बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Sunday, December 21, 2014

मधुर वचन


   स्कॉट सदा ही अपने सास-ससुर के बीच के संबंध को सराहता था। एक दिन उसने उन से पूछ ही लिया कि वह क्या बात है जो उनके विवाहित जीवन को सफल बनाए रखती है। उसके ससुर केन ने उत्तर दिया, "उसे मधुर बनाए रखना!"

   मेरी एक सहेली मुझे, मेरे पति और अन्य मित्रों को लिखे अपने छोटे-छोटे पत्रों का अन्त सदा ही इस वाक्य के साथ करती है: "एक दुसरे के प्रति भले बने रहने को कभी नहीं भूलना"। स्कॉट के ससुर, और मेरी सहेली, दोनों ही के द्वारा दी गई ये बहुत ही अच्छी सलाह है। दैनिक जीवन की व्यस्तता और परेशानियाँ अपने जीवनसाथी या अन्य लोगों के साथ व्यवहार में बड़ी सरलता से चिड़चिड़ापन ले आती हैं। हम छोटी -छोटी बातों या गलतियों को लेकर कुड़कुड़ाने लगते हैं, और बिना सोचे-समझे कठोर तथा हानिकारक शब्द कह बैठते हैं।

   परमेश्वर के वचन बाइबल में नीतिवचन नामक पुस्तक में दूसरों के प्रति प्रयोग किए जाने वाले शब्दों के बारे में अनेक स्थानों पर अच्छी सलाह दी गई है; जैसे कि, "जो अपने मुंह को वश में रखता है वह अपने प्राण को विपत्तियों से बचाता है" (नीतिवचन 21:23)। वहाँ कुछ चेतावनियाँ भी दी गई हैं: "जीभ के वश में मृत्यु और जीवन दोनों होते हैं, और जो उसे काम में लाना जानता है वह उसका फल भोगेगा" (नीतिवचन 18:21); तथा, "ऐसे लोग हैं जिनका बिना सोच विचार का बोलना तलवार की नाईं चुभता है, परन्तु बुद्धिमान के बोलने से लोग चंगे होते हैं" (नीतिवचन 12:18)। स्कॉट के ससुर केन की मधुर रखने की सलाह मुझे नीतिवचन 16:24 स्मरण दिलाती है: "मन भावने वचन मधु भरे छते की नाईं प्राणों को मीठे लगते, और हड्डियों को हरी-भरी करते हैं"।
  
 हे परमेश्वर, हमारे मनों और मूँह को ऐसे मधुर वचनों से भरें जो दूसरों के लिए आशीषमय हों। - ऐनी सेटास


दयालु मन बगीचा हैं; दयालु विचार जड़ें; दयालु वचन फूल हैं; दयालु कार्य फल।

इसलिये परमेश्वर के चुने हुओं की नाईं जो पवित्र और प्रिय हैं, बड़ी करूणा, और भलाई, और दीनता, और नम्रता, और सहनशीलता धारण करो। - कुलुस्सियों 3:12

बाइबल पाठ: नीतिवचन 16:19-24
Proverbs 16:19 घमण्डियों के संग लूट बांट लेने से, दीन लोगों के संग नम्र भाव से रहना उत्तम है। 
Proverbs 16:20 जो वचन पर मन लगाता, वह कल्याण पाता है, और जो यहोवा पर भरोसा रखता, वह धन्य होता है। 
Proverbs 16:21 जिसके हृदय में बुद्धि है, वह समझ वाला कहलाता है, और मधुर वाणी के द्वारा ज्ञान बढ़ता है।
Proverbs 16:22 जिसके बुद्धि है, उसके लिये वह जीवन का सोता है, परन्तु मूढ़ों को शिक्षा देना मूढ़ता ही होती है। 
Proverbs 16:23 बुद्धिमान का मन उसके मुंह पर भी बुद्धिमानी प्रगट करता है, और उसके वचन में विद्या रहती है। 
Proverbs 16:24 मन भावने वचन मधु भरे छते की नाईं प्राणों को मीठे लगते, और हड्डियों को हरी-भरी करते हैं।

एक साल में बाइबल: 
  • 1 पतरस 3-5