बाइबल और मसीही विश्वास सम्बन्धी अपने प्रश्नों के लिए यहाँ क्लिक करें:

GotQuestions?org

Wednesday, July 31, 2019

नया



      किशोर मसीही विश्वासियों का एक समूह, एक वृद्धाश्रम में लोगों से मिलने के लिए गया। उनमें से एक युवती का ध्यान कमरे के अन्त में एक अकेले पड़े हुए व्यक्ति की ओर गया। उसके पास सोने के लिए एक खाट के अतिरिक्त शायद कुछ और रह नहीं गया था – और उस खाट से वह अपने शरीर की अक्षमता के कारण हिल-डुल नहीं सकता था।

      उस युवती ने तुरंत ही हमारे प्रति परमेश्वर के प्रेम की कहानी उसे बताना आरंभ किया और परमेश्वर के वचन बाइबल से कुछ खण्डों को उसे पढ़कर सुनाया। जैसे-जैसे वह उस वृद्ध को परमेश्वर के प्रेम के बारे में सुनाती और पढ़ कर सुनाती गई, उस युवती ने अनुभव किया कि उस वृद्ध में और अधिक जानने की जिज्ञासा बढ़ने लगी। उसकी इस रुचि का प्रत्युत्तर देते हुए, उस युवती ने वृद्ध को प्रभु यीशु मसीह के बलिदान के चमत्कार के विषय समझाया। युवती ने पाया कि बिना घर-परिवार और बिना केसी आशा के जीवन जी रहे उस वृद्ध के लिए यह समझना कठिन था कि कोई ऐसा भी है जो उसके पापों के लिए क्रूस पर अपना जीवन बलिदान करने के लिए तैयार है, चाहे वे कभी मिले न भी हों।

      युवती ने उसे प्रभु यीशु के विषय और भी बताया – और सभी विश्वास करने वालों के लिए स्वर्ग के वायदे (एक नए शरीर सहित) के विषय भी बताया। वृद्ध ने युवती से पूछा, “क्या ऊपर वहाँ तुम मेरे साथ्नाचोगी?” युवती को आभास हुआ कि वह अपने इस क्षीण हो चुके शरीर और उसकी अशक्त कर देने वाली सीमाओं से मुक्त हुए जीवन के बारे में सोच रहा था। जब वृद्ध ने कहा कि वह प्रभु यीशु मसीह को अपना मुक्तिदाता स्वीकार करना चाहता है, तो युवती ने क्षमा और विश्वास की प्रार्थना करने में उसकी सहायता की। जब युवती ने पूछा कि क्या वह उसके साथ एक फोटो खिंचवाने की अनुमति देगा, तो उसने उत्तर दिया कि फोटो खिंचवाएगा, यदि वह बैठने में उसकी सहायता करेगी; क्योंकि अब वह एक नया आदमी है।

      परमेश्वर की स्तुति हो प्रभु यीशु मसीह के जीवन बदलने, आशा प्रदान करने वाले, सबके लिए सेंट-मेंत में उपलब्ध सुसमाचार के लिए। जितने प्रभु में विश्वास लाते हैं उन्हें नया जीवन प्राप्त होता है (कुलुस्सियों 1:5, 23)।  - डेव ब्रैनन


प्रभु यीशु नया जीवन प्रदान करता है।

यदि तुम विश्वास की नेव पर दृढ़ बने रहो, और उस सुसमाचार की आशा को जिसे तुम ने सुना है न छोड़ो, जिस का प्रचार आकाश के नीचे की सारी सृष्‍टि में किया गया; और जिस का मैं पौलुस सेवक बना। - कुलुस्सियों 1:23

बाइबल पाठ: कुलुस्सियों 1:3-14
Colossians 1:3 हम तुम्हारे लिये नित प्रार्थना कर के अपने प्रभु यीशु मसीह के पिता अर्थात परमेश्वर का धन्यवाद करते हैं।
Colossians 1:4 क्योंकि हम ने सुना है, कि मसीह यीशु पर तुम्हारा विश्वास है, और सब पवित्र लोगों से प्रेम रखते हो।
Colossians 1:5 उस आशा की हुई वस्तु के कारण जो तुम्हारे लिये स्वर्ग में रखी हुई है, जिस का वर्णन तुम उस सुसमाचार के सत्य वचन में सुन चुके हो।
Colossians 1:6 जो तुम्हारे पास पहुंचा है और जैसा जगत में भी फल लाता, और बढ़ता जाता है; अर्थात जिस दिन से तुम ने उसको सुना, और सच्चाई से परमेश्वर का अनुग्रह पहिचाना है, तुम में भी ऐसा ही करता है।
Colossians 1:7 उसी की शिक्षा तुम ने हमारे प्रिय सहकर्मी इपफ्रास से पाई, जो हमारे लिये मसीह का विश्वास योग्य सेवक है।
Colossians 1:8 उसी ने तुम्हारे प्रेम को जो आत्मा में है हम पर प्रगट किया।
Colossians 1:9 इसी लिये जिस दिन से यह सुना है, हम भी तुम्हारे लिये यह प्रार्थना करने और बिनती करने से नहीं चूकते कि तुम सारे आत्मिक ज्ञान और समझ सहित परमेश्वर की इच्छा की पहिचान में परिपूर्ण हो जाओ।
Colossians 1:10 ताकि तुम्हारा चाल-चलन प्रभु के योग्य हो, और वह सब प्रकार से प्रसन्न हो, और तुम में हर प्रकार के भले कामों का फल लगे, और परमेश्वर की पहिचान में बढ़ते जाओ।
Colossians 1:11 और उस की महिमा की शक्ति के अनुसार सब प्रकार की सामर्थ से बलवन्‍त होते जाओ, यहां तक कि आनन्द के साथ हर प्रकार से धीरज और सहनशीलता दिखा सको।
Colossians 1:12 और पिता का धन्यवाद करते रहो, जिसने हमें इस योग्य बनाया कि ज्योति में पवित्र लोगों के साथ मीरास में समभागी हों।
Colossians 1:13 उसी ने हमें अन्धकार के वश से छुड़ाकर अपने प्रिय पुत्र के राज्य में प्रवेश कराया।
Colossians 1:14 जिस में हमें छुटकारा अर्थात पापों की क्षमा प्राप्त होती है।

एक साल में बाइबल: 
  • भजन 54-56
  • रोमियों 3



Tuesday, July 30, 2019

पीढ़ीयाँ



      मेरे माता-पिता का विवाह 1933 में हुआ जो आर्थिक महा-मंदी का समय था। मैं और मेरी पत्नि तब जन्मे थे जब द्वितीय विश्व-युद्ध के पश्चात बच्चों के जन्म-दर में नाटकीय उछाल आया था। हमारी चार बेटियों ने, सत्तर और अस्सी के दशकों के भिन्न-भिन्न वातावरण में जन्म लिया। क्योंकि हम सब इतने भिन्न समयों और परिस्थितियों में जन्मे और बड़े हुए, इसलिए इसमें अचंभे की कोई बात नहीं है कि अनेकों बातों के बारे में हम भिन्न राय रखते हैं।

      जीवन के अनुभवों और और मूल्यों में पीढ़ियों के दृष्टिकोणों में बहुत अन्तर होते हैं। यही बात प्रभु यीशु मसीह के अनुयायियों में भी देखी जाती है। किन्तु हम चाहे जैसे भी वस्त्र पहनना या संगीत सुनना पसन्द करते हों, हमारा आत्मिक संबंध उन भिन्नताओं से अधिक सुदृढ़ है।

      परमेश्वर के वचन बाइबल में भजन 145 परमेश्वर की स्तुति और प्रशंसा का एक महान भजन है जो हमारे विश्वास के बंधनों को बताता है, “तेरे कामों की प्रशंसा और तेरे पराक्रम के कामों का वर्णन, पीढ़ी पीढ़ी होता चला जाएगा” (पद 4)। आयु और अनुभवों की बहुत भिन्नता के बावजूद, हम प्रभु को आदर देने के द्वारा साथ हो जाते हैं, और “वे तेरे राज्य की महिमा की चर्चा करेंगे, और तेरे पराक्रम के विषय में बातें करेंगे” (पद 11)।

      हो सकता है कि इन भिन्नताओं और व्यक्तिगत पसंदों के कारण हम विभाजित हों, परन्तु प्रभु यीशु मसीह में लाए गए साझा विश्वास के कारण, परस्पर विश्वास, प्रोत्साहन, और आराधना में हम एक साथ हो जाते हैं। हम चाहे किसी भी पीढ़ी के क्यों न हों, हम एक-दूसरे से सीख सकते हैं और साथ मिलकर परमेश्वर को आदर और महिमा दे सकते हैं, “कि वे आदमियों पर तेरे पराक्रम के काम और तेरे राज्य के प्रताप की महिमा प्रगट करें” (पद 12)। - डेविड मैक्कैस्लैंड


परमेश्वर का राज्य सभी पीढ़ियों में सजीव और सक्रीय बना रहता है।

हे परमेश्वर, तेरा सिंहासन सदा सर्वदा बना रहेगा; तेरा राजदण्ड न्याय का है। - भजन 45:6

बाइबल पाठ: भजन 145:1-13
Psalms 145:1 हे मेरे परमेश्वर, हे राजा, मैं तुझे सराहूंगा, और तेरे नाम को सदा सर्वदा धन्य कहता रहूंगा।
Psalms 145:2 प्रति दिन मैं तुझ को धन्य कहा करूंगा, और तेरे नाम की स्तुति सदा सर्वदा करता रहूंगा।
Psalms 145:3 यहोवा महान और अति स्तुति के योग्य है, और उसकी बड़ाई अगम है।
Psalms 145:4 तेरे कामों की प्रशंसा और तेरे पराक्रम के कामों का वर्णन, पीढ़ी पीढ़ी होता चला जाएगा।
Psalms 145:5 मैं तेरे ऐश्वर्य की महिमा के प्रताप पर और तेरे भांति भांति के आश्चर्यकर्मों पर ध्यान करूंगा।
Psalms 145:6 लोग तेरे भयानक कामों की शक्ति की चर्चा करेंगे, और मैं तेरे बड़े बड़े कामों का वर्णन करूंगा।
Psalms 145:7 लोग तेरी बड़ी भलाई का स्मरण कर के उसकी चर्चा करेंगे, और तेरे धर्म का जयजयकार करेंगे।
Psalms 145:8 यहोवा अनुग्रहकारी और दयालु, विलम्ब से क्रोध करने वाला और अति करूणामय है।
Psalms 145:9 यहोवा सभों के लिये भला है, और उसकी दया उसकी सारी सृष्टि पर है।
Psalms 145:10 हे यहोवा, तेरी सारी सृष्टि तेरा धन्यवाद करेगी, और तेरे भक्त लोग तुझे धन्य कहा करेंगे!
Psalms 145:11 वे तेरे राज्य की महिमा की चर्चा करेंगे, और तेरे पराक्रम के विषय में बातें करेंगे;
Psalms 145:12 कि वे आदमियों पर तेरे पराक्रम के काम और तेरे राज्य के प्रताप की महिमा प्रगट करें।
Psalms 145:13 तेरा राज्य युग युग का और तेरी प्रभुता सब पीढ़ियों तक बनी रहेगी।

एक साल में बाइबल: 
  • भजन 51-53
  • रोमियों 2



Monday, July 29, 2019

विशेषाधिकार



      यद्यपि वह उसका प्रतिरूप ही था, फिर भी दक्षिणी इस्राएल के नेगेव मरुभूमि में स्थित वह मिलाप वाले तम्बू का नमूना विस्मयकारी था। उसे परमेश्वर के वचन बाइबल के निर्गमन 25-27 अध्याय में दिए गए वर्णन के अनुसार बनाया गया था, बस उसमें वास्तव में सोना और बबूल की लकड़ी का प्रयोग नहीं हुआ था। जब हमारे पर्यटक समूह को उस नमूने के “पवित्र-स्थान” से “महापवित्र-स्थान” को ले जाया गया कि वहाँ स्थित “वाचा के सन्दूक” को देख सकें, तो कुछ लोग जाने से हिचकिचाए, क्योंकि यह वह परमपवित्र स्थान था जहाँ केवल महायाजक को वर्ष में एक बार विशेष तैयारी के साथ ही प्रवेश करने की अनुमति दी गई थी। हम सामान्य लोग उस स्थान में ऐसे ही सहजता से प्रवेश कैसे कर सकते थे?

      मैं अब कल्पना कर सकता हूँ कि इस्राएलियों को मिलाप वाले तम्बू में प्रवेश करना कितना भयावह प्रतीत होता होगा। जब भी वे आते, उन्हें उपयुक्त बलिदान साथ लेकर आने होते थे, और इस एहसास के साथ आना होता था कि वे परम-प्रधान परमेश्वर की उपस्थिति में आ रहे हैं। मैं उनके अचरज को भी समझ सकता हूँ जब परमेश्वर मूसा के द्वारा उन्हें अपना सन्देश देता होगा।

      आज, मैं और आप, परमेश्वर के सम्मुख सीधे से आ सकते हैं, इस विश्वास के साथ कि प्रभु यीशु के बलिदान ने हमारे और परमेश्वर के बीच की दीवार को गिरा दिया है (इब्रानियों 12:22-23)। हम मसीही विश्वासी कभी भी, जब भी इच्छा या आवश्यकता हो, परमेश्वर से सीधे बात कर सकते हैं और उसकी बात को सुन सकते हैं, उसके वचन बाइबल को पढ़ने के द्वारा। हमारे पास परमेश्वर तक वह सीधी पहुँच है जिसकी इस्राएली केवल कल्पना ही कर सकते थे।

      हम अपने इस विशेषाधिकार को कभी हलके में न लें, और परमेश्वर पिता के पास उसके प्रिय सन्तान होने के कारण हमें प्रदान किए गए इस अद्भुत विशेषाधिकार का महत्व समझें, उसका उचित आदर बनाए रखें। - लेस्ली कोह


प्रार्थना के द्वारा हमें परमेश्वर पिता के सम्मुख तुरंत उपस्थित होने का विशेषाधिकार है।

सो जब हम विश्वास से धर्मी ठहरे, तो अपने प्रभु यीशु मसीह के द्वारा परमेश्वर के साथ मेल रखें। - रोमियों 5:1

बाइबल पाठ: इब्रानियों 12:18-24
Hebrews 12:18 तुम तो उस पहाड़ के पास जो छूआ जा सकता था और आग से प्रज्‍वलित था, और काली घटा, और अन्‍धेरा, और आन्‍धी के पास।
Hebrews 12:19 और तुरही की ध्‍वनि, और बोलने वाले के ऐसे शब्द के पास नहीं आए, जिस के सुनने वालों ने बिनती की, कि अब हम से और बातें न की जाएं।
Hebrews 12:20 क्योंकि वे उस आज्ञा को न सह सके, कि यदि कोई पशु भी पहाड़ को छूए, तो पत्थरवाह किया जाए।
Hebrews 12:21 और वह दर्शन ऐसा डरावना था, कि मूसा ने कहा; मैं बहुत डरता और कांपता हूं।
Hebrews 12:22 पर तुम सिय्योन के पहाड़ के पास, और जीवते परमेश्वर के नगर स्‍वर्गीय यरूशलेम के पास।
Hebrews 12:23 और लाखों स्‍वर्गदूतों और उन पहिलौठों की साधारण सभा और कलीसिया जिन के नाम स्वर्ग में लिखे हुए हैं: और सब के न्यायी परमेश्वर के पास, और सिद्ध किए हुए धर्मियों की आत्माओं।
Hebrews 12:24 और नई वाचा के मध्यस्थ यीशु, और छिड़काव के उस लोहू के पास आए हो, जो हाबिल के लोहू से उत्तम बातें कहता है।

एक साल में बाइबल: 
  • भजन 49-50
  • रोमियों 1



Sunday, July 28, 2019

क्षमा



      मेरा मित्र नौर्म कुक जब काम से वापस घर लौटता है तो कभी-कभी अपने परिवार को चकित कर देता है। वह घर के मुख्य द्वार से प्रवेश करके, ऊँची आवाज़ में सभी उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए ऊँची आवाज़ में कहता है, “तुम सब क्षमा किए गए हो!” यह इसलिए नहीं क्योंकि परिवार के सदस्यों ने उसके विरुद्ध कुछ गलत किया होता है और उन्हें उससे क्षमा की आवश्यकता होती है। वह तो बस उन्हें स्मरण दिला रहा होता है कि निःसंदेह, दिन भर में उनसे कोई न कोई पाप हुआ होगा, परन्तु परमेश्वर ने अपने अनुग्रह में होकर उन सब को क्षमा किया है।

      परमेश्वर के वचन बाइबल में प्रेरित यूहन्ना अनुग्रह के विषय यह लिखता है: “पर यदि जैसा वह ज्योति में है, वैसे ही हम भी ज्योति में चलें, तो एक दूसरे से सहभागिता रखते हैं; और उसके पुत्र यीशु का लोहू हमें सब पापों से शुद्ध करता है। यदि हम कहें, कि हम में कुछ भी पाप नहीं, तो अपने आप को धोखा देते हैं: और हम में सत्य नहीं। यदि हम अपने पापों को मान लें, तो वह हमारे पापों को क्षमा करने, और हमें सब अधर्म से शुद्ध करने में विश्वासयोग्य और धर्मी है” (1 यूहन्ना 1:7-9)।

      “ज्योति में चलना” प्रभु यीशु का अनुसरण करने को आलंकारिक रीति से कहना है। यूहन्ना बल देता है कि पवित्र-आत्मा की सहायता से प्रभु यीशु का अनुसरण करना इस बात का चिन्ह है कि विश्वास की संगति में हम भी प्रेरितों के साथ सम्मिलित हो गए हैं; हम वास्तविक मसीही हैं। किन्तु वह आगे कहता है, हम धोखा न खाएं: कभी-कभी हम गलत चुनाव करेंगे। फिर भी परमेश्वर का अनुग्रह भरपूरी से हमें प्रदान किया गया है; हमें जैसी भी क्षमा की आवश्यकता है वह हमारे लिए उपलब्ध है।

      हम सिद्ध नहीं है; बस प्रभु यीशु द्वारा क्षमा किए गए हैं! यही आज के लिए सुसमाचार है – प्रभु यीशु से पापों की क्षमा सभी के लिए उपलब्ध है। - डेविड रोपर


परमेश्वर की बुद्धिमत्ता से भटक जाने से बचे रहने के लिए,
 प्रतिदिन अपने मनों को जांचते रहें।

हे परमेश्वर, मेरे अन्दर शुद्ध मन उत्पन्न कर, और मेरे भीतर स्थिर आत्मा नये सिरे से उत्पन्न कर। - भजन 51:10

बाइबल पाठ: 1 यूहन्ना 1:1-10
1 John 1:1 उस जीवन के वचन के विषय में जो आदि से था, जिसे हम ने सुना, और जिसे अपनी आंखों से देखा, वरन जिसे हम ने ध्यान से देखा; और हाथों से छूआ।
1 John 1:2 (यह जीवन प्रगट हुआ, और हम ने उसे देखा, और उस की गवाही देते हैं, और तुम्हें उस अनन्त जीवन का समाचार देते हैं, जो पिता के साथ था, और हम पर प्रगट हुआ)।
1 John 1:3 जो कुछ हम ने देखा और सुना है उसका समाचार तुम्हें भी देते हैं, इसलिये कि तुम भी हमारे साथ सहभागी हो; और हमारी यह सहभागिता पिता के साथ, और उसके पुत्र यीशु मसीह के साथ है।
1 John 1:4 और ये बातें हम इसलिये लिखते हैं, कि हमारा आनन्द पूरा हो जाए।
1 John 1:5 जो समाचार हम ने उस से सुना, और तुम्हें सुनाते हैं, वह यह है; कि परमेश्वर ज्योति है: और उस में कुछ भी अन्धकार नहीं।
1 John 1:6 यदि हम कहें, कि उसके साथ हमारी सहभागिता है, और फिर अन्धकार में चलें, तो हम झूठे हैं: और सत्य पर नहीं चलते।
1 John 1:7 पर यदि जैसा वह ज्योति में है, वैसे ही हम भी ज्योति में चलें, तो एक दूसरे से सहभागिता रखते हैं; और उसके पुत्र यीशु का लोहू हमें सब पापों से शुद्ध करता है।
1 John 1:8 यदि हम कहें, कि हम में कुछ भी पाप नहीं, तो अपने आप को धोखा देते हैं: और हम में सत्य नहीं।
1 John 1:9 यदि हम अपने पापों को मान लें, तो वह हमारे पापों को क्षमा करने, और हमें सब अधर्म से शुद्ध करने में विश्वासयोग्य और धर्मी है।
1 John 1:10 यदि कहें कि हम ने पाप नहीं किया, तो उसे झूठा ठहराते हैं, और उसका वचन हम में नहीं है।

एक साल में बाइबल: 
  • भजन 46-48
  • प्रेरितों 28



Saturday, July 27, 2019

साथी



      नर्सिंग होम में वह वृद्ध महिला न तो किसी से बात करती थी और न ही किसी से कुछ मांगती थी। उससे मिलने वाले भी कम ही आते थे। लगता था कि बस वह अपनी पुरानी चरमराती झूलने वाली कुर्सी पर बैठकर हिलते हुए अपने जीवन के दिन बिता रही है। उस महिला से कोई भी प्रश्न पूछे बिना या उससे किसी वार्तालाप को आरंभ करने का प्रयास किए बिना, एक युवा नर्स अपने अवकाश के समय में उस महिला के कमरे में जाकर एक और झूलने वाली कुर्सी को उसके पास खींचकर चुपचाप उसके साथ बैठी झूलती रहती थी। कई महीनों तक ऐसा होने के पश्चात एक दिन उस वृद्ध महिला ने नर्स से कहा, “मेरे साथ बैठकर झूलने के लिए धन्यवाद।” वह उस नर्स द्वारा उसे संगति देने के लिए आभारी थी।

      परमेश्वर के वचन बाइबल में, अपने स्वर्गारोहण से पहले, प्रभु यीशु ने अपने शिष्यों से वायदा किया कि वे उन्हें अकेला नहीं  छोड़ेंगे, उनके साथ सदा बने रहने वाला एक साथी उनकी सहायता के लिए भेजेंगे (यूहन्ना 14:17), जो उनमें बसा रहेगा। प्रभु का यह वायदा आज भी मसीही विश्वासियों के लिए उतना ही सत्य है। प्रभु यीशु ने कहा कि त्रिएक परमेश्वर हम में अपना “घर” बनाएगा (पद 23)।

      प्रभु हमारे जीवन भर, हमारा निकट और विश्वासयोग्य साथी है। वह हमारे सभी संघर्षों में सदा हमारा मार्गदर्शन करता है, हमारे पापों को क्षमा करता है, हमारी प्रत्येक प्रार्थना को सुनता है, और जिन बोझों को हम नहीं उठा पाते हैं उन्हें हमारे लिए उठाता है।

      हम अपने इस भरोसेमंद साथी की मधुर संगति का आनन्द लेते रह सकते हैं। - एनी सेटास


मसीही विश्वासी का हृदय पवित्र आत्मा का घर है।

क्या तुम नहीं जानते, कि तुम्हारी देह पवित्रात्मा का मन्दिर है; जो तुम में बसा हुआ है और तुम्हें परमेश्वर की ओर से मिला है, और तुम अपने नहीं हो? – 1 कुरिन्थियों 6:19

बाइबल पाठ: यूहन्ना 14:15-26
John 14:15 यदि तुम मुझ से प्रेम रखते हो, तो मेरी आज्ञाओं को मानोगे।
John 14:16 और मैं पिता से बिनती करूंगा, और वह तुम्हें एक और सहायक देगा, कि वह सर्वदा तुम्हारे साथ रहे।
John 14:17 अर्थात सत्य का आत्मा, जिसे संसार ग्रहण नहीं कर सकता, क्योंकि वह न उसे देखता है और न उसे जानता है: तुम उसे जानते हो, क्योंकि वह तुम्हारे साथ रहता है, और वह तुम में होगा।
John 14:18 मैं तुम्हें अनाथ न छोडूंगा, मैं तुम्हारे पास आता हूं।
John 14:19 और थोड़ी देर रह गई है कि फिर संसार मुझे न देखेगा, परन्तु तुम मुझे देखोगे, इसलिये कि मैं जीवित हूं, तुम भी जीवित रहोगे।
John 14:20 उस दिन तुम जानोगे, कि मैं अपने पिता में हूं, और तुम मुझ में, और मैं तुम में।
John 14:21 जिस के पास मेरी आज्ञा है, और वह उन्हें मानता है, वही मुझ से प्रेम रखता है, और जो मुझ से प्रेम रखता है, उस से मेरा पिता प्रेम रखेगा, और मैं उस से प्रेम रखूंगा, और अपने आप को उस पर प्रगट करूंगा।
John 14:22 उस यहूदा ने जो इस्करियोती न था, उस से कहा, हे प्रभु, क्या हुआ की तू अपने आप को हम पर प्रगट किया चाहता है, और संसार पर नहीं।
John 14:23 यीशु ने उसको उत्तर दिया, यदि कोई मुझ से प्रेम रखे, तो वह मेरे वचन को मानेगा, और मेरा पिता उस से प्रेम रखेगा, और हम उसके पास आएंगे, और उसके साथ वास करेंगे।
John 14:24 जो मुझ से प्रेम नहीं रखता, वह मेरे वचन नहीं मानता, और जो वचन तुम सुनते हो, वह मेरा नहीं वरन पिता का है, जिसने मुझे भेजा।
John 14:25 ये बातें मैं ने तुम्हारे साथ रहते हुए तुम से कहीं।
John 14:26 परन्तु सहायक अर्थात पवित्र आत्मा जिसे पिता मेरे नाम से भेजेगा, वह तुम्हें सब बातें सिखाएगा, और जो कुछ मैं ने तुम से कहा है, वह सब तुम्हें स्मरण कराएगा।

एक साल में बाइबल: 
  • भजन 43-45
  • प्रेरितों 27:27-44



Friday, July 26, 2019

सुरक्षा



      मैं ध्यान से पानी की ओर देखती रहती थी, किसी भी खतरे के चिन्ह के लिए सतर्क। तैरने वालों के निकट उनकी जीवन-रक्षक बनकर रहने के मेरे छः घंटे के समय में, स्विमिंग-पूल के किनारे से मैं ध्यान रखती थी कि जो लोग तैर रहे हैं वे सुरक्षित रहें। देखने के स्थल से मेरे हटने या मेरा ध्यान भंग होने के परिणाम, उनके लिए जो पूल में होते थे, गंभीर हो सकते थे। यदि, किसी चोट अथवा कौशल की कमी के कारण, कोई तैरने वाला डूबने के खतरे में होता था तो उसे पानी में से निकालकर सुरक्षित पूल के किनारे लाना मेरी ज़िम्मेदारी होती थी।

      परमेश्वर के वचन बाइबल में हम देखते हैं कि पलिश्तियों के विरुद्ध युद्ध में परमेश्वर की सहायता और सुरक्षा का अनुभव करने के पश्चात (2 शमूएल 21:15-22), दाऊद ने अपने बचाए जाने को गहरे पाने में से खींच कर निकाले जाने के अनुभव के समान बताया (2 शमूएल 22:17)। उस युद्ध में दाऊद और उसके साथियों का जीवन बहुत गंभीर खतरे में था। दाऊद जब खतरे में दूब जाने की कगार पर था, तब परमेश्वर ने उसे खींच कर सुरक्षित बाहर निकाल लिया।

      तैरने के सार्वजनिक स्थानों पर जीवन-रक्षक तैराकों को तैरने वालों की सुरक्षा बनाए रखने के लिए पारिश्रमिक दिया जाता है। परन्तु परमेश्वर ने दाऊद की रक्षा इसलिए की क्योंकि वह दाऊद से प्रसन्न था (पद 20)। मेरा हृदय पुल्लकित हो उठता है जब मुझे यह ध्यान आता है कि परमेश्वर मेरा ध्यान और सुरक्षा इसलिए नहीं रखता है क्योंकि वह ऐसा करने के लिए उसे कोई मेहनताना दे रहा है; वरन इसलिए क्योंकि वह मुझे चाहता है और मेरे लिए ऐसा करना चाहता है।

      जब हम जीवन की परेशानियों से अपने आप को अभिभूतित अनुभव करें, तो हम इस बात में आश्वस्त और शान्त हो सकते हैं कि हमारा रक्षक परमेश्वर हमारे संघर्षों को देखता है और क्योंकि वह हमें चाहता है इसलिए वह हमें अपनी सुरक्षा प्रदान करता है। - कर्स्टन होम्बर्ग


परमेश्वर अपने बच्चों को सुरक्षित रखने से प्रसन्न होता है।

जब तू जल में हो कर जाए, मैं तेरे संग संग रहूंगा और जब तू नदियों में हो कर चले, तब वे तुझे न डुबा सकेंगी; जब तू आग में चले तब तुझे आंच न लगेगी, और उसकी लौ तुझे न जला सकेगी। - यशायाह 43:2

बाइबल पाठ: 2 शमूएल 22:17-20
2 Samuel 22:17 उसने ऊपर से हाथ बढ़ाकर मुझे थाम लिया, और मुझे गहरे जल में से खींचकर बाहर निकाला।
2 Samuel 22:18 उसने मुझे मेरे बलवन्त शत्रु से, और मेरे बैरियों से, जो मुझ से अधिक सामथीं थे, मुझे छुड़ा लिया।
2 Samuel 22:19 उन्होंने मेरी विपत्ति के दिन मेरा साम्हना तो किया; परन्तु यहोवा मेरा आश्रय था।
2 Samuel 22:20 और उसने मुझे निकाल कर चौड़े स्थान में पहुंचाया; उसने मुझ को छुड़ाया, क्योंकि वह मुझ से प्रसन्न था।

एक साल में बाइबल: 
  • भजन 40-42
  • प्रेरितों 27:1-26



Thursday, July 25, 2019

साथ लाए



      जौन एफ. बर्न्स चालीस वर्ष तक ‘द न्यूयॉर्क टाइम्स’ के लिए संवाददाता के रूप में कार्य करते रहे और संसार भर में होने वाली घटनाओं के बारे में लिखते रहे। अपनी सेवानिवृत्ति के पश्चात, 2015 में उन्होंने अपने एक साथी संवाददाता और निकट मित्र, जो अब कैंसर से मर रहा था, के शब्दों को स्मरण किया – “कभी मत भूलना कि महत्वपूर्ण यह नहीं है कि आप अपनी यात्रा में कितनी दूरी तय कर चुके हैं, महत्वपूर्ण वह है जो आप उस यात्रा से साथ लेकर आए हैं।”

      परमेश्वर के वचन बाइबल में भजन 37 को हम दाऊद के चरवाहे से सैनिक और फिर राजा बनने की अपनी जीवन की यात्रा से साथ लाई हुई बातों की सूचि मान सकते हैं। यह भजन एक प्रकार से दोहों की श्रंखला है जिसमें दुष्टों की धर्मियों के साथ तुलना की गई है और परमेश्वर पर भरोसा बनाए रखने वालों की पुष्टि की गई है।

      कुकर्मियों के कारण मत कुढ़, कुटिल काम करने वालों के विषय डाह न कर! क्योंकि वे घास के समान झट कट जाएंगे, और हरी घास के समान मुर्झा जाएंगे।” (पद 1-2)

      मैं लड़कपन से ले कर बुढ़ापे तक देखता आया हूं; परन्तु न तो कभी धर्मी को त्यागा हुआ, और न उसके वंश को टुकड़े मांगते देखा है।” (पद 25)

      जीवन के हमारे अनुभवों द्वारा परमेश्वर ने हमें क्या सिखाया है? क्या हमने उसकी विश्वासयोग्यता तथा प्रेम का अनुभव किया है? परमेश्वर के प्रेम ने हमारे जीवनों को किस प्रकार से संवारा और सुधारा है?

      महत्वपूर्ण यह नहीं है कि हमने जीवन यात्रा में कितनी दूरी तय की है, वरन यह कि उस यात्रा से हम अपने साथ लाए क्या हैं! – डेविड मैक्कैस्लैंड


आयु के बढ़ने के साथ, परमेश्वर की विश्वासयोग्यता और भी बढ़ती जाती है।

क्योंकि यहोवा अपनी प्रजा को न तजेगा, वह अपने निज भाग को न छोड़ेगा; - भजन 94:14

बाइबल पाठ: भजन 37:1-6, 23-27
Psalms 37:1 कुकर्मियों के कारण मत कुढ़, कुटिल काम करने वालों के विषय डाह न कर!
Psalms 37:2 क्योंकि वे घास के समान झट कट जाएंगे, और हरी घास के समान मुर्झा जाएंगे।
Psalms 37:3 यहोवा पर भरोसा रख, और भला कर; देश में बसा रह, और सच्चाई में मन लगाए रह।
Psalms 37:4 यहोवा को अपने सुख का मूल जान, और वह तेरे मनोरथों को पूरा करेगा।
Psalms 37:5 अपने मार्ग की चिन्ता यहोवा पर छोड़; और उस पर भरोसा रख, वही पूरा करेगा।
Psalms 37:6 और वह तेरा धर्म ज्योति के समान, और तेरा न्याय दोपहर के उजियाले के समान प्रगट करेगा।
Psalms 37:23 मनुष्य की गति यहोवा की ओर से दृढ़ होती है, और उसके चलन से वह प्रसन्न रहता है;
Psalms 37:24 चाहे वह गिरे तौभी पड़ा न रह जाएगा, क्योंकि यहोवा उसका हाथ थामे रहता है।
Psalms 37:25 मैं लड़कपन से ले कर बुढ़ापे तक देखता आया हूं; परन्तु न तो कभी धर्मी को त्यागा हुआ, और न उसके वंश को टुकड़े मांगते देखा है।
Psalms 37:26 वह तो दिन भर अनुग्रह कर कर के ऋण देता है, और उसके वंश पर आशीष फलती रहती है।
Psalms 37:27 बुराई को छोड़ भलाई कर; और तू सर्वदा बना रहेगा।

एक साल में बाइबल: 
  • भजन 37-39
  • प्रेरितों 26



Wednesday, July 24, 2019

असमान



      हेनरी नोवेन ने कहा, “समाज वह स्थान है जहाँ वे व्यक्ति रहते हैं जिनके साथ रहना आप सबसे कम पसन्द करते हैं।” बहुधा हम अपने चारों ओर ऐसे लोगों को एकत्रित रखते हैं जिनके साथ रहना हम पसन्द करते हैं। ऐसे छोटे से समूह से क्लब या गुट बनता है, समाज नहीं। क्लब तो कोई भी बना सकता है, परन्तु ‘समाज’ बनाने के लिए कृपालुता, साझा दर्शन होना, और कठिन साथ मिलकर परिश्रम करना आवश्यक है।

      इतिहास में मसीही मण्डली या चर्च वह पहली व्यवस्था थी जहाँ यहूदी और अन्यजाति, स्त्री और पुरुष, दास और स्वतंत्र, एक समान होकर, एक साथ आए। परमेश्वर के वचन बाइबल में प्रेरित पौलुस इस के विषय बहुत प्रफुल्लित होकर बताता है। पौलुस ने कहा कि असमान व्यक्तियों से समाज बनाने के द्वारा, हमारे पास अवसर है कि सँसार का, और अलौकिक सँसार का भी, ध्यान अपनी ओर खींचें (इफिसियों 3:9-10)।

      दुःख की बात है कि कुछ बातों में चर्च इस कार्य में असफल रहा है। फिर भी चर्च वह एक स्थान है जहाँ मैं पीढ़ियों को एक साथ एकत्रित होते हुए देखता हूँ। वहाँ माँ की गोद में खेलते हुए शिशु, अटखेलियाँ करते तथा अनुचित समयों पर विचित्र ध्वनियाँ निकालते हुए हुए बच्चे, ज़िम्मेदार व्यसक जो समयानुसार उचित व्यवहार करना जानते हैं, तथा वे लोग भी होते हैं जो यदि पास्टर का सन्देश कुछ लंबा हो जाए तो ऊंघना भी जानते हैं, सभी होते हैं।

      यदि हमें वास्तव में समाज का अनुभाव लेना है, जो परमेश्वर हमें देना चाहता है, तो हमें अपने से असमान लोगों की मण्डली का भाग होना होगा। - फिलिप यैन्सी


छोटे समाज में रहने वाला व्यक्ति भी विशाल सँसार का भाग है। - जी. के. चेस्टरटन

क्योंकि हम सब ने क्या यहूदी हो, क्या युनानी, क्या दास, क्या स्‍वतंत्र एक ही आत्मा के द्वारा एक देह होने के लिये बपतिस्मा लिया, और हम सब को एक ही आत्मा पिलाया गया। - 1 कुरिन्थियों 12:13

बाइबल पाठ: इफिसियों 2:19-3:11
Ephesians 2:19 इसलिये तुम अब विदेशी और मुसाफिर नहीं रहे, परन्तु पवित्र लोगों के संगी स्‍वदेशी और परमेश्वर के घराने के हो गए।
Ephesians 2:20 और प्रेरितों और भविष्यद्वक्ताओं की नेव पर जिसके कोने का पत्थर मसीह यीशु आप ही है, बनाए गए हो।
Ephesians 2:21 जिस में सारी रचना एक साथ मिलकर प्रभु में एक पवित्र मन्दिर बनती जाती है।
Ephesians 2:22 जिस में तुम भी आत्मा के द्वारा परमेश्वर का निवास स्थान होने के लिये एक साथ बनाए जाते हो।
Ephesians 3:1 इसी कारण मैं पौलुस जो तुम अन्यजातियों के लिये मसीह यीशु का बन्‍धुआ हूं
Ephesians 3:2 यदि तुम ने परमेश्वर के उस अनुग्रह के प्रबन्‍ध का समाचार सुना हो, जो तुम्हारे लिये मुझे दिया गया।
Ephesians 3:3 अर्थात यह, कि वह भेद मुझ पर प्रकाश के द्वारा प्रगट हुआ, जैसा मैं पहिले संक्षेप में लिख चुका हूं।
Ephesians 3:4 जिस से तुम पढ़ कर जान सकते हो, कि मैं मसीह का वह भेद कहां तक समझता हूं।
Ephesians 3:5 जो और और समयों में मनुष्यों की सन्‍तानों को ऐसा नहीं बताया गया था, जैसा कि आत्मा के द्वारा अब उसके पवित्र प्रेरितों और भविष्यद्वक्ताओं पर प्रगट किया गया है।
Ephesians 3:6 अर्थात यह, कि मसीह यीशु में सुसमाचार के द्वारा अन्यजातीय लाग मीरास में साझी, और एक ही देह के और प्रतिज्ञा के भागी हैं।
Ephesians 3:7 और मैं परमेश्वर के अनुग्रह के उस दान के अनुसार, जो उसकी सामर्थ के प्रभाव के अनुसार मुझे दिया गया, उस सुसमाचार का सेवक बना।
Ephesians 3:8 मुझ पर जो सब पवित्र लोगों में से छोटे से भी छोटा हूं, यह अनुग्रह हुआ, कि मैं अन्यजातियों को मसीह के अगम्य धन का सुसमाचार सुनाऊं।
Ephesians 3:9 और सब पर यह बात प्रकाशित करूं, कि उस भेद का प्रबन्‍ध क्या है, जो सब के सृजनहार परमेश्वर में आदि से गुप्‍त था।
Ephesians 3:10 ताकि अब कलीसिया के द्वारा, परमेश्वर का नाना प्रकार का ज्ञान, उन प्रधानों और अधिकारियों पर, जो स्‍वर्गीय स्थानों में हैं प्रगट किया जाए।
Ephesians 3:11 उस सनातन मनसा के अनुसार, जो उसने हमारे प्रभु मसीह यीशु में की थी।

एक साल में बाइबल: 
  • भजन 35-36
  • प्रेरितों 25



Tuesday, July 23, 2019

सेवा


      1950 तथा 1960 के दशकों में हॉलीवुड की संगीत प्रधान फिल्में बहुत लोकप्रिय रही थीं। इनमें विशेषतः तीन अभिनेत्रियों – ऑड्रे हैपबर्न, नेटली वुड, और डेबोराह केर्र के कार्य ने दर्शकों को मोहित किया था। इन अभिनेत्रियों के इस आकर्षण का प्रमुख भाग उनके उत्कृष्ट गायन था जिसने उनके अभिनय को और अधिक आकर्षक बनाया। किन्तु वास्तविकता यह है कि इन फिल्मों की सफलता के लिए बहुत अधिक श्रेय मारनी निक्सन नामक एक महिला को जाता है जिसने इन अभिनेत्रियों के लिए अपनी आवाज़ डब करने के लिए प्रदान की, परन्तु लंबे समय तक उसके इस अति-महत्वपूर्ण योगदान के लिए उसे कोई श्रेय नहीं दिया गया।

      मसीह यीशु की देह, उसकी कलीसिया अर्थात चर्च, में बहुधा ऐसे लोग होते हैं जो पृष्ठभूमी में रहकर विश्वासयोग्यता के साथ उन्हें सहायता देते रहते हैं जो सार्वजनिक रीति से सामने दिखाई देते हैं। परमेश्वर के वचन बाइबल में हम देखते हैं कि प्रेरित पौलुस ऐसे ही व्यक्तियों पर निर्भर था –  तिर्तियुस उसके लिए लिपिक की भूमिका निभाता था (रोमियों 16:22); पृष्ठभूमि में रहकर इपफ्रास की नियमित प्रार्थनाएं पौलुस और प्रारंभिक मसीही मंडलियों के लिए दृढ़ आधार थे (कुलुस्सियों 4:12-13); जब थकित प्रेरित को विश्राम की आवश्यकता थी, तब लुदिया ने उसके लिए अपने घर के दरवाज़े खोले (प्रेरितों 16:15)। इन मसीही सहयोगियों की उदार सहायता के बिना पौलुस का काम संभव नहीं होने पाता (कुलुस्सियों 4:7-18)।

      हमें सदा ही प्रत्यक्ष दिखाई देने वाली भूमिकाएं न भी मिलें, तो भी हम जानते हैं कि परमेश्वर हमसे बहुत प्रसन्न होता है जब हम अपनी भूमिकाओं को उसके आज्ञाकारी होकर निभाते हैं और उसकी योजनाओं को कार्यान्वित होने में सहयोग करते हैं। जब हम अपने आप को प्रभु के कार्य के लिए समर्पित कर देते हैं (1 कुरिन्थियों 15:58), तो उससे परमेश्वर को महिमा मिलती है, लोग प्रभु परमेश्वर की ओर आकर्षित होते हैं (मत्ती 5:16), तथा हमारी सेवा सार्थक और मूल्यवान होती है। - सिंडी हैस कैस्पर


सच्ची सेवा का भेद है कि परमेश्वर जहाँ भी रखे 
वहाँ पूर्ण विश्वासयोग्यता के साथ कार्य करें।

सो हे मेरे प्रिय भाइयो, दृढ़ और अटल रहो, और प्रभु के काम में सर्वदा बढ़ते जाओ, क्योंकि यह जानते हो, कि तुम्हारा परिश्रम प्रभु में व्यर्थ नहीं है। - 1 कुरिन्थियों 15:58

बाइबल पाठ: कुलुस्सियों 4:7-18
Colossians 4:7 प्रिय भाई और विश्वासयोग्य सेवक, तुखिकुस जो प्रभु में मेरा सहकर्मी है, मेरी सब बातें तुम्हें बता देगा।
Colossians 4:8 उसे मैं ने इसलिये तुम्हारे पास भेजा है, कि तुम्हें हमारी दशा मालूम हो जाए और वह तुम्हारे हृदयों को शान्‍ति दे।
Colossians 4:9 और उसके साथ उनेसिमुस को भी भेजा है जो विश्वास योग्य और प्रिय भाई और तुम ही में से है, ये तुम्हें यहां की सारी बातें बता देंगे।
Colossians 4:10 अरिस्‍तर्खुस जो मेरे साथ कैदी है, और मरकुस जो बरनबा का भाई लगता है। (जिस के विषय में तुम ने आज्ञा पाई थी कि यदि वह तुम्हारे पास आए, तो उस से अच्छी तरह व्यवहार करना।)
Colossians 4:11 और यीशु जो यूस्‍तुस कहलाता है, तुम्हें नमस्‍कार कहते हैं। खतना किए हुए लोगों में से केवल ये ही परमेश्वर के राज्य के लिये मेरे सहकर्मी और मेरी शान्‍ति का कारण रहे हैं।
Colossians 4:12 इपफ्रास जो तुम में से है, और मसीह यीशु का दास है, तुम से नमस्‍कार कहता है और सदा तुम्हारे लिये प्रार्थनाओं में प्रयत्न करता है, ताकि तुम सिद्ध हो कर पूर्ण विश्वास के साथ परमेश्वर की इच्छा पर स्थिर रहो।
Colossians 4:13 मैं उसका गवाह हूं, कि वह तुम्हारे लिये और लौदीकिया और हियरापुलिस वालों के लिये बड़ा यत्‍न करता रहता है।
Colossians 4:14 प्रिय वैद्य लूका और देमास का तुम्हें नमस्‍कार।
Colossians 4:15 लौदीकिया के भाइयों को और तुमफास और उन के घर की कलीसिया को नमस्‍कार कहना।
Colossians 4:16 और जब यह पत्र तुम्हारे यहां पढ़ लिया जाए, तो ऐसा करना कि लौदीकिया की कलीसिया में भी पढ़ा जाए, और वह पत्र जो लौदीकिया से आए उसे तुम भी पढ़ना।
Colossians 4:17 फिर अखिर्प्‍पुस से कहना कि जो सेवा प्रभु में तुझे सौंपी गई है, उसे सावधानी के साथ पूरी करना।
Colossians 4:18 मुझ पौलुस का अपने हाथ से लिखा हुआ नमस्‍कार। मेरी जंजीरों को स्मरण रखना; तुम पर अनुग्रह होता रहे। आमीन।

एक साल में बाइबल: 
  • भजन 33-34
  • प्रेरितों 24


Monday, July 22, 2019

भय


      एक किशोरी ने फेसबुक पर अपने मित्रों के लिए एक हृदय-स्पर्शी बात लिखी, “मैं बहुत भयभीत हूँ!” उसने उन्हें बताया कि उसे कुछ चिकित्सा संबंधी जांचों के लिए जाकर अस्पताल में भर्ती होना है, जो उसके घर से तीन घंटे की दूरी पर स्थित है, और उसे वहाँ तब तक रहना पड़ेगा जब तक कि डॉक्टर उसकी गंभीर चिकित्सीय समस्याओं के संबंध में किसी निर्णय पर नहीं पहुँच जाते हैं।

      हम चाहे युवा हों या वृद्ध, जब भी हमारे सामने अनचाही गंभीर समस्याएँ आती हैं, तो हम से कौन है जो उस किशोरी के समान भयभीत नहीं होता है? ऐसे में हम सहायता के लिए किस की ओर मुड़ें? ऐसी परिस्थितियों में पवित्र-शास्त्र हमें कैसी शान्त और साहस प्रदान करता है?

        परमेश्वर के वचन बाइबल में दी गई वास्तविकता कि परमेश्वर हमारी परीक्षाओं में हमारे साथ-साथ चलता रहेगा हमें आश्वस्त करता है और हमारी सहायता करता है। यशायाह 41:13 में लिखा है, “क्योंकि मैं तेरा परमेश्वर यहोवा, तेरा दहिना हाथ पकड़कर कहूंगा, मत डर, मैं तेरी सहायता करूंगा।”

      इसके अतिरिक्त, हम जब परमेश्वर के सामने अपने विनती और निवेदन प्रस्तुत करते हैं, तो हमारी कठिनाइयों के संबंध में परमेश्वर हमें अवर्णनीय तथा हृदयों को सुरक्षित रखने वाली शान्ति प्रदान करता है (फिलिप्पियों 4:6-7)।
      परमेश्वर की हमारे साथ सदा बनी रहने वाली उपस्थिति और शान्ति के द्वारा हमें प्रत्येक परिस्थिति को सहने और उस पर विजयी होने के लिए जिस आशा और सहायता की आवश्यकता होती है, वह हमें मिलती है, हमें हमारे प्रत्येक भय से छुड़ाती है। - डेव ब्रैनन


हमारे सभी संघर्षों में परमेश्वर हमारे साथ रहता है।

इतना हो कि तू हियाव बान्धकर और बहुत दृढ़ हो कर जो व्यवस्था मेरे दास मूसा ने तुझे दी है उन सब के अनुसार करने में चौकसी करना; और उस से न तो दाहिने मुड़ना और न बांए, तब जहां जहां तू जाएगा वहां वहां तेरा काम सफल होगा। - यहोशू 1:7

बाइबल पाठ: फिलिप्पियों 4:4-9
Philippians 4:4 प्रभु में सदा आनन्‍दित रहो; मैं फिर कहता हूं, आनन्‍दित रहो।
Philippians 4:5 तुम्हारी कोमलता सब मनुष्यों पर प्रगट हो: प्रभु निकट है।
Philippians 4:6 किसी भी बात की चिन्‍ता मत करो: परन्तु हर एक बात में तुम्हारे निवेदन, प्रार्थना और बिनती के द्वारा धन्यवाद के साथ परमेश्वर के सम्मुख अपस्थित किए जाएं।
Philippians 4:7 तब परमेश्वर की शान्‍ति, जो समझ से बिलकुल परे है, तुम्हारे हृदय और तुम्हारे विचारों को मसीह यीशु में सुरिक्षत रखेगी।
Philippians 4:8 निदान, हे भाइयों, जो जो बातें सत्य हैं, और जो जो बातें आदरणीय हैं, और जो जो बातें उचित हैं, और जो जो बातें पवित्र हैं, और जो जो बातें सुहावनी हैं, और जो जो बातें मनभावनी हैं, निदान, जो जो सदगुण और प्रशंसा की बातें हैं, उन्‍हीं पर ध्यान लगाया करो।
Philippians 4:9 जो बातें तुम ने मुझ से सीखीं, और ग्रहण की, और सुनी, और मुझ में देखीं, उन्‍हीं का पालन किया करो, तब परमेश्वर जो शान्‍ति का सोता है तुम्हारे साथ रहेगा।

एक साल में बाइबल: 
  • भजन 31-32
  • प्रेरितों 23:16-35


Sunday, July 21, 2019

क्या कह रहे हैं?



      अपनी पुस्तक Wearing God में लेखिका लौरेन विन्नर कहती हैं कि हमारे वस्त्र औरों से मूक रीति से हम क्या हैं कह देते हैं। जो हम पहनते हैं वो हमारी नौकरी, कार्य, समाज या पहचान, हमारे मिज़ाज, या सामजिक स्तर को बता सकता है। किसी टी-शर्ट के बारे में सोचिए जिस पर कुछ लिखा हो, या किसी व्यवसायी के सूट के बारे में, किसी की वर्दी के बारे में, किसी के ग्रीस से सनी जींस पहने हुए होने के बारे में, आदि – ये सभी वस्त्र उन्हें पहनने वाले व्यक्ति के बारे में कुछ कहते हैं।

      परमेश्वर के वचन बाइबल के एक प्रमुख पात्र, प्रेरित पौलुस के अनुसार, इसी प्रकार से हम मूक रीति से मसीह यीशु का प्रतिनिधित्व भी कर सकते हैं। बाइबल में रोमियों 13:14 में लिखा है कि “वरन प्रभु यीशु मसीह को पहिन लो, और शरीर की अभिलाशाओं को पूरा करने का उपाय न करो” इसका क्या अर्थ है? जब हम मसीही विश्वासी बनते हैं तो हम मसीह की पहचान धारण  कर लेते हैं। हम “विश्वास के द्वारा परमेश्वर की सन्तान हैं” (गलातियों 3:26-27); यही हमारा दर्जा है। लेकिन इस दर्जे को दूसरों के समक्ष प्रस्तुत करने के लिए हमें प्रतिदिन मसीह यीशु के चरित्र और व्यवहार को पहनना पड़ता है। हम ऐसा प्रभु यीशु मसीह के लिए जीवन जीने, परमेश्वर की भक्ति, प्रेम तथा आज्ञाकारिता में बढ़ते जाने, हमें पापों में उलझाने और फंसाने वाले पापों की ओर पीठ मोड़ने, तथा प्रभु की समानता में और अधिक ढलने के दैनिक सतत प्रयास के द्वारा करते हैं।

      मसीह में हमारी यह बढ़ोतरी पवित्र आत्मा के द्वारा होती है जो हमारे अन्दर कार्य करता है (यूहन्ना 14:26), हम में प्रभु के वचन के अध्ययन, प्रार्थना, तथा अन्य मसीही विश्वासियों के साथ संगति रखने में समय बिताने की चाह उत्पन्न करता है (प्रेरितों 2:42)।

      जब और लोग हमारी बातों और व्यवहार को देखते हैं, तो उन्हें क्या लगता है कि हम क्या कह रहे हैं?  - एलीसन कीडा


जब और लोग हमें देखें, तो उन्हें जो दिखाई दे उससे हमारे उद्धारकर्ता की बड़ाई हो।

क्योंकि तुम सब उस विश्वास करने के द्वारा जो मसीह यीशु पर है, परमेश्वर की सन्तान हो। और तुम में से जितनों ने मसीह में बपतिस्मा लिया है उन्होंने मसीह को पहिन लिया है। - गलातियों 3:26-27

बाइबल पाठ: रोमियों 13:11-14
Romans 13:11 और समय को पहिचान कर ऐसा ही करो, इसलिये कि अब तुम्हारे लिये नींद से जाग उठने की घड़ी आ पहुंची है, क्योंकि जिस समय हम ने विश्वास किया था, उस समय के विचार से अब हमारा उद्धार निकट है।
Romans 13:12 रात बहुत बीत गई है, और दिन निकलने पर है; इसलिये हम अन्धकार के कामों को तज कर ज्योति के हथियार बान्ध लें।
Romans 13:13 जैसा दिन को सोहता है, वैसा ही हम सीधी चाल चलें; न कि लीला क्रीड़ा, और पियक्कड़पन, न व्यभिचार, और लुचपन में, और न झगड़े और डाह में।
Romans 13:14 वरन प्रभु यीशु मसीह को पहिन लो, और शरीर की अभिलाशाओं को पूरा करने का उपाय न करो।

एक साल में बाइबल: 
  • भजन 29-30
  • प्रेरितों 23:1-15



Saturday, July 20, 2019

समय



      हाल ही में, एक विमान यात्रा के दौरान, मेरा ध्यान एक माँ और उसके बच्चों की ओर गया। उसका एक छोटा बच्चा निश्चिन्त होकर उसके साथ बैठा खेल रहा था, और माँ अपने नवजात शिशु को निहार रही थी, उसे देख कर मुस्कुरा रही थी, उसके बाल सहला रही थी; जबकि वह नवजात शिशु अचरज से आँखें फाड़े हुए अपनी माँ को देख रहा था। मैं उन्हें देखकर आनन्दित हो रही थी और अपने समय को स्मरण कर रही थी जब मेरे भी उस आयु के बच्चे थे; परन्तु अब वह समय बीत चुका था।

      लेकिन साथ ही मैंने परमेश्वर के वचन बाइबल में राजा सुलेमान द्वारा सभोपदेशक की पुस्तक में “प्रत्येक काम जो आकाश के नीचे होता है” (3:1) के बारे में लिखे गए कुछ शब्दों पर ध्यान किया। सुलेमान विपरीतार्थक बातों के द्वारा बताता है कि कैसे “हर बात का एक अवसर” (पद 1) होता है: “जन्म का समय, और मरण का भी समय; बोने का समय; और बोए हुए को उखाड़ने का भी समय है” (पद 2)। संभवतः राजा सुलेमान इन पदों में जीवन का व्यर्थ चक्र प्रतीत होने वाली बातों को लेकर निराश होता है। परन्तु प्रत्येक ऋतु में वह ‘परमेश्वर का हाथ’ के होने को भी स्वीकार करता है। वह यह भी कहता है कि हमारे कार्य “परमेश्वर का दान” हैं (पद 13) और यह कि “जो कुछ परमेश्वर करता है वह सदा स्थिर रहेगा” (पद 14)।

      हो सकता है कि हम अपने जीवनों के कुछ समयों को बड़ी लालसा के साथ स्मरण करें, जैसे मैं उन बच्चों को देखकर अपने बच्चों के बारे में सोचने लग गई थी। परन्तु हम यह भी जानते हैं कि प्रभु परमेश्वर ने हम से यह वायदा किया है कि जीवन की प्रत्येक ऋतु में वह हमारे साथ बना रहेगा (यशायाह 41:10)। हम सदा आश्वस्त रह सकते हैं कि उसकी उपस्थिति हमारे साथ बनी रहती है, और उसके साथ-साथ चलते रहने में ही हमारे सभी उद्देश्यों की पूर्ति होती है। - एमी बाउचर पाई


परमेश्वर ही हमारे जीवन में ऋतुएँ देता है।

मत डर, क्योंकि मैं तेरे संग हूं, इधर उधर मत ताक, क्योंकि मैं तेरा परमेश्वर हूं; मैं तुझे दृढ़ करूंगा और तेरी सहायता करूंगा, अपने धर्ममय दाहिने हाथ से मैं तुझे सम्हाले रहूंगा। - यशायाह 41:10

बाइबल पाठ: सभोपदेशक 3:1-14
Ecclesiastes 3:1 हर एक बात का एक अवसर और प्रत्येक काम का, जो आकाश के नीचे होता है, एक समय है।
Ecclesiastes 3:2 जन्म का समय, और मरण का भी समय; बोने का समय; और बोए हुए को उखाड़ने का भी समय है;
Ecclesiastes 3:3 घात करने का समय, और चंगा करने का भी समय; ढा देने का समय, और बनाने का भी समय है;
Ecclesiastes 3:4 रोने का समय, और हंसने का भी समय; छाती पीटने का समय, और नाचने का भी समय है;
Ecclesiastes 3:5 पत्थर फेंकने का समय, और पत्थर बटोरने का भी समय; गल लगाने का समय, और गल लगाने से रुकने का भी समय है;
Ecclesiastes 3:6 ढूंढ़ने का समय, और खो देने का भी समय; बचा रखने का समय, और फेंक देने का भी समय है;
Ecclesiastes 3:7 फाड़ने का समय, और सीने का भी समय; चुप रहने का समय, और बोलने का भी समय है;
Ecclesiastes 3:8 प्रेम का समय, और बैर करने का भी समय; लड़ाई का समय, और मेल का भी समय है।
Ecclesiastes 3:9 काम करने वाले को अधिक परिश्रम से क्या लाभ होता है?
Ecclesiastes 3:10 मैं ने उस दु:खभरे काम को देखा है जो परमेश्वर ने मनुष्यों के लिये ठहराया है कि वे उस में लगे रहें।
Ecclesiastes 3:11 उसने सब कुछ ऐसा बनाया कि अपने अपने समय पर वे सुन्दर होते है; फिर उसने मनुष्यों के मन में अनादि-अनन्त काल का ज्ञान उत्पन्न किया है, तौभी काम परमेश्वर ने किया है, वह आदि से अन्त तक मनुष्य समझ नहीं सकता।
Ecclesiastes 3:12 मैं ने जान लिया है कि मनुष्यों के लिये आनन्द करने और जीवन भर भलाई करने के सिवाय, और कुछ भी अच्छा नहीं;
Ecclesiastes 3:13 और यह भी परमेश्वर का दान है कि मनुष्य खाए-पीए और अपने सब परिश्रम में सुखी रहे।
Ecclesiastes 3:14 मैं जानता हूं कि जो कुछ परमेश्वर करता है वह सदा स्थिर रहेगा; न तो उस में कुछ बढ़ाया जा सकता है और न कुछ घटाया जा सकता है; परमेश्वर ऐसा इसलिये करता है कि लोग उसका भय मानें।

एक साल में बाइबल: 
  • भजन 26-28
  • प्रेरितों 22



Friday, July 19, 2019

शक्तिशाली



      ब्राजील और आर्जेंटीना की सीमा पर स्थित इगुआज़ू जल प्रपात इगुआज़ू नदी पर 2.7 किलोमीटर की दूरी में 275 जल प्रपातों का समूह है। इस जल प्रपात के ब्राजील के किनारे पर प्रपात की के दीवार पर खोद कर लिखा गया है “महासागर के शब्द से, और समुद्र की महातरंगों से, विराजमान यहोवा अधिक महान है” जिसे परमेश्वर के वचन बाइबल में भजन 93:4 से लिया गया है। इसके नीचे ये शब्द खोद कर लिखे गए हैं, “हमारी सभी परेशानियों पर परमेश्वर सदा प्रबल है।”

      भजन 93 के लेखक ने यह भजन उस समय लिखा था जब राजा राज्य करते थे, और वह जानता था कि सबसे महान, वह जो  अन्य सभी पर राजा है, वह परमेश्वर ही है। उसने लिखा, “यहोवा राजा है... हे यहोवा, तेरी राजगद्दी अनादिकाल से स्थिर है, तू सर्वदा से है” (पद 1-2)। लहरें और बाढ़ चाहे कितनी भी ऊँची क्यों न हो, परमेश्वर उन सबसे ऊँचा है।

      जलप्रपात के पानी गिरने का शोर बहुत भयावह हो सकता है, परन्तु उस गिरते हुए पानी की ओर बहते जाना और भी अधिक भयावह होता है। हो सकता है कि आज आपकी भी ऐसी ही स्थिति हो। शारीरिक, आर्थिक, संबंधों आदि से जुड़ी हुई समस्याएँ आपको बहुत भयावह लग रही होंगी, और आपको लग रहा होगा कि आप बस अब गिरने और नाश होने ही जा रहे हैं। ऐसी परिस्थितियों में मसीही विश्वासी के पास एक ऐसा है जिसकी ओर सहायता के लिए वह मुड़ सकता है। वह है प्रभु परमेश्वर, “जो ऐसा सामर्थी है, कि हमारी बिनती और समझ से कहीं अधिक काम कर सकता है, उस सामर्थ्य के अनुसार जो हम में कार्य करता है” (इफिसियों 3:20); वही सबसे और सब पर शक्तिशाली है। - सी. पी. हिया


अपनी सीमित अपेक्षाओं द्वारा परमेश्वर की असीम सामर्थ्य का आँकलन कभी न करें।

हे इस्राएल तेरा रचने वाला और हे याकूब तेरा सृजनहार यहोवा अब यों कहता है, मत डर, क्योंकि मैं ने तुझे छुड़ा लिया है; मैं ने तुझे नाम ले कर बुलाया है, तू मेरा ही है। - यशायाह 43:1

बाइबल पाठ: भजन 93
Psalms 93:1 यहोवा राजा है; उसने माहात्म्य का पहिरावा पहिना है; यहोवा पहिरावा पहिने हुए, और सामर्थ्य का फेटा बान्धे है। इस कारण जगत स्थिर है, वह नहीं टलने का।
Psalms 93:2 हे यहोवा, तेरी राजगद्दी अनादिकाल से स्थिर है, तू सर्वदा से है।
Psalms 93:3 हे यहोवा, महानदों का कोलाहल हो रहा है, महानदों का बड़ा शब्द हो रहा है, महानद गरजते हैं।
Psalms 93:4 महासागर के शब्द से, और समुद्र की महातरंगों से, विराजमान यहोवा अधिक महान है।
Psalms 93:5 तेरी चितौनियां अति विश्वासयोग्य हैं; हे यहोवा तेरे भवन को युग युग पवित्रता ही शोभा देती है।

एक साल में बाइबल: 
  • भजन 23-25
  • प्रेरितों 21:18-40



Thursday, July 18, 2019

तैयार



      मेरे शहर के एक चर्च में लोगों का स्वागत करने के लिए एक अद्वितीय कार्ड का प्रयोग किया जाता है; ऐसा कार्ड जिससे सब के लिए परमेश्वर का प्रेम और अनुग्रह प्रदर्शित होता है। उस कार्ड पर लिखा है, “यदि आप एक...संत, पापी, पराजित, विजयी” – और इससे आगे अनेकों अन्य शब्द जो संघर्षरत लोगों की स्थिति का वर्णन करते हैं, जैसे कि – “शराबी , पाखंडी, धोखेबाज़, भयभीत, अनुपयुक्त...हैं, तो आपका यहाँ पर स्वागत है।” उस चर्च के एक पास्टर ने मुझे बताया कि, “प्रत्येक इतवार को होने वाली आराधना सभा में, चर्च में उपस्थित हम सभी लोग ऊँची आवाज़ में इसे एक साथ पढ़ते हैं।”

      कितनी ही बार हम उपनामों को स्वीकार कर लेते हैं और उन्हें हमें परिभाषित करने देते हैं। परन्तु परमेश्वर का अनुग्रह उपनामों की कोई परवाह नहीं करता है, क्योंकि उसका अनुग्रह हमारे प्रति उसके प्रेम पर आधारित है, न कि हमारे अपने प्रति आँकलन पर। हम अपने आप को चाहे अद्भुत समझें अथवा भयानक, योग्य समझें अथवा अयोग्य और अनुपयुक्त, हम परमेश्वर से अनन्त जीवन का दान प्राप्त कर सकते हैं। प्रेरित पौलुस ने रोम के मसीही विश्वासियों को स्मरण दिलाया कि, “क्योंकि जब हम निर्बल ही थे, तो मसीह ठीक समय पर भक्तिहीनों के लिये मरा” (रोमियों 5:6)।

      प्रभु की हमसे यह अपेक्षा नहीं है कि हम अपने आप परिवर्तित हो जाएँगे। वरन वह हमें आमंत्रित करता है कि हम जैसे भी हैं, वैसे ही उसके पास आ जाएँ, और हमें उसमें आशा, चंगाई और स्वतंत्रता मिलेगी : “परन्तु परमेश्वर हम पर अपने प्रेम की भलाई इस रीति से प्रगट करता है, कि जब हम पापी ही थे तभी मसीह हमारे लिये मरा” (पद 8)। हम जैसे भी हैं, जो भी हैं, जहाँ भी हैं, हमारी यथास्थिति में प्रभु परमेश्वर हमें स्वीकार करने के लिए तैयार है। - डेविड मैक्कैस्लैंड


परमेश्वर की क्षमा हमारे पराजित अथवा घमण्डी, 
किसी भी उपनाम की उपेक्षा करने को तैयार है।

यहोवा कहता है, आओ, हम आपस में वादविवाद करें: तुम्हारे पाप चाहे लाल रंग के हों, तौभी वे हिम के समान उजले हो जाएंगे; और चाहे अर्गवानी रंग के हों, तौभी वे ऊन के समान श्वेत हो जाएंगे। यदि तुम आज्ञाकारी हो कर मेरी मानो। - यशायाह 1:18-19

बाइबल पाठ: रोमियों 5:1-11
Romans 5:1 सो जब हम विश्वास से धर्मी ठहरे, तो अपने प्रभु यीशु मसीह के द्वारा परमेश्वर के साथ मेल रखें।
Romans 5:2 जिस के द्वारा विश्वास के कारण उस अनुग्रह तक, जिस में हम बने हैं, हमारी पहुंच भी हुई, और परमेश्वर की महिमा की आशा पर घमण्ड करें।
Romans 5:3 केवल यही नहीं, वरन हम क्लेशों में भी घमण्ड करें, यही जानकर कि क्लेश से धीरज।
Romans 5:4 ओर धीरज से खरा निकलना, और खरे निकलने से आशा उत्पन्न होती है।
Romans 5:5 और आशा से लज्ज़ा नहीं होती, क्योंकि पवित्र आत्मा जो हमें दिया गया है उसके द्वारा परमेश्वर का प्रेम हमारे मन में डाला गया है।
Romans 5:6 क्योंकि जब हम निर्बल ही थे, तो मसीह ठीक समय पर भक्तिहीनों के लिये मरा।
Romans 5:7 किसी धर्मी जन के लिये कोई मरे, यह तो र्दुलभ है, परन्तु क्या जाने किसी भले मनुष्य के लिये कोई मरने का भी हियाव करे।
Romans 5:8 परन्तु परमेश्वर हम पर अपने प्रेम की भलाई इस रीति से प्रगट करता है, कि जब हम पापी ही थे तभी मसीह हमारे लिये मरा।
Romans 5:9 सो जब कि हम, अब उसके लोहू के कारण धर्मी ठहरे, तो उसके द्वारा क्रोध से क्यों न बचेंगे?
Romans 5:10 क्योंकि बैरी होने की दशा में तो उसके पुत्र की मृत्यु के द्वारा हमारा मेल परमेश्वर के साथ हुआ फिर मेल हो जाने पर उसके जीवन के कारण हम उद्धार क्यों न पाएंगे?
Romans 5:11 और केवल यही नहीं, परन्तु हम अपने प्रभु यीशु मसीह के द्वारा जिस के द्वारा हमारा मेल हुआ है, परमेश्वर के विषय में घमण्ड भी करते हैं।

एक साल में बाइबल: 
  • भजन 20-22
  • प्रेरितों 21:1-17



Wednesday, July 17, 2019

समान



      बच्चे का अपने माता-पिता की नकल उतारते देखना कितना रोचक लगता है। हमनें कितनी ही बार देखा है कि कोई छोटा बच्चा अपने पिता के समान कार का काल्पनिक स्टीयरिंग पकडे हुए पिता द्वारा की जा रही कार चलाने की क्रियाओं का अनुसरण करता रहता है, अपने पिता पर ध्यान लगे हुए कि वे आगे क्या करते हैं।

      मुझे स्मरण है कि मैं बचपन में यही किया करता था; मेरे लिए अपने पिता के समान क्रियाएँ करने से मिलने वाले आनन्द से बढ़कर और कोई आनन्द नहीं था। और मुझे निश्चय है कि मेरे पिता के लिए भी मुझे उनकी नकल करते देखना बहुत आनन्दायक होता होगा।

      मैं यह सोचना चाहता हूँ कि हमारे स्वर्गीय परमेश्वर पिता को भी ऐसा ही अनुभव होता होगा जब उन्होंने अपने प्रिय पुत्र, प्रभु यीशु मसीह को भी बिल्कुल वही करते देखा होगा जो पिता करता है – भटके हुओं तक पहुँचना, ज़रूरतमंदों की सहायता करना,और बीमारों को चँगा करना। प्रभु यीशु मसीह ने कहा, “...पुत्र आप से कुछ नहीं कर सकता, केवल वह जो पिता को करते देखता है, क्योंकि जिन जिन कामों को वह करता है उन्हें पुत्र भी उसी रीति से करता है” (यूहन्ना 5:19)।

      हम मसीही विश्वासियों को भी ऐसा ही करने के लिए बुलाया गया है – “इसलिये प्रिय, बालकों के समान परमेश्वर के सदृश बनो। और प्रेम में चलो; जैसे मसीह ने भी तुम से प्रेम किया; और हमारे लिये अपने आप को सुखदायक सुगन्‍ध के लिये परमेश्वर के आगे भेंट कर के बलिदान कर दिया” (इफिसियों 5:1-2)। जब हम प्रभु यीशु मसीह की समानता में बढ़ते जाते हैं, हम यह भी प्रयास करें कि परमेश्वर पिता के समान ही प्रेम करें, उसके समान क्षमा करें, उसके समान ही औरों की देखभाल एवँ चिंता करें, और ऐसे जीवन जीएँ जैसा उसे भाता है। पवित्र-आत्मा की सहायता से पिता परमेश्वर के द्वारा की जाने वाली बातों की नकल करना आनन्दित करता है, क्योंकि हम जानते हैं कि इसके लिए स्वर्ग में हमारे लिए महान प्रतिफल रखा हुआ है। - लेजली कोह


परमेश्वर पिता ने हमें अपना पवित्र-आत्मा दिया 
जिससे हम उसके पुत्र की समानता में हो जाएँ।

परन्तु जब हम सब के उघाड़े चेहरे से प्रभु का प्रताप इस प्रकार प्रगट होता है, जिस प्रकार दर्पण में, तो प्रभु के द्वारा जो आत्मा है, हम उसी तेजस्‍वी रूप में अंश अंश कर के बदलते जाते हैं। - 2 कुरिन्थियों 3:18

बाइबल पाठ: यूहन्ना 5:17-20
John 5:17 इस पर यीशु ने उन से कहा, कि मेरा पिता अब तक काम करता है, और मैं भी काम करता हूं।
John 5:18 इस कारण यहूदी और भी अधिक उसके मार डालने का प्रयत्न करने लगे, कि वह न केवल सब्त के दिन की विधि को तोड़ता, परन्तु परमेश्वर को अपना पिता कह कर, अपने आप को परमेश्वर के तुल्य ठहराता था।
John 5:19 इस पर यीशु ने उन से कहा, मैं तुम से सच सच कहता हूं, पुत्र आप से कुछ नहीं कर सकता, केवल वह जो पिता को करते देखता है, क्योंकि जिन जिन कामों को वह करता है उन्हें पुत्र भी उसी रीति से करता है।
John 5:20 क्योंकि पिता पुत्र से प्रीति रखता है और जो जो काम वह आप करता है, वह सब उसे दिखाता है; और वह इन से भी बड़े काम उसे दिखाएगा, ताकि तुम अचम्भा करो।

एक साल में बाइबल: 
  • भजन 18-19
  • प्रेरितों 20:17-38



Tuesday, July 16, 2019

जड़ें



      अमेरिका के सिकोया वृक्ष सँसार के सबसे विशाल और टिकाऊ वृक्षों में से एक है। वह एक वृक्ष 300 फीट ऊँचा,  25 लाख पौंड (11 लाख किलो) वज़नी, और 3000 वर्ष तक जीवित रहने वाला हो सकता है। इस विशाल सिकोया वृक्ष का यह प्रदर्शित आकार और वैभव, सतह के नीचे अदृश्य जड़ों पर आधारित है। उसकी जड़ें बारह से पन्द्रह फुट गहरी और एक एकड़ भूमि में फ़ैली हुई तथा अन्य वृक्षों की जड़ों के साथ उलझकर जाल बनाए हुए होती हैं, जिससे इसका ऊँचे आकार और भारी वज़न को संभला रहता है।

      परन्तु सिकोया वृक्ष की जड़ों का यह विशाल जाल प्रभु यीशु के जीवन को आधार देने वाले इस्राएल के राष्ट्रीय इतिहास, धर्म और परमेश्वर के वचन की बातों की तुलना में बहुत छोटा है। परमेश्वर के वचन बाइबल में एक स्थान पर हम देखते हैं कि प्रभु ने उन धार्मिक अगुवों से जो पवित्रशास्त्र से प्रेम करने का दावा करते थे कहा कि उनका वही पवित्रशास्त्र प्रभु यीशु के विषय बताता है (यूहन्ना 5:39)। नासरत के एक आराधनालय  में प्रभु यीशु ने यशायाह नबी की पुस्तक को लेकर खोला और उसके एक भाग को सबके सामने पढ़कर कहा, “...आज ही यह लेख तुम्हारे साम्हने पूरा हुआ है” (लूका 4:21)।

      बाद में, अपने पुनरुत्थान के पश्चात प्रभु यीशु ने अपने चेलों को समझाया कि कैसे मूसा, भविष्यद्वक्ताओं, और भजन की पुस्तकें, आदि समस्त पवित्रशास्त्र उसके बारे में बताता है और दिखाता है कि क्यों उसके लिए यह अनिवार्य था कि वह दुःख उठाए, मारा जाए, और मृतकों में से जी उठे (24:46)।

      कैसा अद्भुत अनुग्रह और वैभव – प्रभु यीशु राष्ट्र के इतिहास और पवित्रशास्त्र का आधार है और आज हमारे जीवन की जड़ें उस ही में लाए गए विश्वास के द्वारा स्थिर होती हैं। - मार्ट डीहान


समस्त पवित्रशास्त्र हमें दिखाता है कि प्रभु यीशु हमारे जीवनों के लिए आवश्यक हैं।

तब मैं[यीशु] ने कहा, देख, मैं आ गया हूं, (पवित्र शास्त्र में मेरे विषय में लिखा हुआ है) ताकि हे परमेश्वर तेरी इच्छा पूरी करूं। - इब्रानियों 10:7

बाइबल पाठ: लूका 24: 36-49
Luke 24:36 वे ये बातें कह ही रहे ये, कि वह आप ही उन के बीच में आ खड़ा हुआ; और उन से कहा, तुम्हें शान्ति मिले।
Luke 24:37 परन्तु वे घबरा गए, और डर गए, और समझे, कि हम किसी भूत को देखते हैं।
Luke 24:38 उसने उन से कहा; क्यों घबराते हो और तुम्हारे मन में क्यों सन्‍देह उठते हैं?
Luke 24:39 मेरे हाथ और मेरे पांव को देखो, कि मैं वहीं हूं; मुझे छूकर देखो; क्योंकि आत्मा के हड्डी मांस नहीं होता जैसा मुझ में देखते हो।
Luke 24:40 यह कहकर उसने उन्हें अपने हाथ पांव दिखाए।
Luke 24:41 जब आनन्द के मारे उन को प्रतीति न हुई, और आश्चर्य करते थे, तो उसने उन से पूछा; क्या यहां तुम्हारे पास कुछ भोजन है?
Luke 24:42 उन्होंने उसे भूनी मछली का टुकड़ा दिया।
Luke 24:43 उसने ले कर उन के साम्हने खाया।
Luke 24:44 फिर उसने उन से कहा, ये मेरी वे बातें हैं, जो मैं ने तुम्हारे साथ रहते हुए, तुम से कही थीं, कि अवश्य है, कि जितनी बातें मूसा की व्यवस्था और भविष्यद्वक्ताओं और भजनों की पुस्‍तकों में, मेरे विषय में लिखी हैं, सब पूरी हों।
Luke 24:45 तब उसने पवित्र शास्त्र बूझने के लिये उन की समझ खोल दी।
Luke 24:46 और उन से कहा, यों लिखा है; कि मसीह दु:ख उठाएगा, और तीसरे दिन मरे हुओं में से जी उठेगा।
Luke 24:47 और यरूशलेम से ले कर सब जातियों में मन फिराव का और पापों की क्षमा का प्रचार, उसी के नाम से किया जाएगा।
Luke 24:48 तुम इन सब बातें के गवाह हो।
Luke 24:49 और देखो, जिस की प्रतिज्ञा मेरे पिता ने की है, मैं उसको तुम पर उतारूंगा और जब तक स्वर्ग से सामर्थ न पाओ, तब तक तुम इसी नगर में ठहरे रहो।

एक साल में बाइबल: 
  • भजन 16-17
  • प्रेरितों 20:1-16