बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Saturday, January 23, 2016

सीमा


   19वीं शताब्दी में कारोबार के लिए पानी के जहाज़ों पर अकसर बेहिसाब माल लाद दिया जाता था जिससे कई बार वे जहाज़ रास्ते में ही डूब जाते थे और उनके नाविक मारे जाते थे। सन 1875 में ब्रिटिश राजनितिज्ञ सैमुएल प्लिम्सोल ने लापरवाही की इस प्रथा को बन्द करने के लिए अभियान चलाया जिसके फलस्वरूप कानून बना कि हर पानी के जहाज़ के बाहर एक रेखा बनाई जाएगी जिससे पता रहे कि माल लादने से वह जहाज़ कितना पानी अन्दर चला गया है। माल लदान की वह रेखा प्लिमसोल रेखा के नाम से जानी गई और आज भी यह रेखा माल लादने की सीमा को दिखाने के लिए पानी के जहाज़ों के बाहर बनाई जाती है।

   उन पानी के जहाज़ों के समान हमारे जीवन भी कभी-कभी भय, संघर्ष और मनोव्यथा से अभिभूत होकर हमें सहने की क्षमता से अधिक बोझिल लग सकते हैं; हमें यह भी लग सकता है कि हम बस अब परिस्थितियों में डूबने की कगार पर हैं। लेकिन ऐसे समयों में हमें स्मरण करना चाहिए कि हमारा एक अद्भुत सहायक है - हमारा परमेश्वर पिता जो हमारी सहायता करने के लिए सदा तत्पर और तैयार रहता है। परमेश्वर के वचन बाइबल में प्रेरित पौलुस ने लिखा है, "इसलिये परमेश्वर के बलवन्‍त हाथ के नीचे दीनता से रहो, जिस से वह तुम्हें उचित समय पर बढ़ाए। और अपनी सारी चिन्‍ता उसी पर डाल दो, क्योंकि उसको तुम्हारा ध्यान है" (1 पतरस 5:6-7)। हमारा परमेश्वर पिता हमारे जीवन में आने और हमें अभिभूत करने वाली हर परेशानी को जानता है और उसका समाधन करता है।

   जीवन की परीक्षाएं हमें हमारे सहने से बाहर बोझिल प्रतीत हो सकती हैं, लेकिन हम इस बात से आश्वस्त रह सकते हैं कि हमारा परमेश्वर पिता हमारी सीमाओं को हम से बेहतर जानता है और हमें उन सीमाओं से बाहर किसी परीक्षा में कभी नहीं पड़ने देगा, वरन हर परेशानी में वह हमें उस में से सुरक्षित निकल आने का मार्ग बना कर देगा (1 कुरिन्थियों 10:13)।


परमेश्वर हमें अशान्त जल में जाने देता है जिससे हम उस पर भरोसा करना सीख सकें।

तुम किसी ऐसी परीक्षा में नहीं पड़े, जो मनुष्य के सहने से बाहर है: और परमेश्वर सच्चा है: वह तुम्हें सामर्थ से बाहर परीक्षा में न पड़ने देगा, वरन परीक्षा के साथ निकास भी करेगा; कि तुम सह सको। - 1 कुरिन्थियों 10:13 

बाइबल पाठ: 1 पतरस 5:5-9
1 Peter 5:5 हे नवयुवकों, तुम भी प्राचीनों के आधीन रहो, वरन तुम सब के सब एक दूसरे की सेवा के लिये दीनता से कमर बान्‍धे रहो, क्योंकि परमेश्वर अभिमानियों का साम्हना करता है, परन्तु दीनों पर अनुग्रह करता है। 
1 Peter 5:6 इसलिये परमेश्वर के बलवन्‍त हाथ के नीचे दीनता से रहो, जिस से वह तुम्हें उचित समय पर बढ़ाए। 
1 Peter 5:7 और अपनी सारी चिन्‍ता उसी पर डाल दो, क्योंकि उसको तुम्हारा ध्यान है। 
1 Peter 5:8 सचेत हो, और जागते रहो, क्योंकि तुम्हारा विरोधी शैतान गर्जने वाले सिंह की नाईं इस खोज में रहता है, कि किस को फाड़ खाए। 
1 Peter 5:9 विश्वास में दृढ़ हो कर, और यह जान कर उसका साम्हना करो, कि तुम्हारे भाई जो संसार में हैं, ऐसे ही दुख भुगत रहे हैं।

एक साल में बाइबल: 
  • निर्गमन 7-8
  • मत्ती 15:1-20