बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Monday, May 25, 2015

सच्चा बलिदान


   एरिक एक अच्छा व्यक्ति था। वह एक पुलिस अफसर था और अपने कार्य को समाज की सेवा के रूप में देखता था; वह अपने कार्य के प्रति पूर्णतः समर्पित था, तथा उसे वह हर कीमत पर निभाने को तैयार था। उसके इस समर्पण का सूचक था पुलिस स्टेशन में एरिक की अलमारी पर लगा स्टिकर जिस पर परमेश्वर के वचन बाइबल में से "इस से बड़ा प्रेम किसी का नहीं, कि कोई अपने मित्रों के लिये अपना प्राण दे" (यूहन्ना 15:13) लिखा हुआ था। ये शब्द एरिक के लिए केवल सुनाने-दिखाने भर के उत्कृष्ट आदर्श वाक्य मात्र नहीं थे; वे अपने कार्य के प्रति एरिक की वचनबद्धता का कथन थे, जिसे एरिक ने अपने कार्य के दौरान अपनी जान देकर निभाया और दिखाया। एरिक ने सच्चे बलिदान को वास्तविकता में दिखाया।

   प्रभु यीशु मसीह ने भी में अपने द्वारा यूहन्ना 15:13 में कहे गए उन शब्दों को कहने के कुछ ही घंटों में पूरा कर के अपने दावे को प्रमाणित किया। उस रात प्रभु यीशु ने अपने चेलों के साथ भोजन करते समय उनसे वह वार्तालाप किया जिसमें उन्होंने ये शब्द कहे जिन्हें एरिक ने अपनी अलमारी पर लगा रखा था, फिर प्रभु यीशु ने गतसमनी के बाग़ में जाकर प्रार्थना में परमेश्वर के साथ समय बिताया, फिर उन्हें विश्वासघात द्वारा बन्दी बनाकर रत भर झूठे मुकद्दमों में इधर से उधर घसीटा गया, यातनाएं दी गईं, अपमानित किया गया और फिर अगले दिन ठठ्ठा करती हुई भीड़ के समक्ष मारे जाने के लिए क्रूस पर चढ़ा दिया गया, जहाँ उन्होंने समस्त संसार के सभी जनों के लिए अपने प्राण बलिदान कर दिए।

   परमेश्वर का पुत्र होने के नाते प्रभु यीशु उस क्रूर दुख, ताड़ना, यातना से बच सकते थे; वे निष्पाप तथा निष्कलंक थे, उन्हें मरने की कोई आवश्यकता नहीं थी। किंतु मानव-जाति के प्रति उनका वह प्रेम, जो सच्चे बलिदान का ईंधन है, उन्हें कलवरी के क्रूस पर बलिदान होने के लिए लेकर गया; और उनके ईश्वरीय सामर्थ तथा गुण उन्हें तीसरे दिन मृतकों में से वापस ले आए। परिणामस्वरूप, आज जो भी उनके इस बलिदान और मृतकों में से पुनरुत्थान को सच्चे साधारण विश्वास के साथ ग्रहण करता है, उनसे अपने पापों की क्षमा मांगता है, वह उस क्षमा तथा उद्धार को पाता है, परमेश्वर की सन्तान बनने का गौरव प्राप्त करता है तथा स्वर्ग में अपने परमेश्वर पिता के साथ रहना सुनिश्चित कर लेता है।

   क्या आपने आपके पापों के संति उस सच्चे बलिदान को देने वाले यीशु को साधारण विश्वास द्वारा अपना प्रभु स्वीकार कर लिया है? वह आपकी प्रतीक्षा में है। - बिल क्राउडर


केवल प्रभु यीशु ही, जो सिद्ध बलिदान बना, पाप के दोषियों को निर्दोष तथा सिद्ध घोषित कर सकता है।

किसी धर्मी जन के लिये कोई मरे, यह तो र्दुलभ है, परन्तु क्या जाने किसी भले मनुष्य के लिये कोई मरने का भी हियाव करे। परन्तु परमेश्वर हम पर अपने प्रेम की भलाई इस रीति से प्रगट करता है, कि जब हम पापी ही थे तभी मसीह हमारे लिये मरा। - रोमियों 5:7-8

बाइबल पाठ: यूहन्ना 15:1-11
John 15:1 सच्ची दाखलता मैं हूं; और मेरा पिता किसान है। 
John 15:2 जो डाली मुझ में है, और नहीं फलती, उसे वह काट डालता है, और जो फलती है, उसे वह छांटता है ताकि और फले। 
John 15:3 तुम तो उस वचन के कारण जो मैं ने तुम से कहा है, शुद्ध हो। 
John 15:4 तुम मुझ में बने रहो, और मैं तुम में: जैसे डाली यदि दाखलता में बनी न रहे, तो अपने आप से नहीं फल सकती, वैसे ही तुम भी यदि मुझ में बने न रहो तो नहीं फल सकते। 
John 15:5 मैं दाखलता हूं: तुम डालियां हो; जो मुझ में बना रहता है, और मैं उस में, वह बहुत फल फलता है, क्योंकि मुझ से अलग हो कर तुम कुछ भी नहीं कर सकते। 
John 15:6 यदि कोई मुझ में बना न रहे, तो वह डाली की नाईं फेंक दिया जाता, और सूख जाता है; और लोग उन्हें बटोरकर आग में झोंक देते हैं, और वे जल जाती हैं। 
John 15:7 यदि तुम मुझ में बने रहो, और मेरी बातें तुम में बनी रहें तो जो चाहो मांगो और वह तुम्हारे लिये हो जाएगा। 
John 15:8 मेरे पिता की महिमा इसी से होती है, कि तुम बहुत सा फल लाओ, तब ही तुम मेरे चेले ठहरोगे। 
John 15:9 जैसा पिता ने मुझ से प्रेम रखा, वैसा ही मैं ने तुम से प्रेम रखा, मेरे प्रेम में बने रहो। 
John 15:10 यदि तुम मेरी आज्ञाओं को मानोगे, तो मेरे प्रेम में बने रहोगे: जैसा कि मैं ने अपने पिता की आज्ञाओं को माना है, और उसके प्रेम में बना रहता हूं। 
John 15:11 मैं ने ये बातें तुम से इसलिये कही हैं, कि मेरा आनन्द तुम में बना रहे, और तुम्हारा आनन्द पूरा हो जाए।

एक साल में बाइबल: 
  • 1 इतिहास 25-27
  • यूहन्ना 9:1-23