बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Saturday, February 3, 2018

प्रशिक्षण


   हाल ही में मैं एक ऐसी महिला से मिली जिसने अपने शरीर और मन को सीमा तक धकेल रखा है। उसने पहाड़ चढ़े हैं, मृत्यु का सामना किया है, और गिनीज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स का एक रिकॉर्ड भी थोड़ा है। अब वह एक भिन्न चुनौती से जूझ रही है – विशेष आवश्यकताओं वाले अपने बच्चे की देखाभाल और परवरिश में। जिस विश्वास और साहस का प्रयोग उसने पहाड़ चढ़ने के लिए किया था उसे अब वह मात्रत्व में लगा रही है।

            परमेश्वर के वचन बाइबल के 1 कुरिन्थियों में, प्रेरित पौलुस एक ऐसे धावक की उपमा देता है जो दौड़ प्रतिस्पर्धा में है। एक ऐसी कलीसिया को संबोधित करते हुए जो अपने अधिकारों के प्रति आसक्त थी (अध्याय 8), वह उन से आग्रह करता है कि वे एक दूसरे की भलाई का ध्यान करें। मसीह यीशु के अनुयायी होने के नाते, उन्हें मसीह की आज्ञाकारिता के प्रति अपने अधिकारों का त्याग करना है। वह उन्हें समझाता है कि कैसे प्रेम और स्वयं के बलिदान का जीवन जीने को वह धीरज की लंबी दौड़ मानता है (अध्याय 9)।

   जैसे खिलाड़ी अपने शरीरों को प्रशिक्षित करते हैं जिससे कि वे मुकुट को जीत सकें, हमें भी अपने शरीरों और मनों को प्रशिक्षित करना है कि हम अपनी आत्माओं की उन्नति कर सकें। हम हमारे अन्दर निवास करने वाले परमेश्वर पवित्र-आत्मा से विनती करते हैं कि पल-पल हमें हमारे उद्धारकर्ता प्रभु के स्वरूप में परिवर्तित करते रहें, जिससे हम अपने पुराने मनुष्यत्व को पीछे छोड़ सकें। इस प्रकार, परमेश्वर से सामर्थ्य प्राप्त कर के, आवेश और क्रोध के समय में हम कोई कठोर शब्द बोलने से अपने आप को रोक लेते हैं; जब अपने मित्रों के साथ संगति में हों तो अपने इलेक्ट्रौनिक उपकरणों को बन्द करके उनके प्रति अपने ध्यान को लगाते हैं; किसे चर्चा या असहमति में अंतिम शब्द कहने की होड़ में नहीं रहते हैं।

   हम जब प्रभु यीशु मसीह की आत्मा में होकर आज के दिन की अपनी दौड़ को दौड़ने की तैयारी में हैं, तो परमेश्वर से क्या चाहेंगे कि वह हमारे अन्दर सुधारे और हमें किस रीति से ढाले? – एमी बाउचर पाई


प्रशिक्षण से परिवर्तन ता है।

परन्तु जब हम सब के उघाड़े चेहरे से प्रभु का प्रताप इस प्रकार प्रगट होता है, जिस प्रकार दर्पण में, तो प्रभु के द्वारा जो आत्मा है, हम उसी तेजस्‍वी रूप में अंश अंश कर के बदलते जाते हैं। - 2 कुरिन्थियों 3:18

बाइबल पाठ: 1 कुरिन्थियों 9:24-27
1 Corinthians 9:24 क्या तुम नहीं जानते, कि दौड़ में तो दौड़ते सब ही हैं, परन्तु इनाम एक ही ले जाता है तुम वैसे ही दौड़ो, कि जीतो।
1 Corinthians 9:25 और हर एक पहलवान सब प्रकार का संयम करता है, वे तो एक मुरझाने वाले मुकुट को पाने के लिये यह सब करते हैं, परन्तु हम तो उस मुकुट के लिये करते हैं, जो मुरझाने का नहीं।