बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Friday, June 22, 2012

भली विरासत

   मार्टिन लूथर ने, परमेश्वर के वचन बाइबल में सभोपदेशक ९:१५ पर अपनी टिप्पणी में एक युनानी सैनिक, थैमिस्टोक्लिस की कहानी बताई, जो एथेन्स में तैनात युनानी सेना का अधिकारी था। अपनी बुद्धिमता और युद्ध कौशल के कारण थैमिस्टोक्लिस ने सालामिस का युद्ध जीता, युनानी धरती से फारसी सेना को भगाया और अपने नगर को बचाया। इसके कुछ समय बाद वह अपने लोगों की नज़रों से गिर गया, और एथेन्स से बहिष्कृत कर दिया गया। मार्टिन लूथर ने कहानी का अन्त करते हुए लिखा, "थैमिस्टोक्लिस ने अपने नगर के लिए बहुत भला किया, किंतु प्रत्युत्तर में उसे उनसे बहुत कृतघ्नता ही मिली।"

   सामान्यतः यह देखा गया है कि ना जाने क्यों, लोग किसी गरीब या दीन जन द्वारा अपनी बुद्धिमता से किया गया भला कार्य शीघ्र ही भुला देते हैं। परवाह नहीं; चाहे दीन जन की बुद्धिमता तुच्छ जानी जाए तो भी वह पराक्रम से अधिक सामर्थी होती है "यद्यपि दरिद्र की बुद्धि तुच्छ समझी जाती है और उसका वचन कोई नहीं सुनता तौभी पराक्रम से बुद्धि उत्तम है" (सभोपदेशक ९:१६)। किसी अभिमानी, डींगमार मूर्ख व्यक्ति की बजाए एक नम्र, शांत और ईमानदार व्यक्ति होना बहुत भला है, जो चाहे लोगों द्वारा भुला भी दिया जाए, किंतु अपने पीछे एक भली विरासात छोड़ जाता है।

   अन्ततः जो बात महत्व रखती है वह लोगों से मिलने वाली प्रसिद्धी और वाहवाही नहीं, वरन वे भलाई और धार्मिकता के बीज हैं जो हम अपने नेक चरित्र द्वारा नम्र आत्माओं में बोकर जाते हैं, और जो आते समय में अपने फल अवश्य लाएंगे; वे समाज के लिए हमारी भली विरासत हैं। इसे दुसरे रूप में कहें तो, "पर ज्ञान अपनी सब सन्‍तानों से सच्‍चा ठहराया गया है" (लूका ७:३५)।

   क्या आपने अपने जीवन में प्रदर्शित परमेश्वर के भय और नेक चरित्र द्वारा किसी के जीवन में कोई भला बीज बोया है; क्या आपने कोई भली विरासत समाज के लिए छोड़ी है? - डेविड रोपर


बुद्धिमान व्यक्ति, अपने पृथ्वी के जीवन से ही, स्वर्गीय आशीषों को अपना लक्ष्य रखता है।


परन्तु उस में एक दरिद्र बुद्धिमान पुरूष पाया गया, और उस ने उस नगर को अपनी बुद्धि के द्वारा बचाया। तौभी किसी ने उस दरिद्र का स्मरण न रखा। - सभोपदेशक ९:१५

बाइबल पाठ: सभोपदेशक ९:१३-१८
Ecc 9:13  मैं ने सूर्य के नीचे इस प्रकार की बुद्धि की बात भी देखी है, जो मुझे बड़ी जान पड़ी।
Ecc 9:14  एक छोटा सा नगर था, जिस में थोड़े ही लोग थे, और किसी बड़े राजा ने उस पर चढ़ाई करके उसे घेर लिया, और उसके विरूद्ध बड़े बड़े धुस बनवाए।
Ecc 9:15  परन्तु उस में एक दरिद्र बुद्धिमान पुरूष पाया गया, और उस ने उस नगर को अपनी बुद्धि के द्वारा बचाया। तौभी किसी ने उस दरिद्र का स्मरण न रखा।
Ecc 9:16  तब मैं ने कहा, यद्यपि दरिद्र की बुद्धि तुच्छ समझी जाती है और उसका वचन कोई नहीं सुनता तौभी पराक्रम से बुद्धि उत्तम है।
Ecc 9:17  बुद्धिमानों के वचन जो धीमे धीमे कहे जाते हैं वे मूर्खों के बीच प्रभुता करने वाले के चिल्ला चिल्लाकर कहने से अधिक सुने जाते हैं।
Ecc 9:18  लड़ाई के हथियारों से बुद्धि उत्तम है, परन्तु एक पापी बहुत भलाई नाश करता है।


एक साल में बाइबल: 

  • एस्तेर ६-८ 
  • प्रेरितों ६