बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Tuesday, December 24, 2013

मृत्यु का नाश


   चिकित्सा विज्ञान के अनेक शोधकर्ता अथक प्रयास द्वारा कैंसर का इलाज ढूढ़ने में लगे हुए हैं, वे एल्ज़ाहिमर रोग के रहस्य को समझने का प्रयास कर रहे हैं, उनके प्रयास हैं कि अनेक दुर्बल कर देने वाले रोगों का हल ढूंढ़ा जा सके। लेकिन कैसा लगे यदि एक प्रातः जब आप उठें तो समाचारपत्रों की सुर्खियाँ हों "मृत्यु का नाश हो गया!" क्या आप ऐसे समाचार पर विश्वास करेंगे? क्या आप विश्वास करने भी पाएंगे?

   लेकिन परमेश्वर का वचन बाइबल, जिसकी कोई बात कभी गलत प्रमाणित नहीं हुई है, यह दावा करती है कि मसीह यीशु के विश्वासियों के लिए मृत्यु का नाश हो चुका है - मृत्यु निष्क्रीय कर दी गई है, अब तक मृत्यु जो कुछ कर पाती थी मसीही विश्वासियों के प्रति वह सब करना उसके लिए संभव नहीं रह गया है: "और जब यह नाशमान अविनाश को पहिन लेगा, और यह मरनहार अमरता को पहिन लेगा, तक वह वचन जो लिखा है, पूरा हो जाएगा, कि जय ने मृत्यु को निगल लिया" (1 कुरिन्थियों 15:54)।

   यह सुसमाचार प्रत्येक उस व्यक्ति के लिए है जो इस सुसमाचार पर विश्वास करेगा, इसे ग्रहण करेगा, जैसे कि स्वर्गदूत ने प्रभु यीशु के जन्म के समय चरवाहों से कहा: "तब स्वर्गदूत ने उन से कहा, मत डरो; क्योंकि देखो मैं तुम्हें बड़े आनन्द का सुसमाचार सुनाता हूं जो सब लोगों के लिये होगा। कि आज दाऊद के नगर में तुम्हारे लिये एक उद्धारकर्ता जन्मा है, और यही मसीह प्रभु है" (लूका 2:10-11)।

   प्रभु यीशु का जन्म मृत्यु के अन्त का आरंभ था: "हे मृत्यु तेरा डंक कहां रहा? मृत्यु का डंक पाप है; और पाप का बल व्यवस्था है। परन्तु परमेश्वर का धन्यवाद हो, जो हमारे प्रभु यीशु मसीह के द्वारा हमें जयवन्‍त करता है" (1 कुरिन्थियों 15:56-57)।

   बस इसीलिए हम क्रिसमस का आनन्द मनाते हैं! - डेविड मैक्कैसलैंड


प्रभु यीशु का जन्म परमेश्वर को मनुष्य के निकट ले आया; प्रभु यीशु की मृत्यु मनुष्य को परमेश्वर के निकट ले जाती है।

हे मृत्यु तेरी जय कहां रही? - 1 कुरिन्थियों 15:55

बाइबल पाठ: 1 कुरिन्थियों 15:50-58
1 Corinthians 15:50 हे भाइयों, मैं यह कहता हूं कि मांस और लोहू परमेश्वर के राज्य के अधिकारी नहीं हो सकते, और न विनाश अविनाशी का अधिकारी हो सकता है। 
1 Corinthians 15:51 देखे, मैं तुम से भेद की बात कहता हूं: कि हम सब तो नहीं सोएंगे, परन्तु सब बदल जाएंगे। 
1 Corinthians 15:52 और यह क्षण भर में, पलक मारते ही पिछली तुरही फूंकते ही होगा: क्योंकि तुरही फूंकी जाएगी और मुर्दे अविनाशी दशा में उठाए जांएगे, और हम बदल जाएंगे। 
1 Corinthians 15:53 क्योंकि अवश्य है, कि यह नाशमान देह अविनाश को पहिन ले, और यह मरनहार देह अमरता को पहिन ले। 
1 Corinthians 15:54 और जब यह नाशमान अविनाश को पहिन लेगा, और यह मरनहार अमरता को पहिन लेगा, तक वह वचन जो लिखा है, पूरा हो जाएगा, कि जय ने मृत्यु को निगल लिया। 
1 Corinthians 15:55 हे मृत्यु तेरी जय कहां रही? 
1 Corinthians 15:56 हे मृत्यु तेरा डंक कहां रहा? मृत्यु का डंक पाप है; और पाप का बल व्यवस्था है। 
1 Corinthians 15:57 परन्तु परमेश्वर का धन्यवाद हो, जो हमारे प्रभु यीशु मसीह के द्वारा हमें जयवन्‍त करता है। 
1 Corinthians 15:58 सो हे मेरे प्रिय भाइयो, दृढ़ और अटल रहो, और प्रभु के काम में सर्वदा बढ़ते जाओ, क्योंकि यह जानते हो, कि तुम्हारा परिश्रम प्रभु में व्यर्थ नहीं है।

एक साल में बाइबल: 
  • हबक्कूक 1-3 
  • प्रकाशितवाक्य 15