और उस से संबंधित उसके विचारों का आत्मिक समानन्तर भी समझ में आया। परमेश्वर ने पहले भी मनुष्यों से संपर्क करा और बातें करीं थीं। परमेश्वर अब्राहम के पास भी आया था और मूसा के पास भी, लेकिन परमेश्वर जिन के पास भी आया, पहले पहल वे सभी उस से भयभीत हुए। किंतु जब परमेश्वर का स्वर्गदूत चरवाहों के पास आया और, "स्‍वर्गदूत ने उन से कहा, मत डरो; क्‍योंकि देखो मैं तुम्हें बड़े आनन्‍द का सुसमाचार सुनाता हूं जो सब लोगों के लिये होगा। कि आज दाऊद के नगर में तुम्हारे लिये एक उद्धारकर्ता जन्मा है, और यही मसीह प्रभु है" (लूका १२:१०, ११); तो वे चरवाहे तुरंत बैतलेहम को गए और उन्होंने उस नवजात बालक के दर्शन किए।

   यद्यपि संसार में वे मामूली से चरवाहे थे, किंतु अब सृष्टि के सृष्टिकर्ता की उपस्थिति में खड़े हो कर भी, जिसके सामने स्वर्गदूत भी आँखें उठा कर बात नहीं करते, उन्हें कोई भय नहीं लग रहा था। संसार को पापों से क्षमा और उद्धार का मार्ग देने वाले को देख कर वे आनन्दित थे और उन्होंने यह आनन्द का समाचार औरों को भी सहर्ष दिया।

   प्रभु यीशु में परमेश्वर हमारी समानता में आ गया ताकि हमें अपनी समानता में ला सके। - पौल वैन गोर्डर

मसीह यीशु में हो कर असीम परमेश्वर सीमित मनुष्य की पहुँच के भीतर आ गया।

क्योंकि हमारे लिये एक बालक उत्पन्न हुआ, हमें एक पुत्र दिया गया है; और प्रभुता उसके कांधे पर होगी, और उसका नाम अद्‌भुत युक्ति करने वाला पराक्रमी परमेश्वर, अनन्तकाल का पिता, और शान्ति का राजकुमार रखा जाएगा। - यशायाह ९:६

बाइबल पाठ: यशायाह ९:२-७
Isa 9:2  जो लोग अन्धियारे में चल रहे थे उन्होंने बड़ा उजियाला देखा; और जो लोग घोर अन्धकार से भरे हुए मृत्यु के देश में रहते थे, उन पर ज्योति चमकी।
Isa 9:3  तू ने जाति को बढ़ाया, तू ने उस को बहुत आनन्द दिया; वे तेरे साम्हने कटनी के समय का सा आनन्द करते हैं, और ऐसे मगन हैं जैसे लोग लूट बांटने के समय मगन रहते हैं।
Isa 9:4  क्योंकि तू ने उस की गर्दन पर के भारी जूए और उस के बहंगे के बांस, उस पर अंधेर करने वाले की लाठी, इन सभों को ऐसा तोड़ दिया है जेसे मिद्यानियों के दिन में किया था।
Isa 9:5  क्योंकि युद्ध में लड़ने वाले सिपाहियों के जूते और लोहू में लथड़े हुए कपड़े सब आग का कौर हो जाएंगे।
Isa 9:6  क्योंकि हमारे लिये एक बालक उत्पन्न हुआ, हमें एक पुत्र दिया गया है; और प्रभुता उसके कांधे पर होगी, और उसका नाम अद्‌भुत युक्ति करने वाला पराक्रमी परमेश्वर, अनन्तकाल का पिता, और शान्ति का राजकुमार रखा जाएगा।
Isa 9:7  उसकी प्रभुता सर्वदा बढ़ती रहेगी, और उसकी शान्ति का अन्त न होगा, इसलिये वि उस को दाऊद की राजगद्दी पर इस समय से ले कर सर्वदा के लिये न्याय और धर्म के द्वारा स्थिर किए ओर संभाले रहेगा। सेनाओं के यहोवा की धुन के द्वारा यह हो जाएगा।
 
एक साल में बाइबल: 
  • अमोस ७-९ 
  • प्रकाशितवाक्य ८