बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Friday, July 5, 2019

भरोसा



      बच्चों के विकास में उनके व्यवहार से संबंधित समस्याओं की विशेषज्ञा, डॉ. बारबरा हॉवर्ड ने कहा, “भाई-बहनों के परस्पर झगड़ों में अभिभावकों द्वारा पक्षपात की अनुभूति सबसे प्रमुख कारणों में से एक है” (“When Parents Have a Favorite Child” nytimes.com)। इसका एक उदाहरण होगा परमेश्वर के वचन बाइबल का एक पात्र – युसूफ। युसूफ अपने पिता का दुलारा था, और इस कारण उसके बड़े भाई उससे चिढ़ते थे (उत्पत्ति 37:3-4)। इसलिए उन भाईयों ने मौक़ा पाकर उसे मिस्र को जाने वाले व्यापारियों को बेच दिया और घर पर यह दिखाया कि उसे किसी जंगली जानवर ने मार डाला था (उत्पत्ति 37:12-36)। उन व्यापारियों ने युसूफ को मिस्र में लेजाकर दास के समान बेच दिया; युसूफ के सपने बिखर गए और उसका भविष्य अन्धकारमय लगने लगा। परन्तु युसूफ ने परमेश्वर पर अपना भरोसा बनाए रखा।

      दास के रूप में अपनी जीवन की यात्रा में, वह परमेश्वर के प्रति विश्वासयोग्य बना रहा, और चाहे परिस्थितियाँ और भी बिगड़ती हुई लगीं, किन्तु उसने परमेश्वर पर अपने भरोसे और उसके अनुरूप व्यवहार को नहीं छोड़ा। उसके स्वामी की पत्नि ने उसे व्यभिचार में गिराना चाहा, किन्तु उसने जब ऐसा नहीं होने दिया, तो उस स्त्री ने उसपर झूठे आरोप मढ़े और युसूफ बंदीगृह में डलवा दिया गया। वहाँ भी उसने परमेश्वर के प्रति अपने भरोसे और व्यवहार को बनाए रखा; और उचित समय पर परमेश्वर ने युसूफ को कल्पना से भी परे प्रतिफल दिया, उसे मिस्र का प्रधान-मंत्री बना दिया।

      वर्षों के बाद, अकाल के समय जब उसके भाई मिस्र में अनाज लेने के लिए आए, तो वे अपने भाई को मिस्र के प्रधान-मंत्री के रूप में देखकर घबरा गए। परन्तु युसूफ ने उन्हें आश्वस्त किया और कहा, “अब तुम लोग मत पछताओ, और तुम ने जो मुझे यहां बेच डाला, इस से उदास मत हो; क्योंकि परमेश्वर ने तुम्हारे प्राणों को बचाने के लिये मुझे आगे से भेज दिया है... इस रीति अब मुझ को यहां पर भेजने वाले तुम नहीं, परमेश्वर ही ठहरा” (उत्पत्ति 45:5, 8)।

      युसूफ द्वारा अपने भाईयों से कहे गए ये विनम्रता के शब्द मुझे चकित करते हैं और मैं सोचता हूँ, ऐसे में मेरा रवैया कैसा होता? क्या मैं प्रतिशोध लेता, या युसूफ के समान उनके प्रति अनुग्रहकारी होता? क्योंकि युसूफ का भरोसा परमेश्वर पर से कभी डिगने नहीं पाया, इसलिए उसने वह पाया जिसकी कभी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता था, और उसने वह किया जो आज भी आश्चर्यचकित करता है, विचार करने के लिए बाध्य करता है। - डेविड मैक्कैस्लैंड


जीवन के सबसे अंधकारमय समयों में, 
केवल विश्वास की दृष्टि के द्वारा ही हम 
परमेश्वर के प्रेमपूर्ण हाथ को अपने साथ देख सकते हैं।

हे याकूब के घराने, हे इस्राएल के घराने के सब बचे हुए लोगो, मेरी ओर कान लगाकर सुनो; तुम को मैं तुम्हारी उत्पत्ति ही से उठाए रहा और जन्म ही से लिये फिरता आया हूं। तुम्हारे बुढ़ापे में भी मैं वैसा ही बना रहूंगा और तुम्हारे बाल पकने के समय तक तुम्हें उठाए रहूंगा। मैं ने तुम्हें बनाया और तुम्हें लिये फिरता रहूंगा; - यशायाह 46:3-4

बाइबल पाठ: उत्पत्ति 45:1-11
Genesis 45:1 तब यूसुफ उन सब के साम्हने, जो उसके आस पास खड़े थे, अपने को और रोक न सका; और पुकार के कहा, मेरे आस पास से सब लोगों को बाहर कर दो। भाइयों के साम्हने अपने को प्रगट करने के समय यूसुफ के संग और कोई न रहा।
Genesis 45:2 तब वह चिल्ला चिल्लाकर रोने लगा: और मिस्रियों ने सुना, और फिरौन के घर के लोगों को भी इसका समाचार मिला।
Genesis 45:3 तब यूसुफ अपने भाइयों से कहने लगा, मैं यूसुफ हूं, क्या मेरा पिता अब तब जीवित है? इसका उत्तर उसके भाई न दे सके; क्योंकि वे उसके साम्हने घबरा गए थे।
Genesis 45:4 फिर यूसुफ ने अपने भाइयों से कहा, मेरे निकट आओ। यह सुनकर वे निकट गए। फिर उसने कहा, मैं तुम्हारा भाई यूसुफ हूं, जिस को तुम ने मिस्र आनेहारों के हाथ बेच डाला था।
Genesis 45:5 अब तुम लोग मत पछताओ, और तुम ने जो मुझे यहां बेच डाला, इस से उदास मत हो; क्योंकि परमेश्वर ने तुम्हारे प्राणों को बचाने के लिये मुझे आगे से भेज दिया है।
Genesis 45:6 क्योंकि अब दो वर्ष से इस देश में अकाल है; और अब पांच वर्ष और ऐसे ही होंगे, कि उन में न तो हल चलेगा और न अन्न काटा जाएगा।
Genesis 45:7 सो परमेश्वर ने मुझे तुम्हारे आगे इसी लिये भेजा, कि तुम पृथ्वी पर जीवित रहो, और तुम्हारे प्राणों के बचने से तुम्हारा वंश बढ़े।
Genesis 45:8 इस रीति अब मुझ को यहां पर भेजने वाले तुम नहीं, परमेश्वर ही ठहरा: और उसी ने मुझे फिरौन का पिता सा, और उसके सारे घर का स्वामी, और सारे मिस्र देश का प्रभु ठहरा दिया है।
Genesis 45:9 सो शीघ्र मेरे पिता के पास जा कर कहो, तेरा पुत्र यूसुफ इस प्रकार कहता है, कि परमेश्वर ने मुझे सारे मिस्र का स्वामी ठहराया है; इसलिये तू मेरे पास बिना विलम्ब किए चला आ।
Genesis 45:10 और तेरा निवास गोशेन देश में होगा, और तू, बेटे, पोतों, भेड़-बकरियों, गाय-बैलों, और अपने सब कुछ समेत मेरे निकट रहेगा।
Genesis 45:11 और अकाल के जो पांच वर्ष और होंगे, उन में मैं वहीं तेरा पालन पोषण करूंगा; ऐसा न हो कि तू, और तेरा घराना, वरन जितने तेरे हैं, सो भूखों मरें।

एक साल में बाइबल: 
  • अय्यूब 30-31
  • प्रेरितों 13:26-52