बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Wednesday, October 5, 2016

चिन्ह


   मैं स्कॉटलैंड में ग्लासगो से एडिनबरा की ओर सड़क से यात्रा कर रहा था, और उस इलाके में सड़क के दोनों ओर चारागाहों के सुन्दर दृश्य का आनन्द ले रहा था कि तभी एक हास्यास्पद दृश्य ने मेरा ध्यान अपनी ओर खींचा। कुछ दूरी पर, एक टीले के ऊपर गुलाबी रंग दी गई भेड़ों का एक झुण्ड चर रहा था!

   मैं जानता हूँ कि अपने झुण्ड की पहचान करने के लिए चरवाहे अपने जानवरों पर एक विशेष रंग से कुछ चिन्ह बना देते हैं - लेकिन यहाँ तो चरवाहे ने प्रत्येक भेड़ को पूरा का पूरा ही गुलाबी रंग से रंग दिया था, और वे भेड़ें बिलकुल अलग ही दिखाई दे रही थीं। उस इलाके में सभी जानते होंगे कि उन भेड़ों का चरवाहा कौन है।

   परमेश्वर के वचन बाइबल में प्रभु यीशु ने अपने अनुयायियों को भी अपने भेड़ें कहा है, और उनकी पहचान के लिए एक विशेष चिन्ह भी दिया है। मसीह यीशु के अनुयायी का यह विशेष चिन्ह क्या है? कैसे पहचान करी जा सकती है कि कौन प्रभु यीशु का जन है?

   यूहन्ना रचित सुसमाचार में, उस अच्छे चरवाहे - प्रभु यीशु ने यह पहचान चिन्ह बताया है - प्रेम: "मैं तुम्हें एक नई आज्ञा देता हूं, कि एक दूसरे से प्रेम रखो: जैसा मैं ने तुम से प्रेम रखा है, वैसा ही तुम भी एक दुसरे से प्रेम रखो। यदि आपस में प्रेम रखोगे तो इसी से सब जानेंगे, कि तुम मेरे चेले हो" (यूहन्ना 13:34-35)। अपने व्यवहार और वचन, दोनों ही से एक मसीही विश्वासी को अपने आस-पास के सभी लोगों से प्रेम दिखाना चाहिए, जैसा कि प्रेरित युहन्ना ने अपनी पत्री में लिखा है (1 यूहन्ना 4:11)।

   औरों के प्रति एक मसीही विश्वासी का प्रेम वैसा ही प्रत्यक्ष और सर्वविदित पहचान चिन्ह होना चाहिए जैसा स्कॉटलैंड की उन भेड़ों का गुलाबी रंग उनके चरवाहे का था। - डेव ब्रैनन


मसीही विशवासी होने के नाते, हमारा प्रेम भरा आचरण 
हमें भीड़ में अलग ही प्रकट करने वाला होना चाहिए।

हे प्रियो, जब परमेश्वर ने हम से ऐसा प्रेम किया, तो हम को भी आपस में प्रेम रखना चाहिए। - 1 यूहन्ना 4:11 

बाइबल पाठ: यूहन्ना 10:7-18
John 10:7 तब यीशु ने उन से फिर कहा, मैं तुम से सच सच कहता हूं, कि भेड़ों का द्वार मैं हूं। 
John 10:8 जितने मुझ से पहिले आए; वे सब चोर और डाकू हैं परन्तु भेड़ों ने उन की न सुनी। 
John 10:9 द्वार मैं हूं: यदि कोई मेरे द्वारा भीतर प्रवेश करे तो उद्धार पाएगा और भीतर बाहर आया जाया करेगा और चारा पाएगा। 
John 10:10 चोर किसी और काम के लिये नहीं परन्तु केवल चोरी करने और घात करने और नष्‍ट करने को आता है। मैं इसलिये आया कि वे जीवन पाएं, और बहुतायत से पाएं। 
John 10:11 अच्छा चरवाहा मैं हूं; अच्छा चरवाहा भेड़ों के लिये अपना प्राण देता है। 
John 10:12 मजदूर जो न चरवाहा है, और न भेड़ों का मालिक है, भेड़िए को आते हुए देख, भेड़ों को छोड़कर भाग जाता है, और भेड़िय़ा उन्हें पकड़ता और तित्तर बित्तर कर देता है। 
John 10:13 वह इसलिये भाग जाता है कि वह मजदूर है, और उसको भेड़ों की चिन्‍ता नहीं। 
John 10:14 अच्छा चरवाहा मैं हूं; जिस तरह पिता मुझे जानता है, और मैं पिता को जानता हूं। 
John 10:15 इसी तरह मैं अपनी भेड़ों को जानता हूं, और मेरी भेड़ें मुझे जानती हैं, और मैं भेड़ों के लिये अपना प्राण देता हूं। 
John 10:16 और मेरी और भी भेड़ें हैं, जो इस भेड़शाला की नहीं; मुझे उन का भी लाना अवश्य है, वे मेरा शब्द सुनेंगी; तब एक ही झुण्ड और एक ही चरवाहा होगा। 
John 10:17 पिता इसलिये मुझ से प्रेम रखता है, कि मैं अपना प्राण देता हूं, कि उसे फिर ले लूं। 
John 10:18 कोई उसे मुझ से छीनता नहीं, वरन मैं उसे आप ही देता हूं: मुझे उसके देने का अधिकार है, और उसे फिर लेने का भी अधिकार है: यह आज्ञा मेरे पिता से मुझे मिली है।

एक साल में बाइबल: 
  • यशायाह 23-25
  • फिलिप्पियों 1