बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Saturday, July 12, 2014

पवित्र आत्मा


   संसार भर में कभी ना कभी सभी लोग एक अदृश्य सामर्थ के नाट्कीय प्रभावों को देखते हैं - आँधी-तूफान और बवंडरों के द्वारा मनुष्य के बनाए हुए ढांचों को तिनकों के समान उड़ते हुए। वायु का यह प्रचण्ड बल किसी को दिखाई नहीं देता, हम केवल उसके प्रभावों को ही देख पाते हैं और उन प्रभावों को देखकर ही उस की वास्तविकता, उस की उपस्थिति तथा उसके बल का आंकलन कर लेते हैं।

   ऐसे ही परमेश्वर के पवित्र आत्मा के विषय में भी है - हम अपनी भौतिक आँखों से उसे देख तो नहीं पाते किंतु उसके द्वारा लोगों के जीवनों में लाए गए परिणामों के द्वारा हम उसके कार्य और सामर्थ को पहचान सकते हैं। परमेश्वर के वचन बाइबल में प्रेरितों के कार्य के दूसरे अध्याय में पवित्र-आत्मा के द्वारा पिन्तेकुस्त के दिन मसीही विश्वासियों के उससे भरे जाने का विवरण दर्ज है: "और एकाएक आकाश से बड़ी आंधी की सी सनसनाहट का शब्द हुआ, और उस से सारा घर जहां वे बैठे थे, गूंज गया" (प्रेरितों 2:2)। यह घटना उन प्रारंभिक मसीही विश्वासियों तथा यरुशलेम के निवासियों के लिए एक प्रत्यक्ष प्रमाण था कि परमेश्वर का पवित्र आत्मा मसीही विश्वासियों के जीवनों में कार्यरत है।

   परमेश्वर का पवित्र आत्मा आज भी हम सभी मसीही विश्वासियों के जीवन में कार्यरत है, इसलिए यदि आप मसीही विश्वासी हैं तो उत्साहित हों और परमेश्वर के कार्यों को पहिचानें। पवित्र आत्मा आपके जीवन में ईश्वरीय गुणों के फल लाता है (गलतियों 5:22-23), सभी मसीही विश्वासियों को एक देह बनाता है (1 कुरिन्थियों 12:13) और सबको परमेश्वर की उपस्थिति का विश्वास दिलाता है (1 यूहन्ना 3:4)।

   परमेश्वर का पवित्र आत्मा हम मसीही विश्वासियों के जीवनों में कार्यरत एक सामर्थी व्यक्ति है; चाहे हम उसे देख नहीं सकते किंतु उसके द्वारा हमारे जीवनों में होने वाले कार्य और प्रभाव उसकी वास्तविकता और सामर्थ की पहचान हैं। - बिल क्राउडर


पवित्र आत्मा अदृश्य किंतु सामर्थी रीति से कार्य करता है।

तब उसने मुझे उत्तर देकर कहा, जरूब्बाबेल के लिये यहोवा का यह वचन है : न तो बल से, और न शक्ति से, परन्तु मेरे आत्मा के द्वारा होगा, मुझ सेनाओं के यहोवा का यही वचन है। हे बड़े पहाड़, तू क्या है? जरूब्बाबेल के साम्हने तू मैदान हो जाएगा; और वह चोटी का पत्थर यह पुकारते हुए आएगा, उस पर अनुग्रह हो, अनुग्रह! - ज़कर्याह 4:6-7

बाइबल पाठ: प्रेरितों 2:1-11
Acts 2:1 जब पिन्‍तेकुस का दिन आया, तो वे सब एक जगह इकट्ठे थे। 
Acts 2:2 और एकाएक आकाश से बड़ी आंधी की सी सनसनाहट का शब्द हुआ, और उस से सारा घर जहां वे बैठे थे, गूंज गया। 
Acts 2:3 और उन्हें आग की सी जीभें फटती हुई दिखाई दीं; और उन में से हर एक पर आ ठहरीं। 
Acts 2:4 और वे सब पवित्र आत्मा से भर गए, और जिस प्रकार आत्मा ने उन्हें बोलने की सामर्थ दी, वे अन्य अन्य भाषा बोलने लगे। 
Acts 2:5 और आकाश के नीचे की हर एक जाति में से भक्त यहूदी यरूशलेम में रहते थे। 
Acts 2:6 जब वह शब्द हुआ तो भीड़ लग गई और लोग घबरा गए, क्योंकि हर एक को यही सुनाईं देता था, कि ये मेरी ही भाषा में बोल रहे हैं। 
Acts 2:7 और वे सब चकित और अचम्भित हो कर कहने लगे; देखो, ये जो बोल रहे हैं क्या सब गलीली नहीं? 
Acts 2:8 तो फिर क्यों हम में से हर एक अपनी अपनी जन्म भूमि की भाषा सुनता है? 
Acts 2:9 हम जो पारथी और मेदी और एलामी लोग और मिसुपुतामिया और यहूदिया और कप्‍पदूकिया और पुन्‍तुस और आसिया। 
Acts 2:10 और फ्रूगिया और पमफूलिया और मिसर और लिबूआ देश जो कुरेने के आस पास है, इन सब देशों के रहने वाले और रोमी प्रवासी, क्या यहूदी क्या यहूदी मत धारण करने वाले, क्रेती और अरबी भी हैं। 
Acts 2:11 परन्तु अपनी अपनी भाषा में उन से परमेश्वर के बड़े बड़े कामों की चर्चा सुनते हैं।

एक साल में बाइबल: 
  • नीतिवचन 1-3