बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Wednesday, July 4, 2018

पुकारें



      मेरे देश में महिलाओं की एक प्रार्थना मण्डली प्रति माह घाना और अन्य अफ्रीकी देशों के लिए नियमित प्रार्थना के सत्र आयोजित करती है। जब उनसे पूछा गया कि वे देशों के लिए नियमित निरंतर प्रार्थनाएं क्यों करते रहते हैं, तो उनकी अगुआ ने उत्तर दिया, “अपने आस-पास देखिए, समाचारों को सुनिए और देखिए। हमारे देश पीड़ित हैं: युद्ध, बीमारियाँ, और हिंसा, परमेश्वर के मनुष्यों के लिए प्रेम और आशीषों पर हावी हुआ चाहती हैं। हमारा विश्वास है कि परमेश्वर राष्ट्रों के कार्यों में हस्तक्षेप करता है, इसलिए हम उसकी आशीषों के लिए उसका धन्यवाद करते और उसके हस्तक्षेप करने के लिए उसे पुकारते हैं।”

      परमेश्वर का वचन बाइबल हमें सिखाती है कि वास्तव में परमेश्वर राष्ट्रों के कार्यों में हस्तक्षेप करता है (2 इतिहास 7:14)। और अपने हस्तक्षेप के लिए वह सामान्य लोगों को प्रयोग करता है। आवश्यक नहीं कि वह हमें कोई बड़ा या जटिल कार्य करने के लिए दे, परन्तु जो भी कार्य वह देता है, वह चाहे प्रार्थना करते रहना ही हो, हम उसके माध्यम से उस शान्ति और धार्मिकता को लाने में अपना योगदान दे सकते हैं, जिसके द्वारा राष्ट्र की उन्नति होती है: “जाति की बढ़ती धर्म ही से होती है, परन्तु पाप से देश के लोगों का अपमान होता है” (नीतिवचन 14:34)। पौलुस प्रेरित ने लिखा, “अब मैं सब से पहिले यह उपदेश देता हूं, कि बिनती, और प्रार्थना, और निवेदन, और धन्यवाद, सब मनुष्यों के लिये किए जाएं। राजाओं और सब ऊंचे पद वालों के निमित्त इसलिये कि हम विश्राम और चैन के साथ सारी भक्ति और गम्भीरता से जीवन बिताएं” (1 तिमुथियुस 2:1-2)।

      जिस प्रकार भजनकार ने प्राचीन इस्राएलियों को प्रोत्साहित किया कि वे “यरूशलेम की शान्ति के लिए प्रार्थना करने” में समय बिताएं (भजन 122:6), उसी प्रकार हम भी अपने-अपने देशों की शान्ति और चंगाई के लिए प्रार्थना करने में समय बिताएं। जब हम अपनी बुराई से फिर कर नम्र होकर प्रार्थना करेंगे और उसके खोजी होंगे, वह हमारी सुनेगा। - लॉरेंस दरमानी


अधिकारियों के लिए प्रार्थना करना कर्तव्य भी है और विशेषाधिकार भी।

तब यदि मेरी प्रजा के लोग जो मेरे कहलाते हैं, दीन हो कर प्रार्थना करें और मेरे दर्शन के खोजी हो कर अपनी बुरी चाल से फिरें, तो मैं स्वर्ग में से सुन कर उनका पाप क्षमा करूंगा और उनके देश को ज्यों का त्यों कर दूंगा। - 2 इतिहास 7:14

बाइबल पाठ: भजन 122:6-9
Psalms 122:6 यरूशलेम की शान्ति का वरदान मांगो, तेरे प्रेमी कुशल से रहें!
Psalms 122:7 तेरी शहरपनाह के भीतर शान्ति, और तेरे महलों में कुशल होवे!
Psalms 122:8 अपने भाइयों और संगियों के निमित्त, मैं कहूंगा कि तुझ में शान्ति होवे!
Psalms 122:9 अपने परमेश्वर यहोवा के भवन के निमित्त, मैं तेरी भलाई का यत्न करूंगा।
                                                 

एक साल में बाइबल: 
  • अय्यूब 28-29
  • प्रेरितों 13:1-25