बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Tuesday, August 5, 2014

पूर्णतया साफ


   मेरा एक मित्र अपने पिछले वर्ष के जीवन अनुभवों के बारे में मुझे बता रहा था, जिस में वह कैंसर के लिए इलाज ले रहा था। उसके चेहरे पर छाई हुई मुस्कुराहट उस अच्छे समाचार का, जो अभी हाल ही में उसे मिला था, सशक्त प्रमाण थी। उसने बताया कि उसके इलाज के पूरा होने के एक वर्ष पश्चात की जाँच से पता चला कि अब वह कैंसर के सभी लक्षणों से पूर्ण्तया साफ है! ये दो शब्द, "पूर्ण्तया साफ" कितना भारी प्रभाव रखते हैं। मेरे उस मित्र के लिए इन दो शब्दों का अर्थ था कि अब उसके शरीर में से उसकी जान को खतरे में डालने वाले रोग के सभी अंश बिलकुल समाप्त हो चुके थे, अब खतरा टल चुका था और हम सब अपने मित्र के साथ इस बात के लिए आनन्दित हुए।

   राजा दाऊद भी बतशीबा के साथ अपनी नैतिक पराजय को झेलने के बाद अपने हृदय के लिए ऐसी ही दशा प्राप्त करने को लालायित था। अपने पापों के दाग़ों के धोए जाने की इच्छा लिए वह परमेश्वर से गुहार लगाता है: "हे परमेश्वर, मेरे अन्दर शुद्ध मन उत्पन्न कर, और मेरे भीतर स्थिर आत्मा नये सिरे से उत्पन्न कर" (भजन 51:10)। उस समय दाऊद के लिए, और आज हमारे लिए भला समाचार यह है कि हमारे सब पापों के दाग़ धोए जा सकते हैं, हम पूर्णतया साफ हो सकते हैं, बस हमें परमेश्वर के वायदे पर भरोसा करते हुए उसके कथन का पालन करना है: "यदि हम अपने पापों को मान लें, तो वह हमारे पापों को क्षमा करने, और हमें सब अधर्म से शुद्ध करने में विश्वासयोग्य और धर्मी है" (1 यूहन्ना 1:9)।

   हम पाप से मलिन अपने हृदयों को अपने आप साफ नहीं कर सकते, यह कार्य केवल परमेश्वर ही कर सकता है। हम केवल अपने पापों को लेकर, उसके प्रेम और क्षमा पर विश्वास रखते हुए, उसके आश्वासन के अनुसार उसके पास आकर उन पापों और अपराधों को उसके समक्ष स्वीकार कर सकते हैं, उनके लिए पश्चाताप कर सकते हैं; और प्रभु यीशु में लाए गए विश्वास में होकर परमेश्वर से पापों की क्षमा तथा नया जीवन को उसके अनुग्रह की भेंट के रूप में स्वीकार कर सकते हैं। समस्त मानव जाति के सभी लोगों के लिए यह परमेश्वर का अटल वायदा है कि वह हमें हमारे पापों के हर दाग़ से पूर्णतया साफ कर देगा। - बिल क्राउडर


परमेश्वर से किए गए पाप अंगीकार और पश्चाताप का प्रतिफल सदा ही उससे मिलने वाली क्षमा और पवित्रता ही होता है।

जब मैं ने अपना पाप तुझ पर प्रगट किया और अपना अधर्म न छिपाया, और कहा, मैं यहोवा के साम्हने अपने अपराधों को मान लूंगा; तब तू ने मेरे अधर्म और पाप को क्षमा कर दिया। - भजन 32:5

बाइबल पाठ: 1 यूहन्ना 1:1-10
1 John 1:1 उस जीवन के वचन के विषय में जो आदि से था, जिसे हम ने सुना, और जिसे अपनी आंखों से देखा, वरन जिसे हम ने ध्यान से देखा; और हाथों से छूआ। 
1 John 1:2 (यह जीवन प्रगट हुआ, और हम ने उसे देखा, और उस की गवाही देते हैं, और तुम्हें उस अनन्त जीवन का समाचार देते हैं, जो पिता के साथ था, और हम पर प्रगट हुआ)। 
1 John 1:3 जो कुछ हम ने देखा और सुना है उसका समाचार तुम्हें भी देते हैं, इसलिये कि तुम भी हमारे साथ सहभागी हो; और हमारी यह सहभागिता पिता के साथ, और उसके पुत्र यीशु मसीह के साथ है। 
1 John 1:4 और ये बातें हम इसलिये लिखते हैं, कि हमारा आनन्द पूरा हो जाए।
1 John 1:5 जो समाचार हम ने उस से सुना, और तुम्हें सुनाते हैं, वह यह है; कि परमेश्वर ज्योति है: और उस में कुछ भी अन्धकार नहीं। 
1 John 1:6 यदि हम कहें, कि उसके साथ हमारी सहभागिता है, और फिर अन्धकार में चलें, तो हम झूठे हैं: और सत्य पर नहीं चलते। 
1 John 1:7 पर यदि जैसा वह ज्योति में है, वैसे ही हम भी ज्योति में चलें, तो एक दूसरे से सहभागिता रखते हैं; और उसके पुत्र यीशु का लोहू हमें सब पापों से शुद्ध करता है। 
1 John 1:8 यदि हम कहें, कि हम में कुछ भी पाप नहीं, तो अपने आप को धोखा देते हैं: और हम में सत्य नहीं। 
1 John 1:9 यदि हम अपने पापों को मान लें, तो वह हमारे पापों को क्षमा करने, और हमें सब अधर्म से शुद्ध करने में विश्वासयोग्य और धर्मी है। 
1 John 1:10 यदि कहें कि हम ने पाप नहीं किया, तो उसे झूठा ठहराते हैं, और उसका वचन हम में नहीं है।

एक साल में बाइबल: 
  • यशायाह 28-30