बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Tuesday, August 13, 2013

प्रवीण कारिगर

   जब मेरी सगाई हुई तो मेरे होने वाले ससुर, जिम ने मुझे एक ऐसा विशेष उपहार दिया जिसे मैं आज तक संजोए हुए हुँ। जिम व्यवसाय से एक घड़ी साज़ तथा जौहरी है, और हमारी शादी की अँगूठियाँ उसी ने हमें बनाकर दीं। मेरी अँगूठी बनाने के लिए जिम ने सोने के छोटे छोटे टुकड़ों का उपयोग किया - वे टुकड़े जो ज़ेवर संवारते-सुधारते समय काट कर निकाले जाते हैं और जिनका कोई विशेष महत्व नहीं होता। लेकिन इस प्रवीण कारीगर के हाथ में उन टुकड़ों ने एक ऐसा अनुपम और सुन्दर रूप ले लिया जिसे हर देखने वाला सराहता है और मैं जिसे संजोए रहता हूँ और निहारता रहता हूँ। यह एक विलक्षण, अद्भुत लेकिन विचार योग्य बात है कि एक प्रवीण कारिगर के हाथों में छोटे छोटे बेकार टुकड़े भी कैसे बहुमूल्य, सुन्दर और उपयोगी हो जाते हैं।

   परमेश्वर भी हमारे जीवनों में ऐसे ही कार्य करता है। वह तो सभी प्रवीण कारिगरों से भी महान और सिद्ध कारिगर है। वह हमारे जीवनों को, उसके व्यर्थ और टूटे-फूटे अंशों सहित लेकर, एक अर्थपूर्ण, उपयोगी और आशीशित जीवन बना देता है - यदि हम स्वेच्छा से अपने जीवन उसके हाथों में समर्पित करके उसे अपना कार्य करने दें। परमेश्वर के वचन बाइबल में यर्मियाह नबी ने इसी बात को एक कुम्हार द्वारा मिट्टी से बर्तन बनाए जाने के उदाहरण से समझाया है। जैसे कुम्हार एक बिगड़े हुए बर्तन को भी पुनः संवार कर एक नया और अच्छा स्वरूप दे सकता है, वैसे ही परमेश्वर भी हमें संवार कर अच्छा कर सकता है: "और जो मिट्टी का बासन वह बना रहा था वह बिगड़ गया, तब उसने उसी का दूसरा बासन अपनी समझ के अनुसार बना दिया" (यर्मियाह 18:4)।

   हमने चाहे अपने जीवन को कैसा भी बिगाड़ लिया हो, परमेश्वर हमें सुधार कर अपनी और संसार की दृष्टि में सुन्दर बना सकता है। आवश्यकता बस इतनी है कि हम अपने पाप मानकर परमेश्वर प्रभु यीशु से उनकी क्षमा माँग लें, अपना जीवन उस के हाथों में समर्पित कर दें और उसकी आज्ञाकारिता में जीवन बिताना आरंभ कर दें; इस के द्वारा ही परमेश्वर हमारे जीवनों में अपना कार्य करना और हमारा स्वरूप सुधारना आरंभ कर देगा (2 तिमुथियुस 2:21), और वह नया स्वरूप अद्भुत होगा।

   केवल यही एक मार्ग है बिगड़े हुए को सुधारने और संवारने का - उस महान सिद्ध प्रवीण कारिगर के हाथों में अपने आप को सौंप दीजिए और उसे अपना कार्य कर लेने दीजिए। केवल वह ही हमें सुधार सकता है, क्योंकि आखिरकर हमारा बनाने वाला वह ही तो है। - बिल क्राउडर


यदि परमेश्वर को मरम्मत करने दी जाए तो टूटे-फूटे जीवन भी सुन्दर और आशीशित जीवन बन सकते हैं।

यदि कोई अपने आप को इन से शुद्ध करेगा, तो वह आदर का बरतन, और पवित्र ठहरेगा; और स्‍वामी के काम आएगा, और हर भले काम के लिये तैयार होगा। - 2 तिमुथियुस 2:21

बाइबल पाठ: यर्मियाह 18:1-10
Jeremiah 18:1 यहोवा की ओर से यह वचन यिर्मयाह के पास पहुंचा, उठ कर कुम्हार के घर जा,
Jeremiah 18:2 और वहां मैं तुझे अपने वचन सुनवाऊंगा।
Jeremiah 18:3 सो मैं कुम्हार के घर गया और क्या देखा कि वह चाक पर कुछ बना रहा है!
Jeremiah 18:4 और जो मिट्टी का बासन वह बना रहा था वह बिगड़ गया, तब उसने उसी का दूसरा बासन अपनी समझ के अनुसार बना दिया।
Jeremiah 18:5 तब यहोवा का यह वचन मेरे पास पहुंचा, हे इस्राएल के घराने,
Jeremiah 18:6 यहोवा की यह वाणी है कि इस कुम्हार की नाईं तुम्हारे साथ क्या मैं भी काम नहीं कर सकता? देख, जैसा मिट्टी कुम्हार के हाथ में रहती है, वैसा ही हे इस्राएल के घराने, तुम भी मेरे हाथ में हो।
Jeremiah 18:7 जब मैं किसी जाति वा राज्य के विषय कहूं कि उसे उखाड़ूंगा वा ढा दूंगा अथवा नाश करूंगा,
Jeremiah 18:8 तब यदि उस जाति के लोग जिसके विषय मैं ने कह बात कही हो अपनी बुराई से फिरें, तो मैं उस विपत्ति के विषय जो मैं ने उन पर डालने को ठाना हो पछताऊंगा।
Jeremiah 18:9 और जब मैं किसी जाति वा राज्य के विषय कहूं कि मैं उसे बनाऊंगा और रोपूंगा;
Jeremiah 18:10 तब यदि वे उस काम को करें जो मेरी दृष्टि में बुरा है और मेरी बात न मानें, तो मैं उस भलाई के विष्य जिसे मैं ने उनके लिये करने को कहा हो, पछताऊंगा।

एक साल में बाइबल: 
  • भजन 87-88 
  • रोमियों 13