बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Sunday, January 10, 2021

सभी

 

          हमारे चर्च की सभाएं एक पुराने प्राथमिक विद्यालय में होती हैं। सन 1958 में, अफ्रीकी मूल के विद्यार्थियों को भी श्वेत अमरीकी विद्यार्थियों के साथ बैठकर समान शिक्षा पाने का अधिकार रखने के अमेरिका के न्यायालय के आदेश का पालन करने की बजाए स्कूल के प्रबंधकों ने उसे बन्द कर देना अधिक उत्तम समझा। इससे अगले वर्ष वह स्कूल फिर से खोला गया, और उस समय, हमारे चर्च की एक वर्तमान अश्वेत सदस्य, एलवा,उसमें एक अश्वेत विद्यार्थी हुई। एलवा याद करती है, “मुझे अपने सुरक्षित समाज और उन शिक्षकों के पास से जो हमारे जीवन का भाग थे, निकाल कर एक डरावने वातावरण में डाल दिया गया, एक ऐसी कक्षा में जिसमें मेरे अतिरिक्त  केवल एक ही और अश्वेत विद्यार्थी था।” अपने अश्वेत रंग के कारण एलवा को बहुत कठिनाइयों का सामना करना पड़ा, परन्तु वह साहस रखने वाली, मसीही विश्वास रखने और क्षमा करने वाली स्त्री बनी।

          उसकी गवाही बहुत गंभीर है, उस सभी बुराई के कारण जो उसे समाज के कुछ ऐसे लोगों के हाथों सहन करनी पड़ी, जो इस सत्य को स्वीकार नहीं करते थे कि परमेश्वर सभी से प्रेम करता है, वे चाहे किसी भी रंग,जाति, स्तर के क्यों न हों।

          परमेश्वर के वचन बाइबल में भी हम देखते हैं कि प्रारंभिक कलीसिया के कुछ सदस्यों को इसी तथ्य के साथ जूझना पड़ा था कि परमेश्वर सभी से समान प्रेम करता है; जबकि उनकी अपनी धारणा थी कि कुछ लोग जन्म से ही परमेश्वर के प्रेम के लिए विशिष्ट होते हैं, परमेश्वर उन्हीं से प्रेम करता है, और शेष सभी को अस्वीकार करता है। किन्तु परमेश्वर से दिव्य-दर्शन पाने के बाद जब पतरस प्रेरित ने यह तथ्य सभी मसीही विश्वासियों को बताया, तो सभी भौंचक्के रह गए। पतरस ने कहा,अब मुझे निश्चय हुआ, कि परमेश्वर किसी का पक्ष नहीं करता, वरन हर जाति में जो उस से डरता और धर्म के काम करता है, वह उसे भाता है” (प्रेरितों 10:35 )।

          परमेश्वर ने अपने प्रेम को संसार के सभी लोगों को बिना किसी भेदभाव के प्रदान करने के लिए अपनी बाहें कलवरी के क्रूस पर फैला दीं। हमें भी उसी के समान, बिना किसी भी प्रकार के भेदभाव के, सभी से प्रेम करना है। - विन्न कोलियर

 

हम में लोगों को दूर धकेल देने की प्रवृत्ति हो सकती है; 

परन्तु परमेश्वर का प्रेम सभी के लिए सदैव उपलब्ध रहता है।


और मन के जांचने वाले परमेश्वर ने उन को भी हमारे समान पवित्र आत्मा देकर उन की गवाही दी। और विश्वास के द्वारा उन के मन शुद्ध कर के हम में और उन में कुछ भेद न रखा। - प्रेरितों 15:8-9

बाइबल पाठ: प्रेरितों 10:34-38

प्रेरितों के काम 10:34 तब पतरस ने मुंह खोल कर कहा;

प्रेरितों के काम 10:35 अब मुझे निश्चय हुआ, कि परमेश्वर किसी का पक्ष नहीं करता, वरन हर जाति में जो उस से डरता और धर्म के काम करता है, वह उसे भाता है।

प्रेरितों के काम 10:36 जो वचन उसने इस्राएलियों के पास भेजा, जब कि उसने यीशु मसीह के द्वारा (जो सब का प्रभु है) शान्ति का सुसमाचार सुनाया।

प्रेरितों के काम 10:37 वह बात तुम जानते हो जो यूहन्ना के बपतिस्मा के प्रचार के बाद गलील से आरम्भ कर के सारे यहूदिया में फैल गई।

प्रेरितों के काम 10:38 कि परमेश्वर ने किस रीति से यीशु नासरी को पवित्र आत्मा और सामर्थ्य से अभिषेक किया: वह भलाई करता, और सब को जो शैतान के सताए हुए थे, अच्छा करता फिरा; क्योंकि परमेश्वर उसके साथ था।

 

एक साल में बाइबल: 

  • उत्पत्ति 25-26
  • मत्ती 8:1-17

No comments:

Post a Comment