बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Wednesday, June 18, 2014

स्मरण एवं मनन


   मेरे जन्म के पहले ही मेरे परदादा एब्राम हैस अपनी आँखों की रौशनी गंवा चुके थे। वे अपने क्षेत्र में दो बातों के लिए विख्यात थे - अपनी खराद मशीन पर लकड़ी की सुन्दर वस्तुओं को बनाने और परमेश्वर के वचन बाइबल के अनेक पदों को स्मरण रखने तथा दोहराने। वे और उनके एक मित्र - एली अकसर आपस में एक दूसरे के साथ बाइबल के पदों को बाँटते रहते थे। उन दोनों में पदों को ऐसे बोलने की एक स्पर्धा सी रहती थी; जबकि एली बाइबल के हवाले अधिक बताने पाते थे, मेरे परदादा पदों के लेख को दोहराने पाते थे।

   आज हमारा परिवार परदादा एब्राम को अधिकतर "दृष्टिहीन दादा" संबोधित करके याद करता है। आँखों के चले जाने के बाद बाइबल के पदों को स्मरण रखने की उनकी आदत उनके लिए जीवन जीने का सहारा बन गई। लेकिन हमारे लिए यह क्यों आवश्यक है कि हम परमेश्वर के वचन को स्मरण रखें और उस पर मनन करें?

   भजन 119 हमें कई कारण बताता है कि परमेश्वर के वचन को अपने हृदयों में रख लेने से हमारे जीवन में क्या प्रभाव आते हैं: पहले तो उस वचन के द्वारा हम प्रलोभनों और परीक्षाओं का सामना करने की सामर्थ पाते हैं (पद 11, इफिसियों 6:17)| फिर जब हम उस वचन पर मनन करते हैं तो हम परमेश्वर को और बेहतर रीति से जानने लगते हैं। जब परमेश्वर का वचन हमारे मन-मस्तिष्क में बस जाता है तो हम उसकी आवाज़ को बेहतर सुनने और समझने लगते हैं, उसके मार्गदर्शन सरलता से समझने लगते हैं। हम परमेश्वर के वचन को ही प्रार्थना करने, परमेश्वर से वार्तालाप करने, उसकी आराधना करने और दूसरों को उसके बारे में बताने के लिए प्रयोग करने पाते हैं (कुलुस्सियों 3:16)।

   परमेश्वर का वचन जीवित और प्रबल है (इब्रानियों 4:12); इस बहुमूल्य वचन को स्मरण रखें, उस पर मनन करते रहें, उसे अपने हृदय में बसा लें, और वह आपको पाप से बचाए रखेगा (भजन 119:11)। - सिंडी हैस कैसपर


जब परमेश्वर का वचन हमारे हृदय में बसा रहेगा तो परमेश्वर के मार्ग हमारे मार्ग बन जाएंगे।

धर्मी अपने मुंह से बुद्धि की बातें करता, और न्याय का वचन कहता है। उसके परमेश्वर की व्यवस्था उसके हृदय में बनी रहती है, उसके पैर नहीं फिसलते। - भजन 37:30-31

बाइबल पाठ: भजन 119:9-15
Psalms 119:9 जवान अपनी चाल को किस उपाय से शुद्ध रखे? तेरे वचन के अनुसार सावधान रहने से। 
Psalms 119:10 मैं पूरे मन से तेरी खोज मे लगा हूं; मुझे तेरी आज्ञाओं की बाट से भटकने न दे! 
Psalms 119:11 मैं ने तेरे वचन को अपने हृदय में रख छोड़ा है, कि तेरे विरुद्ध पाप न करूं। 
Psalms 119:12 हे यहोवा, तू धन्य है; मुझे अपनी विधियां सिखा! 
Psalms 119:13 तेरे सब कहे हुए नियमों का वर्णन, मैं ने अपने मुंह से किया है। 
Psalms 119:14 मैं तेरी चितौनियों के मार्ग से, मानों सब प्रकार के धन से हर्षित हुआ हूं। 
Psalms 119:15 मैं तेरे उपदेशों पर ध्यान करूंगा, और तेरे मार्गों की ओर दृष्टि रखूंगा। 
Psalms 119:16 मैं तेरी विधियों से सुख पाऊंगा; और तेरे वचन को न भूलूंगा।

एक साल में बाइबल: 
  • भजन 73-75