बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Tuesday, March 13, 2012

सुरक्षित हाथ


   मैनचेस्टर युनाइटिड फुटबॉल टीम के गोलरक्षक एडविन वैन डर सार के हाथ बहुत सुरक्षित हाथ थे। उसने अपनी टीम के गोल में गेंद को १०३२ मिनिट तक जाने नहीं दिया, जो एक ही फुटबॉल खेलने के समय-काल में बनाया गया विश्व रिकॉर्ड है। इसका अर्थ है कि एडविन ने ९० मिनिट के खेल वाले लगभग १५ खेलों में गेंद को अपने गोल में आने नहीं दिया, यानि, उतने समय तक कोई उसकी टीम के खिलाफ एक भी गोल नहीं कर सका। उसका यह रिकॉर्ड तब टूटा जब मार्च २००६ में प्रतिद्वन्दी टीम एक गोल करने पाई।

   भजनकार दाउद ने भी सबसे सुरक्षित हाथों में सांत्वना पाई - परमेश्वर के हाथों में। उसने भजन १३८ में परमेश्वर से मिलने वाली सुरक्षा के बारे में लिखा: "चाहे मैं संकट के बीच में रहूं तौभी तू मुझे जिलाएगा, तू मेरे क्रोधित शत्रुओं के विरूद्ध हाथ बढ़ाएगा, और अपने दाहिने हाथ से मेरा उद्धार करेगा" (भजन १३८:७)। दाउद के समान हम भी परमेश्वर की ओर देख सकते हैं, उसके सबसे सुरक्षित हाथों में प्रत्येक खतरे और पराजय के भय से बच कर रह सकते हैं।

   परमेश्वर के वचन बाइबल में प्रभु यीशु ने भी उन सुरक्षित हाथों के विष्य में अपने चेलों को आश्वस्त किया: "मेरी भेड़ें मेरा शब्‍द सुनती हैं, और मैं उन्‍हें जानता हूं, और वे मेरे पीछे पीछे चलती हैं। और मैं उन्‍हें अनन्‍त जीवन देता हूं, और वे कभी नाश नहीं होंगी, और कोई उन्‍हें मेरे हाथ से छीन न लेगा। मैं और पिता एक हैं" (यूहन्ना १०:२७-३०)।

   प्रभु यीशु के एक अन्य चेले यहूदा ने भी अपनी पत्री में लिखा: "अब जो तुम्हें ठोकर खाने से बचा सकता है, और अपनी महिमा की भरपूरी के साम्हने मगन और निर्दोष करके खड़ा कर सकता है। उस अद्वैत परमेश्वर हमारे उद्धारकर्ता की महिमा, और गौरव, और पराक्रम, और अधिकार, हमारे प्रभु यीशु मसीह के द्वारा जैसा सनातन काल से है, अब भी हो और युगानुयुग रहे। आमीन" (यहूदा १:२४-२५)। इसका यह तात्पर्य नहीं है कि हम मसीही विश्वासियों को कभी कोई ठोकर नहीं लगेगी, वरन यह कि संसार हमें चाहे जैसे भी गिराने या नुकसान पहुँचाने की कोशिश करे, हम परमेश्वर के सुरक्षित हाथों के बाहर कभी नहीं जा सकते, हमारा स्थाई नुकसान कभी नहीं हो सकता, कोई हमें परमेश्वर से दूर नहीं कर सकता।

   परमेश्वर के सुरक्षित हाथ वे हाथ हैं जो कभी असफल नहीं हो सकते; कभी नहीं, किसी हाल नहीं। क्या आपने अपने आप को उन सुरक्षित हाथों की सुरक्षा में समर्पित कर दिया है? - सी.पी.हीया


परमेश्वर के हाथों से अधिक सुरक्षित और कोई स्थान नहीं है।


चाहे मैं संकट के बीच में रहूं तौभी तू मुझे जिलाएगा, तू मेरे क्रोधित शत्रुओं के विरूद्ध हाथ बढ़ाएगा, और अपने दाहिने हाथ से मेरा उद्धार करेगा। - भजन १३८:७


बाइबल पाठ: भजन १३८
Psa 138:1  मैं पूरे मन से तेरा धन्यवाद करूंगा, देवताओं के साम्हने भी मैं तेरा भजन गाऊंगा।
Psa 138:2  मैं तेरे पवित्र मन्दिर की ओर दण्डवत् करूंगा, और तेरी करूणा और सच्चाई के कारण तेरे नाम का धन्यवाद करूंगा; क्योंकि तू ने अपने वचन को अपने बड़े नाम से अधिक महत्व दिया है।
Psa 138:3  जिस दिन मैं ने पुकारा, उसी दिन तू ने मेरी सुन ली, और मुझ में बल देकर हियाव बन्धाया।
Psa 138:4  हे यहोवा, पृथ्वी के सब राजा तेरा धन्यवाद करेंगे, क्योंकि उन्होंने तेरे वचन सुने हैं;
Psa 138:5  और वे यहोवा की गति के विषय में गाएंगे, क्योंकि यहोवा की महिमा बड़ी है।
Psa 138:6  यद्यपि यहोवा महान है, तौभी वह नम्र मनुष्य की ओर दृष्टि करता है, परन्तु अहंकारी को दूर ही से पहिचानता है।
Psa 138:7  चाहे मैं संकट के बीच में रहूं तौभी तू मुझे जिलाएगा, तू मेरे क्रोधित शत्रुओं के विरूद्ध हाथ बढ़ाएगा, और अपने दाहिने हाथ से मेरा उद्धार करेगा।
Psa 138:8  यहोवा मेरे लिये सब कुछ पूरा करेगा; हे यहोवा, तेरी करूणा सदा की है। तू अपने हाथों के कार्यों को त्याग न दे।


एक साल में बाइबल: 

  • व्यवस्थाविवरण २०-२२ 
  • मरकुस १३:२१-३७