बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Sunday, January 1, 2012

खज़ाने की खोज

   एक पत्रकार कार्लोस अल्काला ने Sacramento Bee में एक रोचक सत्य कथा लिखी: कीय्थ सेवेरिन और उसके ७ वर्षीय पुत्र ने १ जनवरी २००८ को निश्चय किया कि वे उस वर्ष प्रतिदिन कम से कम १५ मिनिट साथ साथ खज़ाने खोजने में लगाएंगे। वे दोनो हर रोज़, हर तरह के मौसम में घर से बाहर कुछ खोजने निकलते। एक वर्ष पश्चात उनके द्वारा एकत्रित करी गईं वस्तुएं जैसे सिक्के, गोल्फ की गेंदें, दोबारा प्रयोग हो सकने योग्य बोतलें और कैन और अन्य चीज़ों ने उन्हें $१००० से अधिक दिया; और इस प्रक्रिया के दौरान, बाप-बेटे ने एक साथ संगति, आन्न्द और बात-चीत के ऐसे बहुमूल्य पल बिताए जिनकी कोई कीमत नहीं लगाई जा सकती।

   यदि हम निर्णय ले लें कि प्रति दिन परमेश्वर के वचन बाइबल में से खज़ाने खोजने के लिए १५ मिनिट लगाएंगे, तो हम क्या कुछ खोजने पाएंगे? राजा सुलेमान ने इसके विषय में लिखा: "और उसको [बुद्धिमानी] चान्दी की नाईं ढूंढ़े, और गुप्त धन के समान उस की खोज में लगा रहे; तो तू यहोवा के भय को समझेगा, और परमेश्वर का ज्ञान तुझे प्राप्त होगा। तब तू धर्म और न्याय, और सीधाई को, निदान सब भली-भली चाल समझ सकेगा" (नीतिवचन २:४, ५, ९)।

   परमेश्वर के वचन की समझ-बूझ पाना और हमारी उन्नति होना एकाएक तो नहीं होगा, परन्तु परमेश्वर के वचन को पढ़ने और उसकी आज्ञाकारिता में चलने से, अंश अंश करके हम लगातार उस की समानता में अवश्य ही बदलते चले जाएंगे; और फिर इसके साथ परमेश्वर की संगति के आनन्द तथा उससे बात-चीत कर सकने वाले पलों की बहुमूल्यता के बारे में भी तो ध्यान कीजीए।

   इन आशीषों का आरंभ होता है वचन के साथ समय बिताने के लिए स्वेच्छा से लिए गए निर्णय से, बना रहता है वचन से रोमाँचक नई बातों के सीखने के द्वारा और वचन की आज्ञाकारिता में चलने वालों के लिए इस का प्रतिफल हैं वर्तमान में जीवन की आशीषों और बुद्धिमानी के खज़ाने तथा इस जीवन के पश्चात भी अनन्त काल के लिए परमेश्वर की संगति में बने रहने की अटल प्रतिज्ञा।

   आज से ही परमेश्वर के वचन बाइबल के खज़ानों की खोज में समय बिताना आरंभ कर दीजिए, विश्वास रखिए, आप कभी निराश नहीं होंगे। - डेविड मैककैसलैंड


परमेश्वर के वचन के अनमोल खज़ाने खोजे जाने के लिए आपकी प्रतीक्षा में हैं।

और उसको [बुद्धिमानी] चान्दी की नाईं ढूंढ़े, और गुप्त धन के समान उस की खोज में लगा रहे; तो तू यहोवा के भय को समझेगा, और परमेश्वर का ज्ञान तुझे प्राप्त होगा। - नीतिवचन २:४, ५

बाइबल पाठ: नीतिवचन २:१-१५
Pro 2:1  हे मेरे पुत्र, यदि तू मेरे वचन ग्रहण करे, और मेरी आज्ञाओं को अपने हृदय में रख छोड़े,
Pro 2:2  और बुद्धि की बात ध्यान से सुने, और समझ की बात मन लगा कर सोचे;
Pro 2:3  और प्रवीणता और समझ के लिये अति यत्न से पुकारे,
Pro 2:4  ओर उसको चान्दी की नाईं ढूंढ़े, और गुप्त धन के समान उस की खोज में लगा रहे;
Pro 2:5  तो तू यहोवा के भय को समझेगा, और परमेश्वर का ज्ञान तुझे प्राप्त होगा।
Pro 2:6  क्योंकि बुद्धि यहोवा ही देता है; ज्ञान और समझ की बातें उसी के मुंह से निकलती हैं।
Pro 2:7  वह सीधे लोगों के लिये खरी बुद्धि रख छोड़ता है; जो खराई से चलते हैं, उनके लिये वह ढाल ठहरता है।
Pro 2:8  वह न्याय के पथों की देख भाल करता, और अपने भक्तों के मार्ग की रक्षा करता है।
Pro 2:9  तब तू धर्म और न्याय, और सीधाई को, निदान सब भली-भली चाल समझ सकेगा;
Pro 2:10  क्योंकि बुद्धि तो तेरे हृदय में प्रवेश करेगी, और ज्ञान तुझे मनभाऊ लगेगा;
Pro 2:11  विवेक तुझे सुरक्षित रखेगा और समझ तेरी रक्षक होगी;
Pro 2:12  ताकि तुझे बुराई के मार्ग से, और उलट फेर की बातों के कहने वालों से बचाए,
Pro 2:13  जो सीधाई के मार्ग को छोड़ देते हैं, ताकि अन्धेरे मार्ग में चलें;
Pro 2:14  जो बुराई करने से आनन्दित होते हैं, और दुष्ट जन की उलट फेर की बातों में मगन रहते हैं;
Pro 2:15  जिन की चालचलन टेढ़ी मेढ़ी और जिनके मार्ग बिगड़े हुए हैं।
 
एक साल में बाइबल: 
  • उत्पत्ति १-३ 
  • मत्ती १