बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Thursday, September 17, 2020

बाँटना और बताना

 

         मैं अपनी पर-नानी की बाइबल के पन्ने पलट रहा था, और मेरी गोदी में एक खज़ाना आ गिरा – कागज़ का एक छोटा टुकड़ा, जिस पर एक बच्चे की लिखाई में लिखा हुआ था, धन्य हैं वे, जो मन के दीन हैं, क्योंकि स्वर्ग का राज्य उन्‍हीं का है। धन्य हैं वे, जो शोक करते हैं, क्योंकि वे शांति पाएंगे” (मत्ती 5:3-4)। परमेश्वर के वचन बाइबल में से लिए गए इन पदों के साइड में बच्चों के लिखाई में, मेरी माँ के हस्ताक्षर थे।

         मेरी पर-नानी की आदत थी कि वे अपने नाती-पोते-पोतियों को पवित्र शास्त्र के पद लिख कर सीखने के लिए कहती थीं, जिससे वे उन्हें कंठस्थ हो जाएँ, उनके मन में बस जाएँ। परन्तु इस कागज़ पर लिखे पदों के पीछे की कहानी से मेरी आँखें भर आईं। मेरी माँ अभी छोटी ही थीं, जब उनके पिता (मेरे नाना) का देहांत हो गया, और उसके कुछ सप्ताह बाद ही मेरी माँ के छोटे भाई का भी देहांत हो गया। उस दुखद समय में मेरी पर-नानी ने मेरी माँ को प्रभु यीशु और उस सांत्वना के बारे में बताया जो केवल प्रभु ही प्रदान कर सकता है।

         बाइबल में हम देखते हैं कि पौलुस ने तिमुथियुस को लिखा, और मुझे तेरे उस निष्कपट विश्वास की सुधि आती है, जो पहिले तेरी नानी लोइस, और तेरी माता यूनीके में थी, और मुझे निश्चय हुआ है, कि तुझ में भी है” (2 तीमुथियुस 1:5)। विश्वास विरासत में नहीं मिलता है, परन्तु बांटा या बताया जाता है। तिमुथियुस की माँ और नानी ने उसके साथ अपने विश्वास को बाँटा, उसे प्रभु के बारे में बताया, और उसने भी विश्वास किया।

         जो लोग हमारे निकट हैं जब हम उन्हें प्रोत्साहित करता हैं कि वे प्रभु यीशु में विश्वास लाएं, तो हम उन्हें प्रेम की एक विरासत सौंपते हैं। उस कागज़ के टुकड़े पर लिखे गए कुछ शब्दों के द्वारा मेरी माँ ने मेरी पर-नानी के उद्धारकर्ता के प्रति और अपने परिवार के प्रति प्रेम का प्रमाण छोड़ा।

         हम भी प्रभु के बारे में लोगों को बताएँ, अपने विश्वास को औरों के साथ बाँटें। - जेम्स बैंक्स

 

जब हम अपना विश्वास बांटते हैं, तब हम सबसे बड़ा खज़ाना बाँटते हैं।


उसी प्रकार तुम्हारा उजियाला मनुष्यों के सामने चमके कि वे तुम्हारे भले कामों को देखकर तुम्हारे पिता की, जो स्वर्ग में हैं, बड़ाई करें। - मत्ती 5:16

बाइबल पाठ: 2 तिमुथियुस 1:1-5

2 तीमुथियुस 1:1 पौलुस की ओर से जो उस जीवन की प्रतिज्ञा के अनुसार जो मसीह यीशु में है, परमेश्वर की इच्छा से मसीह यीशु का प्रेरित है।

2 तीमुथियुस 1:2 प्रिय पुत्र तीमुथियुस के नाम। परमेश्वर पिता और हमारे प्रभु मसीह यीशु की ओर से तुझे अनुग्रह और दया और शान्ति मिलती रहे।

2 तीमुथियुस 1:3 जिस परमेश्वर की सेवा मैं अपने बाप दादों की रीति पर शुद्ध विवेक से करता हूं, उसका धन्यवाद हो कि अपनी प्रार्थनाओं में तुझे लगातार स्मरण करता हूं।

2 तीमुथियुस 1:4 और तेरे आंसुओं की सुधि कर कर के रात दिन तुझ से भेंट करने की लालसा रखता हूं कि आनन्द से भर जाऊं।

2 तीमुथियुस 1:5 और मुझे तेरे उस निष्कपट विश्वास की सुधि आती है, जो पहिले तेरी नानी लोइस, और तेरी माता यूनीके में थी, और मुझे निश्चय हुआ है, कि तुझ में भी है।

 

एक साल में बाइबल: 

  • नीतिवचन 27-29
  • 2 कुरिन्थियों 10

No comments:

Post a Comment