बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Monday, September 9, 2019

परमेश्वर



      लेखक और पास्टर इरविन लुत्ज़र ने टेलिविज़न के कार्यक्रमों में मेज़बान बनने वाले आर्ट लिंक्लेटर और एक छोटे लड़के की कहानी दोहराई। वह लड़का परमेश्वर का एक चित्र बना रहा था। उसे यह करता देख कर, लिंक्लेटर ने मुस्कुराते हुए उससे कहा, “तुम ऐसा नहीं कर सकते हो क्योंकि कोई नहीं जानता है कि परमेश्वर कैसा दिखाई देता है!” उस लड़के ने बिना किसी हिचकिचाहट के तुरंत ही उत्तर दिया, “मैं जब अपना काम पूरा कर लूँगा, तब सब जान जाएँगे।”

      हम अचरज कर सकते हैं कि परमेश्वर कैसा है? क्या वह भला है? क्या वह दयालु है? क्या वह चिंता करता है? इन प्रश्नों का उत्तर हमें परमेश्वर के वचन बाइबल में प्रभु यीशु द्वारा, उनके एक शिष्य फिलिप्पुस द्वारा किए गए एक आग्रह, “हे प्रभु, पिता को हमें दिखा दे: यही हमारे लिये बहुत है” का प्रभु द्वारा दिए गए उत्तर में मिलता है। प्रभु यीशु ने कहा, “हे फिलेप्पुस, मैं इतने दिन से तुम्हारे साथ हूं, और क्या तू मुझे नहीं जानता? जिसने मुझे देखा है उसने पिता को देखा है: तू क्यों कहता है कि पिता को हमें दिखा” (यूहन्ना 14:8-9)।

      यदि आप में कभी भी परमेश्वर को देखने की जिज्ञासा जागृत हो, तो प्रभु यीशु की ओर देखें। पौलुस ने कहा, “वह तो अदृश्य परमेश्वर का प्रतिरूप और सारी सृष्‍टि में पहिलौठा है” (कुलुस्सियों 1:15)। बाइबल के नए नियम खण्ड के आरंभ के चारों सुसमाचारों: मत्ती, मरकुस, लूका, यूहन्ना को पढ़िए। उनमें प्रभु यीशु ने जो कुछ किया और कहा उस पर मनन कीजिए, और पढ़ते हुए उसके आधार पर अपने मन में प्रभु परमेश्वर का एक चित्र बनाईए। जब आप पूरा पढ़ चुकेंगे तो आप बहुत कुछ जान चुकेंगे कि परमेश्वर क्या और कैसा है।

      एक बार मेरे एक मित्र ने मुझ से कहा था कि जिस एकमात्र परमेश्वर को वह विश्वास करने के योग्य पाता है वह वही है जो उसे प्रभु यीशु में होकर दिखाई देता है। यदि आप ध्यान से देखेंगे तो मेरा मानना है कि आप भी उसके साथ सहमत होंगे। जब आप उसके बारे में पढ़ेंगे, तो आपका हृदय पुलकित होगा, क्योंकि चाहे आप यह न जानते हों, परन्तु प्रभु यीशु ही वह परमेश्वर है जिसे आप जीवन भर खोजते आए हैं। - डेविड रोपर

हम जितनी अधिक स्पष्टता से परमेश्वर को देखते हैं, 
उतनी ही अधिक स्पष्टता से अपने आप को देखने पाते हैं। - इरविन लुत्ज़र

इसलिये कि परमेश्वर ही है, जिसने कहा, कि अन्धकार में से ज्योति चमके; और वही हमारे हृदयों में चमका, कि परमेश्वर की महिमा की पहिचान की ज्योति यीशु मसीह के चेहरे से प्रकाशमान हो। - 2 कुरिन्थियों 4:6

बाइबल पाठ: यूहन्ना 14:1-12
John 14:1 तुम्हारा मन व्याकुल न हो, तुम परमेश्वर पर विश्वास रखते हो मुझ पर भी विश्वास रखो।
John 14:2 मेरे पिता के घर में बहुत से रहने के स्थान हैं, यदि न होते, तो मैं तुम से कह देता क्योंकि मैं तुम्हारे लिये जगह तैयार करने जाता हूं।
John 14:3 और यदि मैं जा कर तुम्हारे लिये जगह तैयार करूं, तो फिर आकर तुम्हें अपने यहां ले जाऊंगा, कि जहां मैं रहूं वहां तुम भी रहो।
John 14:4 और जहां मैं जाता हूं तुम वहां का मार्ग जानते हो।
John 14:5 थोमा ने उस से कहा, हे प्रभु, हम नहीं जानते कि तू हां जाता है तो मार्ग कैसे जानें?
John 14:6 यीशु ने उस से कहा, मार्ग और सच्चाई और जीवन मैं ही हूं; बिना मेरे द्वारा कोई पिता के पास नहीं पहुंच सकता।
John 14:7 यदि तुम ने मुझे जाना होता, तो मेरे पिता को भी जानते, और अब उसे जानते हो, और उसे देखा भी है।
John 14:8 फिलेप्पुस ने उस से कहा, हे प्रभु, पिता को हमें दिखा दे: यही हमारे लिये बहुत है।
John 14:9 यीशु ने उस से कहा; हे फिलेप्पुस, मैं इतने दिन से तुम्हारे साथ हूं, और क्या तू मुझे नहीं जानता? जिसने मुझे देखा है उसने पिता को देखा है: तू क्यों कहता है कि पिता को हमें दिखा।
John 14:10 क्या तू प्रतीति नहीं करता, कि मैं पिता में हूं, और पिता मुझ में हैं? ये बातें जो मैं तुम से कहता हूं, अपनी ओर से नहीं कहता, परन्तु पिता मुझ में रहकर अपने काम करता है।
John 14:11 मेरी ही प्रतीति करो, कि मैं पिता में हूं; और पिता मुझ में है; नहीं तो कामों ही के कारण मेरी प्रतीति करो।
John 14:12 मैं तुम से सच सच कहता हूं, कि जो मुझ पर विश्वास रखता है, ये काम जो मैं करता हूं वह भी करेगा, वरन इन से भी बड़े काम करेगा, क्योंकि मैं पिता के पास जाता हूं।

एक साल में बाइबल: 
  • नीतिवचन 6-7
  • 2 कुरिन्थियों 2