बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Tuesday, December 31, 2019

स्मृतियाँ



      परमेश्वर के स्तुतिगान के स्वरों से भरे चर्च में प्रवेश करते ही मैंने उस नए-साल की पूर्व संध्या पर एकत्रित हुए लोगों की भीड़ को देखा, और उसपर एक नज़र दौड़ाई। उन सब को देखकर मेरा हृदय आनन्द और आशा से भर गया; मुझे बीते हुए वर्ष की प्रार्थनाएं स्मरण हो आईं। हमारी चर्च-मण्डली ने सामूहिक रूप से बिगड़े हुए बच्चों, प्रिय जनों के देहांत, लोगों के कार्यों की हानि, और टूटे हुए रिश्तों के लिए शोक मनाया था, उनके लिए प्रार्थनाएं की थीं। हमने परमेश्वर के अनुग्रह का स्वाद भी चखा था जब हमने हृदयों को परिवर्तित होते, और व्यक्तिगत संबंधों को सुधरते हुए देखा था। हमने साथ मिलकर विजयों, विवाहों, दीक्षांत समारोहों, और परमेश्वर के परिवार में सम्मिलित होते समय बप्तिस्मों का उत्सव मनाया था। हमने मण्डली में जन्में, या गोद लिए गए, या परमेश्वर को समर्पित किए गए बच्चों का भी स्वागत किया था।

      हमारे चर्च-मण्डली परिवार ने जिन परेशानियों और परीक्षाओं का अनुभव किया, उन्हें स्मरण करते समय, वैसे ही जैसे यिर्मयाह ने अपने दुःख और मारे-मारे फिरने” को स्मरण किया था (विलापगीत 3:19), मुझे भी यिर्मयाह ही के समान यही विश्वास था कि “हम मिट नहीं गए; यह यहोवा की महाकरुणा का फल है, क्योंकि उसकी दया अमर है” (पद 22)। उस भविष्यद्वकता ने अपने आपको बीते समय में परमेश्वर की विश्वासयोग्यता के द्वारा आश्वस्त किया, और उसके शब्दों “जो यहोवा की बाट जोहते और उसके पास जाते हैं, उनके लिये यहोवा भला है” (पद 25) ने मुझे भी शान्ति और सांत्वना दी।

      उस रात्रि, हमारी मण्डली का प्रत्येक सदस्य परमेश्वर के जीवन परिवर्तित करने वाले प्रेम का प्रतीक था। आते वर्ष में हमें चाहे जिस भी बात का सामना करना पड़े, मसीह की परस्पर निर्भर देह के अंग होने के नाते, हम उन सभी पर जयवंत रहने के लिए अपने प्रभु परमेश्वर पर भरोसा बनाए रख सकते हैं। और जब हम उसके खोजी तथा एक-दूसरे के सहायक बने रहते हैं, तो हम भी यिर्मयाह के समान अपने विश्वास की पुष्टि और दृढ़ होने की आशा, अपनी प्रेरणादायक स्मृतियों के द्वारा बनाए रख सकते हैं; क्योंकि यह सब परमेश्वर के कभी न बदलने वाले चरित्र और विश्वासयोग्यता पर आधारित है। - जोशील डिक्सन

हम जब नए वर्ष की ओर देखते हैं, 
तो हम यह कभी न भूलें कि 
परमेश्वर सदैव विश्वासयोग्य बना रहा है और बना रहेगा।

आहा, तेरी भलाई क्या ही बड़ी है जो तू ने अपने डरवैयों के लिये रख छोड़ी है, और अपने शरणागतों के लिये मनुष्यों के साम्हने प्रगट भी की है! – भजन 31:19

बाइबल पाठ: विलापगीत 3:19-26
Lamentations 3:19 मेरा दु:ख और मारा मारा फिरना, मेरा नागदौने और-और विष का पीना स्मरण कर!
Lamentations 3:20 मैं उन्हीं पर सोचता रहता हूँ, इस से मेरा प्राण ढला जाता है।
Lamentations 3:21 परन्तु मैं यह स्मरण करता हूँ, इसीलिये मुझे आाशा है:
Lamentations 3:22 हम मिट नहीं गए; यह यहोवा की महाकरुणा का फल है, क्योंकि उसकी दया अमर है।
Lamentations 3:23 प्रति भोर वह नई होती रहती है; तेरी सच्चाई महान है।
Lamentations 3:24 मेरे मन ने कहा, यहोवा मेरा भाग है, इस कारण मैं उस में आशा रखूंगा।
Lamentations 3:25 जो यहोवा की बाट जोहते और उसके पास जाते हैं, उनके लिये यहोवा भला है।
Lamentations 3:26 यहोवा से उद्धार पाने की आशा रख कर चुपचाप रहना भला है।

एक साल में बाइबल: 
  • मलाकी 1-4
  • प्रकाशितवाक्य 22