बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Friday, June 17, 2016

ज्योतिर्मय


   अनगिनित पीढ़ियों से संसार भर के लोग सूरज और चाँद पर दिन और रात को प्रकाशमान करने के लिए निर्भर रहे हैं। चाहे यह हमारे मार्ग को प्रकाशित करने हेतु हो या फिर फलदायी फसलों को जीवनदायी प्रकाश देने के लिए जिससे हमारे शरीरों का पोषण होता रहे, सूरज और चाँद हमारे लिए परमेश्वर द्वारा प्रकाश का अद्भुत प्रावाधान हैं। परमेश्वर के वचन बाइबल के आरंभ में उत्पत्ति की पुस्तक में हम पाते हैं कि "तब परमेश्वर ने दो बड़ी ज्योतियां बनाईं; उन में से बड़ी ज्योति को दिन पर प्रभुता करने के लिये, और छोटी ज्योति को रात पर प्रभुता करने के लिये बनाया: और तारागण को भी बनाया" (उत्पत्ति 1:16)।

   लेकिन वह समय आने वाला है जब परमेश्वर अपने बच्चों के लिए, उनके स्वर्गीय स्थान में एक अलग ही तरह का प्रकाश उपलब्ध करवाएगा। उस सनातन स्वर्गीय नगर के लिए प्रेरित यूहन्ना ने लिखा, "और उस नगर में सूर्य और चान्‍द के उजाले का प्रयोजन नहीं, क्योंकि परमेश्वर के तेज से उस में उजाला हो रहा है, और मेम्ना उसका दीपक है" (प्रकाशितवाक्य 21:23)। रोचक बात है कि मूल युनानी भाषा के जिस शब्द का अनुवाद यहाँ "उजाला" हुआ है, उसका और भी सही अर्थ "दीपक" कहा जा सकता है। प्रभु यीशु मसीह अपने महिमान्वित स्वरूप में हमारे उस आनन्दमय निवास स्थान का वह दीपक होंगे जिससे वह स्थान प्रकाशमान रहेगा।

   बाइबल में प्रभु यीशु मसीह को जगत के पाप हर लेने वाला मेम्ना कहा गया है "दूसरे दिन उसने यीशु को अपनी ओर आते देखकर कहा, देखो, यह परमेश्वर का मेम्ना है, जो जगत के पाप उठा ले जाता है" (यूहन्ना 1:29)। उनके लिए, जो उसके अनुयायी हो गए हैं, प्रभु यीशु आत्मिक प्रकाश का स्त्रोत भी है जिससे वे जगत की ज्योति बनें (मत्ती 5:14; यूहन्ना 8:12)। परन्तु हमारे स्वर्गीय निवास के उस अनन्तकाल में प्रभु यीशु वह दीपक होंगे जो हमारे स्थान को ज्योतिर्मय करेगा (प्रकाशितवाक्य 21:23)। कैसा रोमाँचक और पुलकित कर देने वाला होगा वह समय जब हम मेम्ने से ज्योतिर्मय होकर अनन्तकाल के आनन्द में रहेंगे। - डेनिस फिशर


जगत की ज्योति प्रभु यीशु, कभी ना समाप्त होने वाली ज्योति है।

तब यीशु ने फिर लोगों से कहा, जगत की ज्योति मैं हूं; जो मेरे पीछे हो लेगा, वह अन्धकार में न चलेगा, परन्तु जीवन की ज्योति पाएगा। - यूहन्ना 8:12

बाइबल पाठ: प्रकाशितवाक्य 21:10-27
Revelation 21:10 और वह मुझे आत्मा में, एक बड़े और ऊंचे पहाड़ पर ले गया, और पवित्र नगर यरूशलेम को स्वर्ग पर से परमेश्वर के पास से उतरते दिखाया। 
Revelation 21:11 परमेश्वर की महिमा उस में थी, ओर उस की ज्योति बहुत ही बहुमूल्य पत्थर, अर्थात बिल्लौर के समान यशब की नाईं स्‍वच्‍छ थी। 
Revelation 21:12 और उस की शहरपनाह बड़ी ऊंची थी, और उसके बारह फाटक और फाटकों पर बारह स्वर्गदूत थे; और उन पर इस्त्राएलियों के बारह गोत्रों के नाम लिखे थे। 
Revelation 21:13 पूर्व की ओर तीन फाटक, उत्तर की ओर तीन फाटक, दक्‍खिन की ओर तीन फाटक, और पश्‍चिम की ओर तीन फाटक थे। 
Revelation 21:14 और नगर की शहरपनाह की बारह नेवें थीं, और उन पर मेम्ने के बारह प्रेरितों के बारह नाम लिखे थे। 
Revelation 21:15 और जो मेरे साथ बातें कर रहा था, उसके पास नगर, और उसके फाटकों और उस की शहरपनाह को नापने के लिये एक सोने का गज था। 
Revelation 21:16 और वह नगर चौकोर बसा हुआ था और उस की लम्बाई चौड़ाई के बराबर थी, और उसने उस गज से नगर को नापा, तो साढ़े सात सौ कोस का निकला: उस की लम्बाई, और चौड़ाई, और ऊंचाई बराबर थी। 
Revelation 21:17 और उसने उस की शहरपनाह को मनुष्य के, अर्थात स्वर्गदूत के नाप से नापा, तो एक सौ चौवालीस हाथ निकली। 
Revelation 21:18 और उस की शहरपनाह की जुड़ाई यशब की थी, और नगर ऐसे चोखे सोने का था, जा स्‍वच्‍छ कांच के समान हो। 
Revelation 21:19 और उस नगर की नेवें हर प्रकार के बहुमूल्य प