बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Wednesday, January 1, 2014

तैयार


   आप सब को नए वर्ष की शुभकामनाएं

   मैं विचार कर रहा था कि यह नया साल क्या कुछ लेकर आएगा, और यह बात मेरे मन में आई कि क्या यह वह साल होगा जब हमारा उद्धरकर्ता प्रभु यीशु हमें ले जाने के लिए वापस आएगा? इस प्रश्न के साथ ही जो दूसरा प्रश्न तुरंत मेरे मन में आया वह था, क्या मैं उसके आगमन के लिए तौयार हूँ?

   अब तक के सारे जीवन भर मुझे किसी ना किसी बात के लिए तैयार ही रहना पड़ा है; बचपन में भोजन खाने के लिए हाथ धोकर तैयार रहना पड़ता था, स्कूल जाने के लिए तैयार रहना होता था और अब व्यसक होने पर कोई ना कोई ज़िम्मेदारी उठाने और निभाने के लिए तैयार रहना पड़ता है। लेकिन मैंने यह भी जान लिया है कि प्रभु यीशु के आगमन के लिए तैयार रहने से बढ़कर और कोई तैयार रहना नहीं है।

   प्रभु यीशु के दूसरे आगमन की तैयारी के विषय में प्रेरित यूहन्ना लिखता है, "और जो कोई उस पर यह आशा रखता है, वह अपने आप को वैसा ही पवित्र करता है, जैसा वह पवित्र है" (1 यूहन्ना 3:3)। प्रभु यीशु के दूसरे आगमन का विचार हमें आशा और उत्साह से भर देता है - किसी इच्छित वस्तु की प्राप्ति की अनिश्चित सी आशा नहीं वरन एक दृढ़ और ठोस आशा जो हमें इस संसार के पापमय मनबहलाव से बचे रहने, तथा हमें प्रभु यीशु की समानता में ढलते जाने को प्रेरित करती है। यदि हम वास्तव में यह आशा रखते हैं कि यही वह वर्ष है जब प्रभु यीशु हमें ले जाने के लिए आएगा, तो हम उसके समान दूसरों के प्रति क्षमाशील होने, अपने लिए परमेश्वर के सम्मुख क्षमाप्रार्थी रहने और परमेश्वर के अद्भुत बिना किसी शर्त के समस्त मानव जाति से रखे गए प्रेम को लोगों तक पहुँचाने के लिए और भी अधिक इच्छुक तथा प्रयासरत होंगे।

   इस वर्ष जब हम इस बात की संभावना के लिए अपने आप को तैयार करें कि प्रभु यीशु का दूसरा आगमन हो सकता है, तो साथ ही हम अपने आप को उसके आगमन के लिए तैयार भी करते रहें। हम अपने प्रभु के समान पाप से दूर बने रहने का प्रयत्न करते हुए उस दिन की बाट जोहते रहें जब आँसु और दुख, पीड़ा और मृत्यु के स्थान पर हमें प्रभु यीशु की उपस्थिति में अनन्त आनन्द मिल जाएगा और हम इस नाशमान संसार को छोड़ कर परमेश्वर के साथ अननत काल के लिए स्वर्ग के आशीषित निवासी हो जाएंगे। - जो स्टोवैल


प्रभु यीशु के आगमन के लिए तैयार रहने की भावना हमारे जीवन शैली को परिवर्तित कर देगी।

सो हे प्यारो जब कि ये प्रतिज्ञाएं हमें मिली हैं, तो आओ, हम अपने आप को शरीर और आत्मा की सब मलिनता से शुद्ध करें, और परमेश्वर का भय रखते हुए पवित्रता को सिद्ध करें। - 2 कुरिन्थियों 7:1 

बाइबल पाठ: 1 यूहन्ना 2:28 - 3:3
1 John 2:28 निदान, हे बालकों, उस में बने रहो; कि जब वह प्रगट हो, तो हमें हियाव हो, और हम उसके आने पर उसके साम्हने लज्ज़ित न हों। 
1 John 2:29 यदि तुम जानते हो, कि वह धार्मिक है, तो यह भी जानते हो, कि जो कोई धर्म का काम करता है, वह उस से जन्मा है। 
1 John 3:1 देखो पिता ने हम से कैसा प्रेम किया है, कि हम परमेश्वर की सन्तान कहलाएं, और हम हैं भी: इस कारण संसार हमें नहीं जानता, क्योंकि उसने उसे भी नहीं जाना। 
1 John 3:2 हे प्रियों, अभी हम परमेश्वर की सन्तान हैं, और अब तक यह प्रगट नहीं हुआ, कि हम क्या कुछ होंगे! इतना जानते हैं, कि जब वह प्रगट होगा तो हम भी उसके समान होंगे, क्योंकि उसको वैसा ही देखेंगे जैसा वह है। 
1 John 3:3 और जो कोई उस पर यह आशा रखता है, वह अपने आप को वैसा ही पवित्र करता है, जैसा वह पवित्र है।

एक साल में बाइबल: उत्पत्ति 1-2