बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Tuesday, December 17, 2013

आशा


   एक शाम मैं और मेरा परिवार एक क्रिसमस पार्टी से वापस लौट रहे थे, हमारे मार्ग में बर्फ से ढकी और चमकती हुई पहाड़ियों के बीच बना हुआ एक छोटा सा चर्च भवन पड़ा। दूर ही से उस चर्च के बाहर लगी सजावट की बत्तियाँ दिखाई दे रही थीं जिस से उस चर्च के लोगों ने अँग्रेज़ी के अक्षर HOPE अर्थात आशा लिखा हुआ था। अन्धकार में चमकते हुए दूर ही से दिख जाने वाले उस शब्द ने मुझे स्मरण दिलाया कि मानवजाति की आशा जो सदा से थी और सदा के लिए है वह प्रभु यीशु ही है।

   प्रभु यीशु के जन्म से पहले भी लोग आने वाले मसीहा की बाट जोह रहे थे - वह मसीहा जो उनके पापों को उठा ले और परमेश्वर के साथ उनके लिए मध्यस्तता करे (यशायाह 53:12)। परमेश्वर ने अपने वचन द्वारा उन्हें बताया हुआ था कि यह मसीहा एक कुँवारी से जन्म लेगा, और उसका जन्म स्थान बैतलेहम होगा तथा वह इम्मैनुएल अर्थात परमेश्वर हमारे साथ कहलाएगा (यशायाह 7:14)। जिस रात प्रभु यीशु का जन्म हुआ, लोगों की यह आशा पूरी हुई (लूका 2:1-14)।

   यद्यपि आज हम प्रभु यीशु के एक शिशु के रूप में आगमन की बाट नहीं जोह रहे हैं, लेकिन वह आज भी हमारी आशा है। अब हम उसके दूसरे आगमन की प्रतीक्षा में हैं (मत्ती 24:30), और हम उस स्वर्गीय निवास स्थान की आशा में हैं जो वह हमारे लिए तैयार कर रहा है और जहाँ वह हमें ले कर जाएगा (यूहन्ना 14:2-3) और फिर उस स्वर्गीय स्थान में हम उसके साथ अनन्त काल तक रहेंगे (1 थिस्सलुनिकीयों 4:16)। हम मसीही विश्वासी बड़े निश्चय से उस भविष्य की बाट जोह सकते हैं क्योंकि वह शिशु जो बैतलेहम की गौशाला की चरनी में जन्मा था वही प्रभु यीशु, हमारी आशा है (1तिमुथियुस 1:1)। - जेनिफर बेनसन शुल्ट


क्रिसमस का सन्देश है: इम्मैनुएल अर्थात परमेश्वर हमारे साथ।

इस कारण प्रभु आप ही तुम को एक चिन्ह देगा। सुनो, एक कुमारी गर्भवती होगी और पुत्र जनेगी, और उसका नाम इम्मानूएल रखेगी। - यशायाह 7:14

बाइबल पाठ: यशायाह 53
Isaiah 53:1 जो समाचार हमें दिया गया, उसका किस ने विश्वास किया? और यहोवा का भुजबल किस पर प्रगट हुआ? 
Isaiah 53:2 क्योंकि वह उसके साम्हने अंकुर की नाईं, और ऐसी जड़ के समान उगा जो निर्जल भूमि में फूट निकले; उसकी न तो कुछ सुन्दरता थी कि हम उसको देखते, और न उसका रूप ही हमें ऐसा दिखाई पड़ा कि हम उसको चाहते। 
Isaiah 53:3 वह तुच्छ जाना जाता और मनुष्यों का त्यागा हुआ था; वह दु:खी पुरूष था, रोग से उसकी जान पहिचान थी; और लोग उस से मुख फेर लेते थे। वह तुच्छ जाना गया, और, हम ने उसका मूल्य न जाना।
Isaiah 53:4 निश्चय उसने हमारे रोगों को सह लिया और हमारे ही दु:खों को उठा लिया; तौभी हम ने उसे परमेश्वर का मारा-कूटा और दुर्दशा में पड़ा हुआ समझा। 
Isaiah 53:5 परन्तु वह हमारे ही अपराधों के कारण घायल किया गया, वह हमारे अधर्म के कामों के हेतु कुचला गया; हमारी ही शान्ति के लिये उस पर ताड़ना पड़ी कि उसके कोड़े खाने से हम चंगे हो जाएं। 
Isaiah 53:6 हम तो सब के सब भेड़ों की नाईं भटक गए थे; हम में से हर एक ने अपना अपना मार्ग लिया; और यहोवा ने हम सभों के अधर्म का बोझ उसी पर लाद दिया।
Isaiah 53:7 वह सताया गया, तौभी वह सहता रहा और अपना मुंह न खोला; जिस प्रकार भेड़ वध होने के समय वा भेड़ी ऊन कतरने के समय चुपचाप शान्त रहती है, वैसे ही उसने भी अपना मुंह न खोला। 
Isaiah 53:8 अत्याचार कर के और दोष लगाकर वे उसे ले गए; उस समय के लोगों में से किस ने इस पर ध्यान दिया कि वह जीवतों के बीच में से उठा लिया गया? मेरे ही लोगों के अपराधों के कारण उस पर मार पड़ी। 
Isaiah 53:9 और उसकी कब्र भी दुष्टों के संग ठहराई गई, और मृत्यु के समय वह धनवान का संगी हुआ, यद्यपि उसने किसी प्रकार का अपद्रव न किया था और उसके मुंह से कभी छल की बात नहीं निकली थी।। 
Isaiah 53:10 तौभी यहोवा को यही भाया कि उसे कुचले; उसी ने उसको रोगी कर दिया; जब तू उसका प्राण दोषबलि करे, तब वह अपना वंश देखने पाएगा, वह बहुत दिन जीवित रहेगा; उसके हाथ से यहोवा की इच्छा पूरी हो जाएगी। 
Isaiah 53:11 वह अपने प्राणों का दु:ख उठा कर उसे देखेगा और तृप्त होगा; अपने ज्ञान के द्वारा मेरा धर्मी दास बहुतेरों को धर्मी ठहराएगा; और उनके अधर्म के कामों का बोझ आप उठा लेगा। 
Isaiah 53:12 इस कारण मैं उसे महान लोगों के संग भाग दूंगा, और, वह सामर्थियों के संग लूट बांट लेगा; क्योंकि उसने अपना प्राण मृत्यु के लिये उण्डेल दिया, वह अपराधियों के संग गिना गया; तौभी उसने बहुतों के पाप का बोझ उठ लिया, और, अपराधियों के लिये बिनती करता है।

एक साल में बाइबल: 
  • अमोस 7-9 
  • प्रकाशितवाक्य 8