बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Tuesday, December 1, 2015

प्रतीक्षा


   क्रिसमस के इस समय और माहौल में हमें अनेक बातों के लिए प्रतीक्षा में रहना पड़ता है। हम सड़कों की भीड़ में फंसे, यातायात के आगे बढ़ने की प्रतीक्षा करते हैं; हम दुकानों में खरीद्दारी करके, कीमत चुकाने के लिए पंक्ति में खड़े प्रतीक्षा करते हैं; हम इस पर्व को इकट्ठे मनाने के लिए परिवारजनों के आने की प्रतीक्षा करते हैं; मेज़ पर स्वादिष्ट तथा मनपसन्द भोजन परोसे जाने के बाद हम उसे खाने के लिए सब के एकत्र होने की प्रतीक्षा करते हैं; हम अपने उपहारों को खोलने और देखने की प्रतीक्षा करते हैं।

   यह सारी प्रतीक्षा हम मसीही विश्वासियों को यह भी स्मरण कराती है कि क्रिसमस केवल परंपरा और छुट्टी मनाने का ही नहीं वरन एक अन्य बहुत महत्वपूर्ण बात की प्रतीक्षा का भी पर्व है - प्रभु यीशु के दोबारा आगमन की प्रतीक्षा का। अब से लगभग 2000 वर्ष पूर्व प्रभु यीशु का प्रथम आगमन उनके सारे जगत के समस्त लोगों के लिए उद्धारकर्ता के रूप में था; अब उनका दूसरा आगमन संसार के शासक के रूप में न्याय करने और उन्हें अपने साथ रहने के लिए एकत्रित करने के लिए होगा जिन्होंने उनपर विश्वास किया और अपना जीवन उन्हें समर्पित किया है, और वे फिर प्रभु के साथ संसार पर राज्य करेंगे।

   साथ ही क्रिसमस हमें यह भी स्मरण कराता है कि परमेश्वर भी प्रतीक्षा कर रहा है; परमेश्वर प्रतीक्षा कर रहा है कि लोग उसकी हस्ति, महिमा और गौरव पर ध्यान करें, उनके प्रति उसके प्रेम को पहिचानें, अपने पापों से पश्चाताप करें, उससे पापों की क्षमा प्राप्त करें, समझने पाएं कि उसके बिना वे अपने पापों के दोष में अनन्तकाल के लिए विनाश में जाने के खतरे में जी रहे हैं। जो हमें प्रभु के दूसरे आगमन में देरी लगती है वह वास्तव में प्रभु का प्रेम और धैर्य है जिससे अधिक से अधिक लोगों को अवसर मिले और वे अनन्तकाल के विनाश से बच सकें (2पतरस 3:9)।

   प्रभु उनके साथ, जिन्हें वह प्रेम करता है एक अनन्तकाल का संबंध बनाने की प्रतीक्षा में है। इस संबंध को बनाने के लिए उसने ही पहल करी जब वह संसार में मानव रूप में अवतरित हुआ और सबके पापों के लिए अपना बलिदान दिया और फिर सबके उद्धार के लिए तीसरे दिन मृतकों में से जी उठा। आज वह प्रतीक्षा कर रहा है कि संसार के लोग उसे अपने जीवनों में आमंत्रित करें, अपना मुक्तिदाता और प्रभु स्वीकार करें। - जूली ऐकैअरमैन लिंक


परमेश्वर धीरज के साथ अपने सभी वायदे पूरे करता है।

प्रभु अपनी प्रतिज्ञा के विषय में देर नहीं करता, जैसी देर कितने लोग समझते हैं; पर तुम्हारे विषय में धीरज धरता है, और नहीं चाहता, कि कोई नाश हो; वरन यह कि सब को मन फिराव का अवसर मिले। - 2 पतरस 3:9

बाइबल पाठ: यूहन्ना 14:1-6
John 14:1 तुम्हारा मन व्याकुल न हो, तुम परमेश्वर पर विश्वास रखते हो मुझ पर भी विश्वास रखो। 
John 14:2 मेरे पिता के घर में बहुत से रहने के स्थान हैं, यदि न होते, तो मैं तुम से कह देता क्योंकि मैं तुम्हारे लिये जगह तैयार करने जाता हूं। 
John 14:3 और यदि मैं जा कर तुम्हारे लिये जगह तैयार करूं, तो फिर आकर तुम्हें अपने यहां ले जाऊंगा, कि जहां मैं रहूं वहां तुम भी रहो। 
John 14:4 और जहां मैं जाता हूं तुम वहां का मार्ग जानते हो। 
John 14:5 थोमा ने उस से कहा, हे प्रभु, हम नहीं जानते कि तू हां जाता है तो मार्ग कैसे जानें? 
John 14:6 यीशु ने उस से कहा, मार्ग और सच्चाई और जीवन मैं ही हूं; बिना मेरे द्वारा कोई पिता के पास नहीं पहुंच सकता।

एक साल में बाइबल: 
  • यहेजकेल 40-41
  • 2पतरस 3