बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Saturday, January 18, 2014

स्थिर सन्तुलन


   मेरी पत्नि मर्लीन एक बहुत क्रियाशील स्त्री रही है, परन्तु पिछले कुछ वर्षों से वह कान के भीतरी भाग के एक रोग से ग्रस्त है जिसके कारण उसे अपना सन्तुलन बनाए रखना कठिन हो जाता है। बिना किसी चेतावनी के उसका यह रोग अन्दर कोई व्याधि उत्पन्न कर देता है और मर्लीन को चक्कर आने लगते हैं, उसके लिए खड़ा रह पाना असंभव हो जाता है। यदि वह बैठने या उठने का प्रयास करे भी तो वह नहीं हो पाता और उसे लेटना ही पड़ता है। मर्लीन का अपना कोई भी प्रयास या युक्ति कान के अन्दर के उस रोग को वश में नहीं रख सकती, और यह रोग उसकी दिनचर्या को अचानक ही अस्त-व्यस्त कर देता है। दिनचर्या में अचानक आया यह अनचाहा विश्राम उसे बहुत विचलित कर देता है।

   जीवन ऐसा ही होता है; कोई अनेपक्षित बात हमारी दिनचर्या या बनाई हुई योजनाओं को अस्त-व्यस्त कर देती हैं और हमारे जीवन का सन्तुलन बिगड़ जाता है। विचलित कर देने वाली यह बात कुछ भी हो सकती है, जैसे, हमारी नौकरी का अनेपक्षित रूप से जाते रहना या किसी चिकित्सा संबंधी जाँच के परिणामों में कुछ प्रतिकूल निकल आना; यह हमारे आत्मिक शत्रु शैतान का भी कोई हमला हो सकता है। ऐसी ही किसी बात या घटना से हमारा भावनात्मक सन्तुलन प्रभावित हो सकता है और हमें लग सकता है कि हम इसे सहन नहीं कर पाएंगे, स्थिर खड़े नहीं रह पाएंगे।

   ये वे अवसर होते हैं जब हमें परमेश्वर को दृढ़ता से थामे रहना चाहिए क्योंकि वह ही है जो हमें हर परिस्थिति में स्थिर रख सकता है। उसकी आत्मिक सामर्थ और उसके संसाधन हमें कमज़ोर पड़ने और गिरने से बचाए रख सकते हैं, हमें बल दे सकते हैं। प्रेरित पौलुस ने लिखा, "इसलिये परमेश्वर के सारे हथियार बान्‍ध लो, कि तुम बुरे दिन में साम्हना कर सको, और सब कुछ पूरा कर के स्थिर रह सको" (इफिसियों 6:13)।

   जब जीवन के अनेपक्षित परिस्थितियाँ हम पर हमला करें और हमारी अपनी सामर्थ और हमारे बनाए हुए आधार हमें टूटते प्रतीत हों तब भी हमें निराश होने और असहाय अनुभव करने कि आवश्यकता नहीं है। यदि हमने परमेश्वर की सामर्थ को थामा हुआ है और परमेश्वर के हथियार हम ने बांध रखे हैं, तो हम स्थिर खड़े रहेंगे, कोई हमें गिराने नहीं पाएगा। - बिल क्राउडर


यदि हम परमेश्वर पर सब कुछ के लिए निर्भर रहें तो कुछ भी हमें अस्थिर नहीं कर सकता।

इसलिये परमेश्वर के सारे हथियार बान्‍ध लो, कि तुम बुरे दिन में साम्हना कर सको, और सब कुछ पूरा कर के स्थिर रह सको। - इफिसियों 6:13

बाइबल पाठ: इफिसियों 6:10-18
Ephesians 6:10 निदान, प्रभु में और उस की शक्ति के प्रभाव में बलवन्‍त बनो। 
Ephesians 6:11 परमेश्वर के सारे हथियार बान्‍ध लो; कि तुम शैतान की युक्तियों के साम्हने खड़े रह सको। 
Ephesians 6:12 क्योंकि हमारा यह मल्लयुद्ध, लोहू और मांस से नहीं, परन्तु प्रधानों से और अधिकारियों से, और इस संसार के अन्धकार के हाकिमों से, और उस दुष्‍टता की आत्मिक सेनाओं से है जो आकाश में हैं। 
Ephesians 6:13 इसलिये परमेश्वर के सारे हथियार बान्‍ध लो, कि तुम बुरे दिन में साम्हना कर सको, और सब कुछ पूरा कर के स्थिर रह सको। 
Ephesians 6:14 सो सत्य से अपनी कमर कसकर, और धार्मीकता की झिलम पहिन कर। 
Ephesians 6:15 और पांवों में मेल के सुसमाचार की तैयारी के जूते पहिन कर। 
Ephesians 6:16 और उन सब के साथ विश्वास की ढाल ले कर स्थिर रहो जिस से तुम उस दुष्‍ट के सब जलते हुए तीरों को बुझा सको। 
Ephesians 6:17 और उद्धार का टोप, और आत्मा की तलवार जो परमेश्वर का वचन है, ले लो। 
Ephesians 6:18 और हर समय और हर प्रकार से आत्मा में प्रार्थना, और बिनती करते रहो, और इसी लिये जागते रहो, कि सब पवित्र लोगों के लिये लगातार बिनती किया करो।

एक साल में बाइबल: 
  • निर्गमन 8-10