बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Monday, September 10, 2012

खोए हुए


   अपने कॉलेज के दिनों में मैं कोलैराडो के रॉकी माउन्टेन राष्ट्रीय उद्यान में मार्गदर्शक का कार्य करता था और युवकों के दलों को पहाड़ी मार्गों पर घूमाने के लिए ले कर जाया करता था। एक बार मेरे दल का एक लड़का, जो छोटा और सुस्त था, शेष दल से पीछे रह गया और किसी जगह एक गलत मोड़ लेकर भटक गया। जब हम वापस अपने शिविर पर पहुँचे तो उसका कोई अता-पता नहीं था। मैं घबराया हुआ उसे ढ़ूंढ़ने के लिए निकल पड़ा। अन्धेरा होने से कुछ देर पहले मैंने उसे एक छोटी सी झील के किनारे बिलकुल अकेला और खोया हुआ बैठा पाया। आनन्द के मारे मैंने ज़ोर से उसका आलिंगन किया और उसे उठा कर अपने कंधे पर बैठा लिया, और ऐसे उठाए हुए ही शिविर में उसके अन्य साथियों के पास लेकर आ गया।

   एक स्कॉटिश कहानीकार जौर्ज मैकडॉनल्ड द्वारा लिखी एक कहानी में एक जवान महिला का उल्लेख है जिसे जंगल में एक खोया हुआ और अकेला छोटा बालक मिलता है। महिला उस बालक को गोदी में उठाकर उसके घर उसके पिता के पास लेकर आती है और पिता को उसे सौंपते हुए उस महिला को एक ऐसी समझ मिलती है जो फिर जीवन भर उसे कभी नहीं छोड़ती: "अब वह मनुष्य के पुत्र (प्रभु यीशु का एक उपनाम) के मन को समझ सकी जो पाप और संसार में खोए हुए लोगों को ढ़ूंढ़ने और उन्हें वापस परमेश्वर पिता के पास ले जाने के लिए आया था।"

   मैं चाहता हूँ कि आप भी मनुष्य के पुत्र, प्रभु यीशु, के हृदय को समझने पाएं जो कि संसार के हर एक पाप में पड़े और संसार में खोए हुए को वापस परमेश्वर के पिता के पास ले जाने के लिए आया। प्रभु यीशु ने कहा: "क्‍योंकि मनुष्य का पुत्र खोए हुओं को ढूंढ़ने और उन का उद्धार करने आया है" (लूका १९:१०)। आप चाहे कहीं भी क्यों ना खो गए हों, चाहे कितनी भी दूर क्यों ना भटक गए हों, वह आपको ढ़ूंढ़ने और बचा कर लौटा लाने के लिए आया है। उसकी सहायता आपकी बस एक पुकार भर की दूरी पर ही है। सच्चे मन से उसे पुकारिए और अनन्त जीवन के भागी हो जाइए।- डेविड रोपर


उद्धार का मार्ग पाने के लिए आपको बस मान लेना है कि आप पाप में भटक गए हैं।

...मेरे साथ आनन्‍द करो, क्‍योंकि मेरी खोई हुई भेड़ मिल गई है। - लूका १५:६

बाइबल पाठ: लूका १५:१-१०
Luk 15:1  सब चुंगी लेने वाले और पापी उसके पास आया करते थे ताकि उस की सुनें। 
Luk 15:2  और फरीसी और शास्त्री कुडकुडाकर कहने लगे, कि यह तो पापियों से मिलता है और उन के साथ खाता भी है।
Luk 15:3 तब उस ने उन से यह दृष्‍टान्‍त कहा। 
Luk 15:4  तुम में से कौन है जिस की सौ भेड़ें हों, और उन में से एक खो जाए तो निन्नानवे को जंगल में छोड़कर, उस खोई हुई को जब तक मिल न जाए खोजता न रहे? 
Luk 15:5 और जब मिल जाती है, तब वह बड़े आनन्‍द से उसे कांधे पर उठा लेता है। 
Luk 15:6 और घर में आकर मित्रों और पड़ोसियों इकट्ठे करके कहता है, मेरे साथ आनन्‍द करो, क्‍योंकि मेरी खोई हुई भेड़ मिल गई है। 
Luk 15:7 मैं तुम से कहता हूं, कि इसी रीति से एक मन फिराने वाले पापी के विषय में भी स्‍वर्ग में इतना ही आनन्‍द होगा, जितना कि निन्नानवे ऐसे धमिर्यों के विषय नहीं होता, जिन्‍हें मन फिराने की आवश्यकता नहीं।
Luk 15:8  या कौन ऐसी स्त्री होगी, जिस के पास दस सिक्के हों, और उन में से एक खो जाए तो वह दीया बारकर और घर झाड़ बुहारकर जब तक मिल न जाए, जी लगाकर खोजती न रहे 
Luk 15:9 और जब मिल जाता है, तो वह अपने सखियों और पड़ोसिनियों को इकट्ठी करके कहती है, कि मेरे साथ आनन्‍द करो, क्‍योंकि मेरा खोया हुआ सिक्का मिल गया है। 
Luk 15:10 मैं तुम से कहता हूं, कि इसी रीति से एक मन फिराने वाले पापी के विषय में परमेश्वर के स्‍वर्गदूतों के साम्हने आनन्‍द होता है।

एक साल में बाइबल: 
  • नीतिवचन ८-९ 
  • २ कुरिन्थियों ३