बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Friday, October 14, 2016

लालसा


   मेरी सहेली कैथी अपनी बेटी और 4 माह के नाती ऑलिवर के साथ एक सप्ताह की छुट्टी बिताने गई थी; छुट्टी स्माप्त होने पर उसे उनसे विदा लेकर उसे वापस आना पड़ा, तब तक के लिए जब तक फिर मिलने जाने का अवसर बने। उस ने अपना यह अनुभव लिख कर मुझ से साझा किया; उसने लिखा, "ऐसे मधुर पुनःमिलन की यादों से मुझे स्वर्ग में होने की लालसा होती है। वहाँ हमें यादें अपने मन-मस्तिष्क में संजोनी नहीं पड़ेंगी। वहाँ हमें यह प्रार्थना नहीं करनी पड़ेगी कि समय धीमी गति से बीते और दिन लंबे हों। वहाँ हमारे ’हैलो’ कभी ’गुडबाय’ (अलविदा) नहीं बनेंगे। स्वर्ग हमारे लिए सदाकाल के ’हैलो’ का स्थान होगा, और मुझे इसकी प्रतीक्षा करना भारी हो रहा है।" कैथी पहली बार नानी बनी है, और अधिकाधिक अपने नाती के साथ होने की उसकी लालसा समझ में आती है। वह हर उस पल के लिए धन्यवादी है जो वह अपने नाती के साथ बिताने पाती है; और उस धन्य आशा के लिए भी जब वह स्वर्ग में प्रीय जनों के साथ होगी और उस आनन्दमय अद्भुत समय का फिर कभी अन्त नहीं होगा।

   हमें अपने भले दिन बहुत छोटे और बुरे दिन बहुत लंबे प्रतीत होते हैं, लेकिन दोनों ही प्रकार के दिन हम मसीही विश्वासियों के दिलों में आने वाले स्वर्ग के सर्वोत्तम दिनों की लालसा जागृत करते हैं। परमेश्वर के वचन बाइबल में प्रेरित पौलुस ने कहा कि वह और उसके साथ कुरिन्थुस की मसीही मण्डली के मसीही विश्वासी भी संसार और शरीर को छोड़कर अपने स्वर्गीय घर में पहुँच जाने की लालसा रखते हैं: "इस में तो हम कराहते, और बड़ी लालसा रखते हैं; कि अपने स्‍वर्गीय घर को पहिन लें" (2 कुरिन्थियों 5:२)। यद्यपि इस जीवन में प्रभु परमेश्वर हर समय हमारे साथ ही है, अभी हम उसे प्रत्यक्ष देख नहीं पाते हैं; अभी हम विश्वास के सहारे जीते हैं ना कि रूप को देखकर (पद 7)।

   परमेश्वर ने हम मनुष्यों को अपने साथ संगति में रहने के लिए बनाया है (पद 5); इसीलिए उसने प्रभु यीशु मसीह में मिलने वाली पापों की क्षमा और सेंत-मेंत उद्धार के द्वारा हमारे लिए इस संगति में आने का मार्ग भी तैयार करके दे दिया है; ताकि स्वर्ग में उसके तथा अन्य मसीही विश्वासियों के साथ हम सदाकाल के ’हैलो’ की स्थिति में रहें, किसी से भी कभी विदा होने की कोई संभावना ही ना हो। यही हमारे लिए परमेश्वर की और हम मसीही विश्वासियों की परमेश्वर तथा प्रीय जनों के लिए लालसा है। - ऐनी सेटास


अभी हम प्रभु यीशु को बाइबल में होकर देखते हैं; तब प्रत्यक्ष देखेंगे।

पर वे एक उत्तम अर्थात स्‍वर्गीय देश के अभिलाषी हैं, इसी लिये परमेश्वर उन का परमेश्वर कहलाने में उन से नहीं लजाता, सो उसने उन के लिये एक नगर तैयार किया है। - इब्रानियों 11:16

बाइबल पाठ: 2 कुरिन्थियों 4:15-5:8
2 Corinthians 4:15 क्योंकि सब वस्तुएं तुम्हारे लिये हैं, ताकि अनुग्रह बहुतों के द्वारा अधिक हो कर परमेश्वर की महिमा के लिये धन्यवाद भी बढ़ाए।
2 Corinthians 4:16 इसलिये हम हियाव नहीं छोड़ते; यद्यपि हमारा बाहरी मनुष्यत्‍व नाश भी होता जाता है, तौभी हमारा भीतरी मनुष्यत्‍व दिन प्रतिदिन नया होता जाता है। 
2 Corinthians 4:17 क्योंकि हमारा पल भर का हल्का सा क्‍लेश हमारे लिये बहुत ही महत्‍वपूर्ण और अनन्त महिमा उत्पन्न करता जाता है। 
2 Corinthians 4:18 और हम तो देखी हुई वस्‍तुओं को नहीं परन्तु अनदेखी वस्‍तुओं को देखते रहते हैं, क्योंकि देखी हुई वस्तुएं थोड़े ही दिन की हैं, परन्तु अनदेखी वस्तुएं सदा बनी रहती हैं। 
2 Corinthians 5:1 क्योंकि हम जानते हैं, कि जब हमारा पृथ्वी पर का डेरा सरीखा घर गिराया जाएगा तो हमें परमेश्वर की ओर से स्वर्ग पर एक ऐसा भवन मिलेगा, जो हाथों से बना हुआ घर नहीं परन्तु चिरस्थाई है। 
2 Corinthians 5:2 इस में तो हम कराहते, और बड़ी लालसा रखते हैं; कि अपने स्‍वर्गीय घर को पहिन लें। 
2 Corinthians 5:3 कि इस के पहिनने से हम नंगे न पाए जाएं। 
2 Corinthians 5:4 और हम इस डेरे में रहते हुए बोझ से दबे कराहते रहते हैं; क्योंकि हम उतारना नहीं, वरन और पहिनना चाहते हैं, ताकि वह जो मरनहार है जीवन में डूब जाए। 
2 Corinthians 5:5 और जिसने हमें इसी बात के लिये तैयार किया है वह परमेश्वर है, जिसने हमें बयाने में आत्मा भी दिया है। 
2 Corinthians 5:6 सो हम सदा ढाढ़स बान्‍धे रहते हैं और यह जानते हैं; कि जब तक हम देह में रहते हैं, तब तक प्रभु से अलग हैं। 
2 Corinthians 5:7 क्योंकि हम रूप को देखकर नहीं, पर विश्वास से चलते हैं। 
2 Corinthians 5:8 इसलिये हम ढाढ़स बान्‍धे रहते हैं, और देह से अलग हो कर प्रभु के साथ रहना और भी उत्तम समझते हैं।

एक साल में बाइबल: 
  • यशायाह 43-44
  • 1 थिस्सलुनीकियों 2