बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Monday, December 12, 2016

सुरक्षित


   जब मैं बच्चा था, मेरा परिवार मेरे पिता द्वारा डनकनविले, टेक्सस में देवदार के जंगल के किनारे देवदार के लट्ठों से बनाए गए घर में रहा करते थे। हमारे घर में एक छोटा सा रसोई और खाने का स्थान था, दो श्यनकक्ष और एक बड़ा कमरा था जहाँ आग जलाने का बड़ा सा स्थान था जिसमें हम दो फुट लंबे देवदार के लट्ठे जलाया करते थे। वह आग जलाने का स्थान हमारे घर की गर्माहट का केंद्र था। हमारे परिवार में पाँच लोग थे, मेरे माता-पिता, मेरी बहिन, मेरी चचेरी बहिन और मैं। घर के बाहर बरामदा था जिसके बाहरी किनारे पर मोटे तिरपाल के परदे लगे थे जो खोलने पर नीचे ज़मीन तक आ जाते थे और बरामदे को सब तरफ से ढक कर कमरे जैसा बना देते थे। क्योंकि हमारे पास केवल दो ही श्यनकक्ष थे इसलिए सारे साल मैं बाहर बरामदे में तिरपाल के परदे गिरा कर सोया करता था। गर्मियाँ तो बरामदे में अच्छे से निकल जाती थीं, लेकिन शरद ऋतु में बहुत ठंडा हो जाता था।

   मुझे याद है कि सोने का समय होने पर मैं गरम कमरे से भाग कर बरामदे में जाता, नंगे पाँव पाले से ढके बरामदे पर चलता हुआ पलंग तक जाता और कूदकर कंबलों के अंबार के नीचे घुस जाता। फिर यदि बारिश, तूफान या बर्फ हमारे घर पर थपेड़े मारती, या तेज़ हवाएं लकड़ी के बीच से सीटी बजाती हुई निकलतीं, मैं बस उन कंबलों के अन्दर दुबक कर सोया रहता। मुझे नहीं लगता कि कोई भी बच्चा वैसा गर्म और सुरक्षित अनुभव करता होगा जैसा मैं वहाँ करता था।

   लेकिन अब मैं उस सबसे उत्तम सुरक्षा को जानता हूँ: परमेश्वर की सुरक्षा। अब मैं जीवन की प्रत्येक परिस्थिति में मैं "शान्ति से लेटकर सो जाऊँगा" (भजन 4:8) क्योंकि मैं जानता हूँ कि जीवन के हर तूफान में परमेश्वर मेरा शरणस्थान है। उसके प्रेम और सुरक्षा में लिपट कर मैं हर समय, हर बात में, हर आशंका से ऐसा सुरक्षित रहता हूँ जैसा और कहीं नहीं, और कभी नहीं रहा या रह सकता। - डेविड रोपर


जो परमेश्वर के हाथों में हैं, उनसे अधिक सुरक्षित कभी कोई और नहीं हो सकता।

यहोवा मेरी चट्टान, और मेरा गढ़ और मेरा छुड़ाने वाला है; मेरा ईश्वर, मेरी चट्टान है, जिसका मैं शरणागत हूं, वह मेरी ढ़ाल और मेरी मुक्ति का सींग, और मेरा ऊँचा गढ़ है। - भजन 18:2 

बाइबल पाठ: भजन 91:9-16
Psalms 91:9 हे यहोवा, तू मेरा शरण स्थान ठहरा है। तू ने जो परमप्रधान को अपना धाम मान लिया है, 
Psalms 91:10 इसलिये कोई विपत्ति तुझ पर न पड़ेगी, न कोई दु:ख तेरे डेरे के निकट आएगा।
Psalms 91:11 क्योंकि वह अपने दूतों को तेरे निमित्त आज्ञा देगा, कि जहां कहीं तू जाए वे तेरी रक्षा करें। 
Psalms 91:12 वे तुझ को हाथों हाथ उठा लेंगे, ऐसा न हो कि तेरे पांवों में पत्थर से ठेस लगे। 
Psalms 91:13 तू सिंह और नाग को कुचलेगा, तू जवान सिंह और अजगर को लताड़ेगा। 
Psalms 91:14 उसने जो मुझ से स्नेह किया है, इसलिये मैं उसको छुड़ाऊंगा; मैं उसको ऊंचे स्थान पर रखूंगा, क्योंकि उसने मेरे नाम को जान लिया है। 
Psalms 91:15 जब वह मुझ को पुकारे, तब मैं उसकी सुनूंगा; संकट में मैं उसके संग रहूंगा, मैं उसको बचा कर उसकी महिमा बढ़ाऊंगा। 
Psalms 91:16 मैं उसको दीर्घायु से तृप्त करूंगा, और अपने किए हुए उद्धार का दर्शन दिखाऊंगा।

एक साल में बाइबल: 
  • होशे 9-11
  • प्रकाशितवाक्य 3