बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Monday, September 5, 2016

अनन्त


   अमेरीकी गृह-युद्ध से पहले के उथल-पुथल भरे वर्षों में, सन 1859 में, एब्राहम लिंकन को विस्कौनसिन प्रांत के मिल्वॉकी शहर के कृषि संघ को संबोधित करने का अवसर मिला। अपने संबोधन में उन्होंने एक प्राचीन राजा की कहानी सुनाई जो एक ऐसे वाक्य की खोज में था जो हर समय और परिस्थिति में लागू हो। उस राजा के बुद्धिमान सभापतियों के लिए यह कठिन चुनौती थी, लेकिन उन्होंने वह वाक्य पा ही लिया; वाक्य था, "यह भी बीत जाएगा।"

   यह वाक्य हमारे आज के संसार के लिए, जो लगातार बद से बदतर होता जा रहा है, सर्वथा उपयुक्त है। यह बात केवल संसार पर ही लागू नहीं होती; यह हमारे जीवन पर भी लागू होती है क्योंकि हमारे दिन गिनती के हैं। परमेश्वर के वचन बाइबल में याकूब ने अपनी पत्री में लिखा, "और यह नहीं जानते कि कल क्या होगा: सुन तो लो, तुम्हारा जीवन है ही क्या? तुम तो मानो भाप समान हो, जो थोड़ी देर दिखाई देती है, फिर लोप हो जाती है" (याकूब 4:14)।

   यद्यपि हमारे वर्तमान दिन कुछ समय के हैं और बीत जाएंगे, लेकिन जिस परमेश्वर की हम उपासना और सेवा करते हैं वह अनन्तकाल का है। हमारे अनन्तकाल के परमेश्वर ने अपने पुत्र प्रभु यीशु मसीह में होकर यह अनन्तकाल की आशीष संसार के लोगों के साथ बाँटनी चाही है। वह हम से ऐसे जीवन का वायदा करता है जो कभी समाप्त नहीं होगा, जिसका आनन्द कभी जाता नहीं रहेगा: "क्योंकि परमेश्वर ने जगत से ऐसा प्रेम रखा कि उसने अपना एकलौता पुत्र दे दिया, ताकि जो कोई उस पर विश्वास करे, वह नाश न हो, परन्तु अनन्त जीवन पाए" (यूहन्ना 3:16)।

   जब मसीह यीशु का पुनःआगमन होगा, वह हमें अपने साथ स्वर्ग ले जाएगा जहाँ हम अनन्तकाल तक उसके साथ रहेंगे। - बिल क्राउडर


आज की आशा के लिए कहानी के अन्त को स्मरण करें
 - परमेश्वर के साथ अनन्तकाल।

और वह उन की आंखों से सब आंसू पोंछ डालेगा; और इस के बाद मृत्यु न रहेगी, और न शोक, न विलाप, न पीड़ा रहेगी; पहिली बातें जाती रहीं। - प्रकाशितवाक्य 21:4

बाइबल पाठ: याकूब 4:11
James 4:11 हे भाइयों, एक दूसरे की बदनामी न करो, जो अपने भाई की बदनामी करता है, या भाई पर दोष लगाता है, वह व्यवस्था की बदनामी करता है, और व्यवस्था पर दोष लगाता है; और यदि तू व्यवस्था पर दोष लगाता है, तो तू व्यवस्था पर चलने वाला नहीं, पर उस पर हाकिम ठहरा। 
James 4:12 व्यवस्था देने वाला और हाकिम तो एक ही है, जिसे बचाने और नाश करने की सामर्थ है; तू कौन है, जो अपने पड़ोसी पर दोष लगाता है? 
James 4:13 तुम जो यह कहते हो, कि आज या कल हम किसी और नगर में जा कर वहां एक वर्ष बिताएंगे, और व्यापार कर के लाभ उठाएंगे। 
James 4:14 और यह नहीं जानते कि कल क्या होगा: सुन तो लो, तुम्हारा जीवन है ही क्या? तुम तो मानो भाप समान हो, जो थोड़ी देर दिखाई देती है, फिर लोप हो जाती है। 
James 4:15 इस के विपरीत तुम्हें यह कहना चाहिए, कि यदि प्रभु चाहे तो हम जीवित रहेंगे, और यह या वह काम भी करेंगे। 
James 4:16 पर अब तुम अपनी ड़ींग पर घमण्‍ड करते हो; ऐसा सब घमण्‍ड बुरा होता है। 
James 4:17 इसलिये जो कोई भलाई करना जानता है और नहीं करता, उसके लिये यह पाप है।

एक साल में बाइबल: 
  • भजन 146-147
  • 1 कुरिन्थियों 15:1-28