बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Wednesday, August 3, 2011

दोषी मैं हूँ!

जौन और जो ने मिलकर चोरी करी, परन्तु जब पकड़े गए तो दोनो की प्रतिक्रियाएं बिलकुल भिन्न थीं। जौन ने अपनी गलती तुरंत मान ली और उसके लिए पछतावा किया और नुकसान की भरपाई के लिए पैसा भरने की पेशकश करी। किन्तु जो ने इस कार्य के लिए अपने ऊपर कोई ज़िम्मेदारी लेने से इन्कार कर दिया, वरन अपने साथी को ही पूरी रीति से ज़िम्मेदार बनाया। बाद में जो के माता-पिता ने भी जो का ही साथ दिया और जो को निर्दोष बताते हुए उसके इस व्यवहार के लिए उसकी मित्र मण्डली को दोषी ठहराया; उनके अनुसार क्योंकि जो के वे साथी जो को पूरी रीति से अपने साथ स्वीकार नहीं करते थे, इसलिए जो यह कार्य करने पर मजबूर हुआ।

कई लोग यह नहीं पहचान पाते कि अपनी गलतियों को स्वीकार करने की बजाए जब वे उनके लिए दूसरों को दोषी ठहराते हैं तो वे स्वयं अपना ही नुकसान कर रहे हैं। परमेश्वर का वचन बाइबल हमें सिखाती है कि यदि हम अपने पाप ढांपने के प्रयास करेंगे तो कभी उन्नति नहीं करेंगे, लेकिन यदि हम उन्हें मान लेंगे तो हम पर दया करी जाएगी, "जो अपने अपराध छिपा रखता है, उसका कार्य सफल नहीं होता, परन्तु जो उनको मान लेता और छोड़ भी देता है, उस पर दया की जायेगी" (नीतिवचन २८:१३)।

बाइबल की पुस्तक १ राजा के २१ अध्याय में हम अहाब राजा का वृतांत पाते हैं जो अपने पड़ौसी नाबोत की पैत्रिक दाख की बारी लेना चाहता था किन्तु नाबोत उसे बेचने से इन्कार कर रहा था। अहाब की पत्नि को जब यह बात मालुम चली तो उसने मामले को अपनी युक्ति से सुलझाने का निर्णय लिया और अहाब के नाम से राजआज्ञा निकलवा कर नाबोत को मरवा डाला। जब अहाब को इस बात का पता चला तो इस जघन्य अपराध के लिए उसने अपनी पत्नि को दोषी नहीं ठहराया, वरन अपना नाम प्रयोग करने देने के कारण सारा दोष और सारी ज़िम्मेदारी अपने ऊपर ले ली, दुख जताया, पश्चाताप किया और उसपर अदभुत रीति से दया करी गई।

जब कभी हम गलती करें, भला होगा कि हम उसके दोष को स्वीकार कर लें और परमेश्वर से क्षमा मांग लें, क्योंकि वह पहले ही से सारी सच्चाई जानता है और हम उसको कभी मूर्ख नहीं बना सकते।

हम और बेहतर लोग बननेंगे जब हम कहना सीख लेंगे, "दोषी मैं हूँ।" - हर्ब वैण्डर लुग्ट


जो स्वयं का दोष स्वीकार करने वाला होगा, वह अधिक ज़िम्मेदारी उठाने के योग्य भी होगा।

एलिय्याह के ये वचन सुन कर अहाब ने अपने वस्त्र फाड़े, और अपनी देह पर टाट लपेट कर उपवास करने और टाट ही ओढ़े पड़ा रहने लगा, और दबे पांवों चलने लगा। - १ राजा २१:२७


बाइबल पाठ: १ राजा २१:१६-२९

1Ki 21:16 यिज्रेली नाबोत की मृत्यु का समाचार पाते ही अहाब उसकी दाख की बारी अपने अधिकार में लेने के लिये वहां जाने को उठ खड़ा हुआ।
1Ki 21:17 तब यहोवा का यह वचन तिशबी एलिय्यह के पास पहुंचा, कि चल,
1Ki 21:18 शोमरोन में रहने वाले इस्राएल के राजा अहाब से मिलने को जा; वह तो नाबोत की दाख की बारी में है, उसे अपने अधिकार में लेने को वह वहां गया है।
1Ki 21:19 और उस से यह कहना, कि यहोवा यों कहता है, कि क्या तू ने घात किया, और अधिकारी भी बन बैठा? फिर तू उस से यह भी कहना, कि यहोवा यों कहता है, कि जिस स्थान पर कुत्तों ने नाबोत का लोहू चाटा, उसी स्थान पर कुत्ते तेरा भी लोहू चाटेंगे।
1Ki 21:20 एलिय्याह को देख कर अहाब ने कहा, हे मेरे शत्रु! क्या तू ने मेरा पता लगाया है? उस ने कहा हां, लगाया तो है; और इसका कारण यह है, कि जो यहोवा की दृष्टि में बुरा है, उसे करने के लिये तू ने अपने को बेच डाला है।
1Ki 21:21 मैं तुझ पर ऐसी विपत्ति डालूंगा, कि तुझे पूरी रीति से मिटा डालूंगा; और अहाब के घर के एक एक लड़के को और क्या बन्धुए, क्या स्वाधीन इस्राएल में हर एक रहने वाले को भी नाश कर डालूंगा।
1Ki 21:22 और मैं तेरा घराना नबात के पुत्र यारोबाम, और अहिय्याह के पुत्र बाशा का सा कर दूंगा, इसलिये कि तू ने मुझे क्रोधित किया है, और इस्राएल से पाप करवाया है।
1Ki 21:23 और हेज़ेबेल के विषय में यहोवा यह कहता है, कि यिज्रेल के किले के पास कुत्ते हेज़ेबेल को खा डालेंगे।
1Ki 21:24 अहाब का जो कोई नगर में मर जाएगा उसको कुत्ते खा लेंगे और जो कोई मैदान में मर जाएगा उसको आकाश के पक्षी खा जाएंगे।
1Ki 21:25 सचमुच अहाब के तुल्य और कोई न था जिसने अपनी पत्नी हेज़ेबेल के उकसाने पर वह काम करने को जो यहोवा की दृष्टि में बुरा है, अपने को बेच डाला था।
1Ki 21:26 वह तो उन एमोरियों की नाईं जिनको यहोवा ने इस्राएलियों के साम्हने से देश से निकाला था बहुत ही घिनौने काम करता था, अर्थात मूरतों की उपासना करने लगा था।
1Ki 21:27 एलिय्याह के ये वचन सुन कर अहाब ने अपने वस्त्र फाड़े, और अपनी देह पर टाट लपेट कर उपवास करने और टाट ही ओढ़े पड़ा रहने लगा, और दबे पांवों चलने लगा।
1Ki 21:28 और यहोवा का यह वचन तिशबी एलिय्याह के पास पहुंचा,
1Ki 21:29 कि क्या तू ने देखा है कि अहाब मेरे साम्हने नम्र बन गया है? इस कारण कि वह मेरे साम्हने नम्र बन गया है मैं वह विपत्ति उसके जीते जी उस पर न डालूंगा परन्तू उसके पुत्र के दिनों में मैं उसके घराने पर वह विपत्ति भेजूंगा।

एक साल में बाइबल:
  • भजन ६३-६५
  • रोमियों ६