बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Saturday, March 14, 2015

पुनरावलोकन


   हवाई जहाज़ों में उड़ान संबंधी विवरण रिकॉर्ड करते रहने के लिए दो उपकरण लगे रहते हैं जिन्हें "ब्लैक-बॉक्स" कहा जाता है। एक में उड़ान के समय वायुयान के उपकरणों तथा कल-पुर्ज़ों के कार्य का विवरण रिकॉर्ड होता रहता है तथा दुसरे में उस वायुयान को उड़ाने वाले चालक दल की धरती पर स्थित हवाई-अड्डों में बैठे वायुयानों की उड़ान का नियंत्रण करने वाले लोगों के साथ होने वाली वार्तालाप रिकॉर्ड की जाती है। इन दोनों ब्लैक-बॉक्स को बहुत मज़बूत बनाया जाता है जिससे दुर्घटना के समय वे खराब ना हों; वे अत्याधिक गरम अथवा ठंडा तापमान सह सकते हैं तथा पानी में डूबे होने पर भी अपनी स्थिति की सूचना देते रहने के लिए ऊपर सतह तक संकेत भेजने के लिए उन में व्यवस्था होती है। यदि वायुयान दुर्घटनाग्रस्त होता है तो इन बलैक-बॉकस को बड़े यत्न से ढूँढ़ कर उन में दर्ज सारे विवरण की बड़ी बारीकी से जाँच तथा विश्लेषण किया जाता है जिससे दुर्घटना के कारणों का पता लगाया जा सके और अन्य किसी वायुयान में वही गलती फिर ना हो इसका उपाय किया जा सके।

   हम मसीही विश्वासियों को भी अपने जीवन की बातों, विशेषतः गलतियों का पुनरावलोकन करते रहना चाहिए और परमेश्वर के वचन बाइबल से उन बातों से संबंधित सही शिक्षा लेते रहना चाहिए, अपने जीवनों को सुधारते रहना चाहिए। प्रेरित पौलुस ने मिस्त्र के दास्तव से निकलकर कनान देश में बसने जा रहे इस्त्राएलियों द्वारा करी गई गलतियों का कुरिन्थुस की मसीही मण्डली को लिखी अपनी पत्री में उल्लेख किया, और मण्डली के लोगों को चिताया, "परन्तु परमेश्वर उन में के बहुतेरों से प्रसन्न न हुआ, इसलिये वे जंगल में ढेर हो गए" (1 कुरिन्थियों 10:5)। पौलुस ने आगे कहा कि, "परन्तु यें सब बातें, जो उन पर पड़ी, दृष्‍टान्‍त की रीति पर भी: और वे हमारी चितावनी के लिये जो जगत के अन्‍तिम समय में रहते हैं लिखी गईं हैं" (1 कुरिन्थियों 10:11)।

   परमेश्वर ने अपना वचन अपनी प्रेरणा से हमारी भलाई के लिए लिखवाया है (2 तिमुथियुस 3:16-17) और परमेश्वर चाहता है कि हम उसके इस जीवित वचन की शिक्षाओं के अन्तर्गत अपने जीवनों तथा कार्यों का पुनरावलोकन करते रहें, अपने सुधार तथा परमेश्वर की इच्छा के अनुसार चलते रहने के लिए नियमित रूप से बाइबल का प्रयोग करते रहें। - सी. पी. हिया


परमेश्वर की चेतावनियाँ हमारे सुधार और सुरक्षा के लिए हैं, हमें दण्डित करने के लिए नहीं।

हर एक पवित्रशास्‍त्र परमेश्वर की प्रेरणा से रचा गया है और उपदेश, और समझाने, और सुधारने, और धर्म की शिक्षा के लिये लाभदायक है। ताकि परमेश्वर का जन सिद्ध बने, और हर एक भले काम के लिये तत्‍पर हो जाए। - 2 तिमुथियुस 3:16-17

बाइबल पाठ: 1 कुरिन्थियों 10:1-11
1 Corinthians 10:1 हे भाइयों, मैं नहीं चाहता, कि तुम इस बात से अज्ञात रहो, कि हमारे सब बाप दादे बादल के नीचे थे, और सब के सब समुद्र के बीच से पार हो गए। 
1 Corinthians 10:2 और सब ने बादल में, और समुद्र में, मूसा का बपितिस्मा लिया। 
1 Corinthians 10:3 और सब ने एक ही आत्मिक भोजन किया। 
1 Corinthians 10:4 और सब ने एक ही आत्मिक जल पीया, क्योंकि वे उस आत्मिक चट्टान से पीते थे, जो उन के साथ-साथ चलती थी; और वह चट्टान मसीह था। 
1 Corinthians 10:5 परन्तु परमेश्वर उन में के बहुतेरों से प्रसन्न न हुआ, इसलिये वे जंगल में ढेर हो गए। 
1 Corinthians 10:6 ये बातें हमारे लिये दृष्‍टान्‍त ठहरीं, कि जैसे उन्होंने लालच किया, वैसे हम बुरी वस्‍तुओं का लालच न करें। 
1 Corinthians 10:7 और न तुम मूरत पूजने वाले बनों; जैसे कि उन में से कितने बन गए थे, जैसा लिखा है, कि लोग खाने-पीने बैठे, और खेलने-कूदने उठे। 
1 Corinthians 10:8 और न हम व्यभिचार करें; जैसा उन में से कितनों ने किया: एक दिन में तेईस हजार मर गये । 
1 Corinthians 10:9 और न हम प्रभु को परखें; जैसा उन में से कितनों ने किया, और सांपों के द्वारा नाश किए गए। 
1 Corinthians 10:10 और न हम कुड़कुड़ाएं, जिस रीति से उन में से कितने कुड़कुड़ाए, और नाश करने वाले के द्वारा नाश किए गए। 
1 Corinthians 10:11 परन्तु यें सब बातें, जो उन पर पड़ी, दृष्‍टान्‍त की रीति पर भी: और वे हमारी चितावनी के लिये जो जगत के अन्‍तिम समय में रहते हैं लिखी गईं हैं।

एक साल में बाइबल: 
  • व्यवस्थाविवरण 23-25
  • मरकुस 14:1-26