बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Thursday, July 5, 2018

सहायता


      माई आस्या के तीस सहपाठी और उनके अभिभावक देख रहे थे जब वह घबराई हुई स्कूल में पांचवीं कक्षा उत्तीर्ण करने के दीक्षांत समारोह में बोलने के लिए मंच की ओर बढ़ी। स्कूल की प्रधान-अध्यापिका ने उसके कद के अनुसार माईक की ऊँचाई को ठीक किया, परन्तु माई आस्या माईक और दर्शकों की ओर पीठ करके खड़ी हो गई। दर्शकों में से लोग उसका हौसला बढ़ाने के लिए  उस से कहने लगे, “डरो नहीं, तुम यह कर सकती हो” परन्तु वह हिली तक नहीं। फिर उसका एक सहपाठी चलकर उसके पास आया और उसके साथ खड़ा हो गया। तब, एक ओर उसका मित्र, और दूसरी ओर प्रधान-अध्यापिका, तीनों ने मिलकर उसके उस भाषण को इकठ्ठे पढ़ा। सहारा बनने और सहायता करने का यह कैसा सुन्दर उदाहरण था।

      परमेश्वर के वचन बाइबल में हम पाते हैं कि अमालेकियों से हो रहे युद्ध के दौरान मूसा को भी सहायता और सहारे की आवश्यकता पड़ी (निर्गमन 17:10-16)। “और जब तक मूसा अपना हाथ उठाए रहता था तब तक तो इस्राएल प्रबल होता था; परन्तु जब जब वह उसे नीचे करता तब तब अमालेक प्रबल होता था” (पद 11); जब हारून और हूर ने देखा कि क्या हो रहा है, वे दोनों मूसा के साथ खड़े हो गए, एक इस ओर तो दूसरा दूसरी ओर, और उसके थकते हुए हाथों को सहारा दिया। उनके इस सहयोग की सहायता से, सांझ होने तक, इस्राएलियों को युद्ध में विजय मिल गई।

      हम सभी को एक दूसरे की सहायता, सहयोग और सहारे की आवश्यकता पड़ती है। परमेश्वर के परिवार के भाई-बहनों के रूप में, हमारे पास मसीही विश्वास की अपनी इस यात्रा में एक दूसरी की सहायता करने के अनेकों अवसर होते हैं। और परमेश्वर हमारे साथ, हमारे मध्य में रहता है, हमें ऐसा करने के लिए आवश्यक अनुग्रह प्रदान करता रहता है। -ऐनी सेटास

प्रोत्साहन की एक चिंगारी से आशा का दीपक जल उठता है।

प्रभु यहोवा ने मुझे सीखने वालों की जीभ दी है कि मैं थके हुए को अपने वचन के द्वारा संभालना जानूं। भोर को वह नित मुझे जगाता और मेरा कान खोलता है कि मैं शिष्य के समान सुनूं। - यशायाह 50:4

बाइबल पाठ: निर्गमन 17:8-16
Exodus 17:8 तब अमालेकी आकर रपीदीम में इस्राएलियों से लड़ने लगे।
Exodus 17:9 तब मूसा ने यहोशू से कहा, हमारे लिये कई एक पुरूषों को चुनकर छांट ले, ओर बाहर जा कर अमालेकियों से लड़; और मैं कल परमेश्वर की लाठी हाथ में लिये हुए पहाड़ी की चोटी पर खड़ा रहूंगा।
Exodus 17:10 मूसा की इस आज्ञा के अनुसार यहोशू अमालेकियों से लड़ने लगा; और मूसा, हारून, और हूर पहाड़ी की चोटी पर चढ़ गए।
Exodus 17:11 और जब तक मूसा अपना हाथ उठाए रहता था तब तक तो इस्राएल प्रबल होता था; परन्तु जब जब वह उसे नीचे करता तब तब अमालेक प्रबल होता था।
Exodus 17:12 और जब मूसा के हाथ भर गए, तब उन्होंने एक पत्थर ले कर मूसा के नीचे रख दिया, और वह उस पर बैठ गया, और हारून और हूर एक एक अलंग में उसके हाथों को सम्भाले रहें; और उसके हाथ सूर्यास्त तक स्थिर रहे।
Exodus 17:13 और यहोशू ने अनुचरों समेत अमालेकियों को तलवार के बल से हरा दिया।
Exodus 17:14 तब यहोवा ने मूसा से कहा, स्मरणार्थ इस बात को पुस्तक में लिख ले और यहोशू को सुना दे, कि मैं आकाश के नीचे से अमालेक का स्मरण भी पूरी रीति से मिटा डालूंगा।
Exodus 17:15 तब मूसा ने एक वेदी बनाकर उसका नाम यहोवानिस्सी रखा ;
Exodus 17:16 और कहा, यहोवा ने शपथ खाई है, कि यहोवा अमालेकियों से पीढिय़ों तक लड़ाई करता रहेगा।
                                                 

एक साल में बाइबल: 
  • अय्यूब 30-31
  • प्रेरितों 13:26-52