बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Sunday, November 15, 2020

विकर्षण

 

         इंग्लैंड के विक्टोरियन काल के एक चित्रकार सिगिस्मंड गोएत्ज़े ने अपने समय के लोगों को एक चित्र के द्वारा चौंका दिया। चित्र का शीर्षक था “Despised and Rejected of Men”(मनुष्यों द्वारा तुच्छ जाना तथा तिरस्कार किया हुआ)। इस चित्र में उसने दुःख झेल रहे और दोषी ठहराए गए प्रभु यीशु को, गोएत्ज़े के ही समय के लोगों से घिरा हुआ दिखाया गया है। वे सभी लोग अपनी ही रुचि की बातों – व्यापार, रोमांस, राजनीति, आदि में इतने संलग्न थे कि वे उद्धारकर्ता द्वारा दिए गए बलिदान के प्रति पूर्णतः उदासीन और अनजान थे। मसीह के प्रति उदासीन होने के कारण, उसे घेरे हुई उस भीड़ को, प्रभु यीशु के क्रूस के नीचे एकत्रित हुई भीड़ के समान, ज़रा भी ध्यान नहीं था कि उन्होंने क्या और किसे खो दिया है।

         हमारे वर्तमान समय में भी, मसीही विश्वासी और अविश्वासी दोनों ही का ध्यान अनन्त से भटक सकता है। प्रभु यीशु मसीह के अनुयायी ध्यान भटकाने वाले विकर्षणों की धुंध को परमेश्वर के प्रेम की सच्चाई के द्वारा किस प्रकार मिटा सकते हैं? परमेश्वर की संतान होने के नाते, हम एक दूसरे से प्रेम के करने के द्वारा आरंभ कर सकते हैं। परमेश्वर के वचन बाइबल में प्रभु यीशु ने कहा, यदि आपस में प्रेम रखोगे तो इसी से सब जानेंगे, कि तुम मेरे चेले हो” (यूहन्ना 13:35)।

         परन्तु सच्चा प्रेम यहीं आकर रुक नहीं जाता है। हम उस प्रेम को और विस्तृत करते हैं, प्रभु यीशु में पापों की क्षमा और उद्धार के सुसमाचार को औरों के साथ साझा करने के द्वारा जिससे लोग समस्त जगत के सभी लोगों के उद्धारकर्ता की ओर आकर्षित होने पाएं। जैसे कि पौलुस ने लिखा, हम मसीह के राजदूत हैं (2 कुरिन्थियों 5:20)।

         ऐसा करने से मसीह की देह, उसकी कलीसिया, परमेश्वर के प्रेम को प्रतिबिंबित भी कर सकती है और दूसरों तक पहुँचा भी सकती है, क्योंकि परमेश्वर के प्रेम की संसार को बहुत आवश्यकता है। काश पवित्र आत्मा की सामर्थ्य से प्रभु के प्रेम को अपने जीवनों के द्वारा दिखाने के द्वारा हम मसीह यीशु में सेंत-मेंत मिलाने वाले उद्धार से लोगों का ध्यान भटकाने वाले विकर्षणों को मिटा सकें, और सुसमाचार की आवश्यकता को प्रस्तुत कर सकें। - बिल क्राउडर

 

प्रभु यीशु में उद्धार का सुसमाचार, विकर्षणों की धुंध में ज्योति चमकाता है।


सो हम मसीह के राजदूत हैं; मानो परमेश्वर हमारे द्वारा समझाता है: हम मसीह की ओर से निवेदन करते हैं, कि परमेश्वर के साथ मेल मिलाप कर लो। - 2 कुरिन्थियों 5:20

बाइबल पाठ: यूहन्ना 13:31-35

यूहन्ना 13:31 जब वह बाहर चला गया तो यीशु ने कहा; अब मनुष्य पुत्र की महिमा हुई, और परमेश्वर की महिमा उस में हुई।

यूहन्ना 13:32 और परमेश्वर भी अपने में उस की महिमा करेगा, वरन तुरन्त करेगा।

यूहन्ना 13:33 हे बालकों, मैं और थोड़ी देर तुम्हारे पास हूं: फिर तुम मुझे ढूंढोगे, और जैसा मैं ने यहूदियों से कहा, कि जहां मैं जाता हूं, वहां तुम नहीं आ सकते वैसा ही मैं अब तुम से भी कहता हूं।

यूहन्ना 13:34 मैं तुम्हें एक नई आज्ञा देता हूं, कि एक दूसरे से प्रेम रखो: जैसा मैं ने तुम से प्रेम रखा है, वैसा ही तुम भी एक दूसरे से प्रेम रखो।

यूहन्ना 13:35 यदि आपस में प्रेम रखोगे तो इसी से सब जानेंगे, कि तुम मेरे चेले हो।

 

एक साल में बाइबल: 

  • यहेजकेल 1-2
  • इब्रानियों 11:1-19

No comments:

Post a Comment